पहली जॉब के लिए रिज्यूमे कैसे बनाये | Resume CV in Hindi

जॉब के लिए अच्छा रिज्यूम कैसे लिखें? (How to write Good Resume for JOB)?

आजकल हर कोई चाहता है कि उसे एक परफेक्ट जॉब मिले , क्योंकि आजकल जॉब मिलना बहुत ही मुश्किल हो गया है और इसके लिए हर कोई कोशिश करता है कि वह अपना पहला इम्प्रेशन अच्छे से अच्छा रखे।

जिससे उनको एक बेहतर जॉब मिल सकें और आप अपने जीवन में आगे बढ़ सके । जॉब पाने के लिए हमें अपना रिज्यूम देना होता है यदि आपका रिज्यूम बड़ा और बेकार से शब्दों से भरा होता है तो वह अक्सर रिजेक्ट हो जाता है।

यदि आपका रिज्यूम छोटा और डीटेल्स से भरा होता है तो आपका रिज्यूम अच्छा प्रभाव डाल सकता हैं तो आज हम आपको बताएंगे कि आप जॉब के लिए अच्छा रिज्यूम कैसे लिख सकते हैं जिससे आप किसी भी जॉब में फेल नहीं होंगे और अपने रिज्यूम से HR पर एक शानदार इम्प्रेशन छोड़ेंगे…



1. रिज्यूम होता क्या है? (What is Resume)

resume portfolio format black and white

यदि हम बात करें कि रिज्यूम होता क्या है तो यह एमएस वर्ड में लिखा जाता है और इसमें हमें अपनी पूरी डिटेल लिखनी होती है आप जिस कंपनी के लिए काम करना चाहते हैं।

उसे अपना पूरा बायोडाटा देना पड़ता है साथ ही अपना एक्सपीरियंस भी लिखना पड़ता है जिससे आपका रिज्यूम उन पर अच्छा प्रभाव डाल सके और एक अच्छा रिज्यूम आप उनको दे सके।

यदि आपका रिज्यूम अच्छा होता है तो आप को जॉब मिल जाती है और यदि रिज्यूम अच्छा नहीं होता है तो आप जॉब से रह जाते हैं।

2. Resume और CV में क्या अंतर होता है? (Difference)

  • CV और Resume दोनों में ही व्यक्ति का परिचय होता है लेकिन CV में परिचय detail में होता है जबकि Resume में यह काफी संक्षिप्त में होता है।

 

  • CV में फोकस करियर पर रहता है जबकि Resume में ज्यादातर फोकस फोकस प्रोफेशनल स्किल्स पर दिया जाता है।

 

  • CV में व्यक्ति के कई contacts दिए हो सकते हैं  जबकि Resume में अक्सर मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी ही दिया जाता है।

 

  • CV में सारे एक्सपेरिएंसेस शुरू से अब तक के विस्तृत रूप से दिए जाते हैं जबकि रिज्यूमे में अक्सर highest qualification  पे फोकस होता है।

 

  • CV दो से तीन पेज का हो सकता है जबकि Resume अधिकतम दो पेज का होता है।

 

  • एक CV में कांटेक्ट इनफार्मेशन (contact info), शैक्षणिक योग्यता (educational qualification), शैक्षणिक बैकग्राउंड (educational background), कार्य अनुभव (work experience), किये गए प्रोजेक्ट्स (projects), सम्मान, अवार्ड्स, (accolades) प्रेजेंटेशन, रेफरेन्सेस (References) आदि का विस्तृत वर्णन होता है वहीँ रिज्यूमे में कांटेक्ट, शिक्षा, कार्य अनुभव, स्किल्स और तकनिकी ज्ञान (Technical Knowledge) का वर्णन होता है।

 

  • CV प्रायः अकैडमिक और रिसर्च आदि क्षेत्रों के जॉब में दिया जाता है जबकि रेज्युमे किसी भी अन्य जॉब के लिए अप्लाई करते समय दिया जाता है।

 

   ज्यादा जानें- CV Aur Resume Me Kya Antar Hai

 




3. रिज्यूम बनाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए (Resume Tips)

यदि आप एक अच्छा रिज्यूम बनाना चाहते हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे आपका रिज्यूम एकदम परफेक्ट तरीके से तैयार होता है।

1. रिज्यूम लिखने से पहले आप जिस जॉब के लिए अप्लाई करने वाले हैं उस जॉब के डिस्क्रिप्शन को अच्छी तरीके से पढ़ लेना चाहिए और उसकी सही जानकारी ले लेनी चाहिए इसके बाद ही आपको रिज्यूम बनाना चाहिए।

2. हमें अपने रिज्यूम को अलग-अलग जॉब के अनुसार बदलते रहना चाहिए साथ ही जॉब की स्क्रिल का सही पता लगाना चाहिए।

3. हमें रिज्यूम में ज्यादा लंबे पैराग्राफ का उपयोग नहीं करना चाहिए और वही जानकारी डालनी चाहिए जो जॉब के लिए जरूरी हो।

4. रिज्यूम बनाते समय हमें फॉन्ट साइज हो ना ही ज्यादा बढ़ा करना चाहिए और ना ही ज्यादा छोटा और उसे सिंपल तरीके से ही लिखना चाहिए।

5. हमें रिज्यूम को बिना शब्दों की गलती किए लिखना चाहिए और उसमें अपनी वीकनेस नहीं लिखनी चाहिए।

6. हमें रिज्यूम को कभी भी कॉपी पेस्ट नहीं करना चाहिए उसे हमेशा अपनी जॉब के अनुसार ही लिखना चाहिए और करियर ऑब्जेक्टिव को भी ध्यान में रखना चाहिए।

7. रिज्यूम में फालतू बातें और ज्यादा कठिन शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए बल्कि सरल भाषा में ही रिज्यूम लिखना चाहिए।

आजकल जॉब्स में ऑनलाइन रिज्यूमे या CV का काफी trend है जिसमें आप अपना रिज्यूम एक वेबसाइट के रूप में रखते हैं और इससे रिक्रूटर पर काफी अच्छा प्रभाव पड़ता है। अगर आप भी अपना Online Portfolio Website बनाना चाहते हैं तो +916399016748 पर अपनी डिटेल्स व्हाट्सएप करें। मेरा पोर्टफोलियों देखें.. 

4. रिज्यूम को कैसे तैयार करें (How to write Resume)

यदि आप किसी कंपनी में जॉब के लिए अप्लाई करते हैं तो सबसे पहले आपको अपने रिज्यूम पर ध्यान पर देना पड़ता है क्योंकि रिज्यूम के बिना आपको जॉब मिलना मुश्किल हो जाता है।

तो आज हम आपको बताएंगे कि आप रिज्यूम को कैसे तैयार कर सकते हैं वह भी आसान तरीके से , जिससे आपका रिज्यूम परफेक्ट तरीके से तैयार होगा।

1. फॉर्मेट पर ध्यान दें (Good Format)

यदि आप जॉब के लिए रिज्यूम तैयार कर रहे हैं तो आपको फॉर्मेट पर भी ध्यान देना चाहिए इसके लिए आपको हमेशा ब्लैक कलर की इंक का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि यदि आप हल्के कलर या फिर किसी और कलर का इस्तेमाल करते हैं।

तो यह आपके रिज्यूम को ज्यादा अट्रैक्टिव नहीं बनाता है इसीलिए हमें हमेशा ब्लैक कलर के इंक का इस्तेमाल करना चाहिए जिससे आप परफेक्ट तरीके से रिज्यूम लिख सकें I




2. फ्रॉन्ट साइज को एक समान रखें (Right Fonts)

यदि आप चाहते हैं आपका रिज्यूम अट्रैक्टिव हो तो आपको अपना रिज्यूम सिंपल और सादा रखना चाहिए और आपको फ्रॉन्ट साइज को भी एक ही तरह का रखना चाहिए जिससे आपका रिज्यूम अच्छा तैयार होता है।

3. जरूरी है कंटेंन्ट (Quality Content)

रिज्यूम बनाते समय सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि आप अपना नंबर और ईमेल आईडी सबसे ऊपर लिखें इससे एचआर आपको आसानी से संपर्क कर सकता है।

और आपको अपने रिज्यूम में ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जिन्हें एचआर समझ ना सके या फिर उन शब्दों का समझने में कठिनाई हो, आपको हमेशा सरल भाषा में रिज्यूम लिखना चाहिए।

4. रिज्यूम कितना बड़ा होना चाहिए (Resume Length)

cv covered by another black and white cv

यदि हम बात करेंगे कि रिज्यूम कितना बड़ा होना चाहिए तो हमें उसे छोटा और कम शब्दों में ही लिखना चाहिए साथ ही हमें ऐसे भाषा का प्रयोग करना चाहिए जो आसानी से समझ में आ सके।

यदि आप इंटरनशिप या फिर बिजनेसमैन के लिए रिज्यूम लिखते हैं तो एक पेज का लिख सकते हैं और अगर आप प्रोग्रामिंग के संबंधी रिज्यूम लिखते हैं तो आप दो पेज का लिख सकते हैं इसी के साथ आपको उसमें अपने एक्सपीरियंस को भी लिखना चाहिए।

क्योंकि इससे आपको काफी ज्यादा फायदा मिलता है और इससे सामने वाले को भी आपकी क्वालिटी का पता लग जाता है और हमें रिज्यूम को कम से कम शब्दों में उसमें ज्यादा जानकारी देनी चाहिए।

5. राइटिंग पर भी ध्यान दें (Resume Writing and Words)

यदि हम बात करें रिज्यूम में राइटिंग कैसे होनी चाहिए तो हमें रिज्यूम में एकसमान शब्दों का उपयोग करना चाहिए साथ ही हमें रिज्यूम में गलत शब्दों को नहीं लिखना चाहिए यदि आपके रिज्यूम में गलत शब्द लिखे होते हैं।

तो आपका इंप्रेशन खराब हो सकता है और हमें अपने एक्सपीरियंस को बुलेट प्वाइंट्स से लिखना चाहिए और हमें ज्यादा बड़े पैराग्राफ भी नहीं रखना चाहिए।

क्योंकि बड़े पैराग्राफ सामने वाले को बोर कर सकते हैं और आपके रिज्यूम को खराब कर सकते है आपको हमेशा छोटे – छोटे पैराग्राफ में ही रिज्यूम को बनाना चाहिए और राइटिंग सिम्पल रखनी चाहिए।

6. जॉब के मुताबिक रिज्यूम में लिखें (Write as per Job)

हमें रिज्यूम में जॉब के मुताबिक ही लिखना चाहिए यदि आप टेक्नोलॉजी से संबंधित रिज्यूम बनाते हैं तो उसमें प्रोग्रामिंग लैग्वेज के बारे में सबसे ऊपर लिखना चाहिए इसके बाद हमें प्रोजेक्ट के मुताबिक लैंग्वेज को लिखना चाहिए।

आपने जिन – जिन कंपनियों में काम किया हो वह एक्सपीरियंस भी लिखना चाहिए यदि आपने किसी मोबाइल फोन कंपनी में काम किया हो तो उस एक्सपीरियंस को भी जरूर लिखें क्योंकि यह एक्सपीरियंस आपको एक बेहतर जॉब दिलाने में मदद करते हैं।




7 . एजुकेशन के बारें में लिखें (Include Education)

हमें रिज्यूम में सबसे ऊपर एजुकेशन के बारे में भी लिखना चाहिए , आपने कहां से पढ़ाई की है तथा आपके पास कौन – कौन सी डिग्री है यह सब हमको रिज्यूम में सबसे पहले ही लिखना चाहिए।

इससे एचआर को आपकी क्वालिटी का पता लग जाता है और वह उस हिसाब से आपको जॉब अप्लाई करता है यदि आपकी एजुकेशन अच्छी होती है तो वह आपको अच्छी जॉब देता है।

पर आपको अपनी एजुकेशन को जरूर लिखना चाहिए साथ ही अपने रिज्यूम में डिग्रियों के बारे में , क्लास के प्रोजेक्ट , लीडरशिप और अवार्ड को भी लिखना चाहिए यह आपको एक अच्छी जॉब ऑफर करने में मदद करते हैं।

8. प्रोफेशन एक्सपीरियंस जरूर लिखें (Write Professional Experience)

यदि आप प्रोफेशनल है तो आपको उस एक्सपीरियंस को जरूर लिखना चाहिए क्योंकि इससे आपको एक बेहतर जॉब मिल सकती है।

यदि आप ज्यादा एक्सपीरियंस के हैं तो उन्हें पार्ट बाय पार्ट बना कर लिख सकते हैं इससे सामने वाले को आप की क्वालिटी का पता लग जाता है और वह आपको उसी के हिसाब से जॉब ऑफर करता है।

आपको एक्सपीरियंस को अपने एजुकेशन से पहले लिखना चाहिए क्योंकि एक्सपीरियंस हमें जॉब दिलाने में काफी मदद करता है यह एजुकेशन से भी जरूरी होता है।

9. अपनी एक्स्ट्रा एक्टिविटीज लिखें (Extra Activities and Hobbies)

हमें अपने रिज्यूम में अपनी एक्स्ट्रा एक्टिविटीज लिखनी चाहिए इससे सामने वाले को आपके अंदर की क्वालिटी पता लग जाती है और आपके अंदर कौन – सा हुनर है उसे यह भी पता लग जाता है।

और इससे आपको जॉब मिलने मे आसानी हो सकती है हमें अपनी एक्स्ट्रा एक्टिविटीज को एजुकेशन के बाद लिखनी चाहिए।




2 thoughts on “पहली जॉब के लिए रिज्यूमे कैसे बनाये | Resume CV in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

गूगल में नाम और फोटो डालें 7 Desi Indian Search Engines Vlogging क्या है और कैसे शुरू करें? TOP VLOGGERS IN INDIA- BY SUBSCRIBERS 4G vs 5G- कितना फर्क?