फोन-कंप्युटर स्क्रीन से आँखों को कैसे बचाएँ | DIGITAL EYE CARE TIPS IN HINDI

कोई भी चीज के दो पहलू हो सकते हैं…
 
 
पहला, सकारात्मक और दूसरा नकारात्मक। मोबाइल, कंप्युटर और टैबलेट जैसे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस भी कुछ अलग नहीं है।
 
 
इनका सकारात्मक पहलू तो हम सब जानते ही हैं कि इन सबने हमारी जिंदग़ी को काफी आसान बना दिया है। लेकिन कुछ नकारात्मक चीजें भी हैं जो आगे बढ़ती टेक्नॉलजी के साथ जुड़ी हुई हैं।
 
 
अभी कुछ महीने पहले मैं व्यक्तिगत तौर पर Computer Vision Syndrome से जूझ चुका हूँ। इसमें आंखे ज्यादा टाइम तक स्क्रीन पर बैठे रहने के वजह से dry हो जाती हैं जिससे आंखे लाइट के पड़ते ही सूखने लगती हैं। इसलिए जरूरी है कि हम अपनी आँखों की proper care करें खासतौर पर तब जब आपका ज्यादातर समय कंप्युटर या मोबाईल पर बीतता है। 
 
 
eye having eyelashes

 

 
आँखों से जुड़ी समस्याएं बढ़ती टेक्नॉलजी के साथ आम हो रही हैं। और वो कहते हैं ना कि “आँख है तो जहान है” इसलिए आँखों की केयर करना इस आधुनिक युग में बहुत जरूरी है। आज के इस लेख में हम इसी बारे में बात करने वाले हैं…
Edit- Lately, one of my friends was facing eye issues due to heavy screen times. I suggested him tips from this article, and he told it was a big relief within 2 minutes.

वही पढ़ें जो आप पढ़ना चाहते हैं..

आँखों को कंप्युटर या मोबाईल स्क्रीन से बचाने के उपाय | PROTECT EYES FROM COMPUTER AND SMARTPHONE SCREEN 

UPDATE– यह आर्टिकल एक साल पहले लिखा था जब मेरी आँख में कंप्युटर  की वजह से बहुत ज्यादा दिक्कत हो रही थी। यह दिक्कत करीब 1 साल चली। हाल ही मे मैंने एक बात नोटिस की कि अगर हम दिन में पर्याप्त पानी पियें तो हमारी आँखों के स्क्रीन की वजह से dry होने की संभावना काफी कम हो जाती है क्योंकि आंखे hydrated रहती हैं..  और इस छोटी सी आदत से मेरी आँखों की समस्या दूर हो गई।

1). फोन या कंप्युटर को उचित दूरी पर रखें (Keep Device On Enough Distance):

कई लोग, खासकर बच्चे, फोन को आँखो के बहुत पास पकड़ते हैं, ऐसा करना आँखों की सेहत के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है। 
हमें फोन को कम से कम 25 CM दूर हाथ पर पकड़ना चाहिए और कंप्युटर को करीब अपने एक हाथ के जितनी दूरी पर।
इसके अलावा जितना हो सके लैपटॉप को गोद में रखकर use करने से बचें। यह आपके आंतरिक संवेदनशील अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है। 

2).  स्क्रीन और आसपास की लाइट अजस्ट करें (Adjust Brightness and Lighting):

कई बार होता है कि हम बहुत ज्यादा रोशनी में या फिर बहुत कम रोशनी में फोन-लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं ऐसा करना आँखों को नुकसान पहुंचता है।
अंधेरे कमरे में स्क्रीन का उपयोग ना करें और धूप में बैठकर भी। साथ ही साथ स्क्रीन की ब्राइटनेस को भी बहुत ज्यादा या बहुत कम ना रखें। धूप में brightness बढ़ाएँ और अंधेरे में कम रखें। 
साथ ही साथ डिवाइस में टेक्स्ट का font size भी बड़ा रखें और contrast को भी अपने हिसाब से अजस्ट करें।

3). ब्लू लाइट फ़िल्टर या डार्क मोड का इस्तेमाल करें (Use Dark Mode):

आजकल ऐसे कई सॉफ्टवेयर मौजूद हैं जो आपकी स्क्रीन की रोशनी को अजस्ट करने में मदद करते हैं। इनमें सबसे पॉपुलर है- Blue Light Filter जिससे स्क्रीन से आने वाली हानिकारक ब्लू रेज़ से रक्षा होती है। Windows में यह सॉफ्टवेयर Night Light और एंड्रॉयड में Reading Mode के नाम से प्रचलित है।
इसके अलावा आप अपने डिवाइस और ऐप्स को Dark Mode मे भी चलाकर अपनी आँखों को सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।

4). आँखों को बार-बार झपकाते रखें (Blink Your Eyes More Often)

ज्यादातर लोग स्क्रीन पर इतने ज्यादा ध्यान से देखते हैं कि वे अपनी आंखे झपकाना ही भूल जाते हैं। मैं भी उन्ही लोगों में से एक हूँ। ऐसा करना हानिकारक हो सकता है।
इसलिए स्क्रीन पर लगातार आंखे गड़ाए ना रहें और अपनी आँखों को blink करते रहें। साथ ही थोड़ा उन्हें यहाँ-वहाँ भी घुमाएँ। विशेशतौर पर तब जब आप स्क्रीन पर कुछ पढ़ रहे हों या फिर अंधेरे में इसका उपयोग कर रहे हों।
NOTE: अगर आपकी आंखे काफी सेन्सिटिव हैं तो आप चाहें तो 1-2 घंटे के काम के बाद थोड़ी-देर के लिए झपकी भी ले सकते हैं। यह आपको काफी राहत देगा।

5). 20:20:20 नियम का पालन करें (Follow 20:20:20 Rule)

जब भी स्क्रीन का उपयोग करें, खासकर कंप्युटर का। तो 20:20:20 के नियम का पालन जरूरी करें जो कहता है- “स्क्रीन का उपयोग करते समय, हर 20 मीनट में, 20 सेकंड के लिए, 20 मीटर दूर देखें। 
स्क्रीन हमारे आँखों के नजदीक होती हैं जिसे घूरते-घूरते हमारी आंखे थक जाती है इस नियम से eye fatigue से काफी राहत मिलेगी।

6). आँखों को पानी के छींटें मारें (Splash Your Eyes Frequently):

अगर आपकी आँखें काफी ज्यादा सेन्सिटिव हैं तो अच्छा रहेगा अगर आप 1-2 घंटे में अपनी आँखों को पानी से splash करेंगे।
इससे आँखें सूखेंगी नहीं और आप स्क्रीन के सामने काफी देर तक काम कर पाएंगे और आपकी आँखो को राहत मिलेगी। आप चाहें तो ice cubes भी अपनी आँखों पर लगा सकते हैं।

7). शारीरिक व्यायाम करें (Do Physical Exercise)

एक स्थान पर बैठे-बैठे हमारी कमर, कंधे, कलाइयाँ, गर्दन, पैर और भी पता नहीं क्या-क्या जकड़ जाता है। ऐसा होने पर हमें थोड़ी-देर के लिए अपने स्थान से उठकर थोड़ी-देर के लिए फिज़िकल एक्सर्साइज़ करनी चाहिए। ऐसा हर 1-डेढ़ घंटे में करेंगे तो अच्छा रहेगा। इसके अलावा भ्रामरी, अनुलोम विलोम जैसे योग करने से भी आपके मस्तिष्क को आराम मिलेगा और आप ज्यादा बेहतर तरीके से काम कर पाएंगे और आपकी productivity में इजाफा हॉएगा।

8). नेत्र व्यायाम करें (Do Eye Exercises):

अगर आप दिन भर स्क्रीन पर काम करते हैं तो आपको बीच-बीच में अपनी आँखों को एक्सर्साइज़ करवानी चाहिए जिससे कि उन्हें थक ना लगे।
* अपनी आँखों को यहाँ-वहाँ, दायें-बाएँ, ऊपर-नीचे घुमाइए।
* अपनी palms को आपस में रगड़ें और उन्हें धीरे से अपनी आँखों के ऊपर रखें। इससे आपकी आँखों को आराम मिलेगा।
* कमरे से बाहर निकलें और दूर के नज़ारों को देखें इससे आपका eye fatigue दूर होगा।

9). स्क्रीन पर कम देखें कम करें (See Less Often On Screen)

अगर आप टायपिंग कर रहें हैं तो बिना स्क्रीन पर देखें टाइपिंग करें। शुरुआत में यह थोड़ा-सा कठिन हो सकता है मगर धीरे-धीरे आदत हो जाती है।
इसके अलावा computer shortcut keys का जितना हो सके प्रयोग करें यह आपके काम को फास्ट बनाता है।
वायरलेस कीबोर्ड और माउस का प्रयोग करें क्योंकि यह आपकी आँखों को स्क्रीन से दूर रखने की आजादी देता है।

10. ब्लू रे ग्लासेस या स्क्रीन लैअर का उपयोग करें (Use Blue Light Glasses or Screen Layer):

आजकल मार्केट में कई तरह के ग्लाससेस मौजूद हैं जो कंप्युटर की हानिकारक किरणों से आपकी आँखों की रक्षा करते हैं। इनमें से computer glasses और blue light cut ग्लाससेस काफी प्रचलित हैं। इन्हें जरूरी खरीदिए अगर आप दिन भर काफी देर स्क्रीन पर काम करते हैं।
इसके आलवा आप चाहें तो अपने कंप्युटर या फिर मोबाइल स्क्रीन पर blue light screen layer filter भी लगा सकते हैं इससे आपको ग्लाससेस पहनने की जरूरत नहीं रहती।

11). प्रकृति के स्पर्श में रहें (Be Close To Nature)

प्रकृति के करीब रहने से कई परेशानियाँ तो हमारी युही गायब हो जाती है। सुबह या शाम को थोड़ी देर टहलने जाएँ। घास पर चलें। vitamin, Proteins से युक्त खाना खाएँ।  

12). ड्राई आईड्रॉपस का उपयोग करें (Use Dry EyeDrops):

कई बार होता है कि स्क्रीन पर ज्यादा देर-काम करने से हमारी आंखे सूख जाती हैं जिससे हमारी आँखों से आँसू नहीं बहते। ऐसी कन्डिशन में लाइट की तरफ देखने में काफी irritation होती है।
ऐसी स्थिति में आप डॉक्टर की सलाह पर dry eyedrops ले सकते हैं। पतंजलि की दृष्टि या फिर किसी भी साधारण eyedrop का उपयोग स्थिति में ना करें। व्यक्तिगत आधार पर कह रहा हूँ।

13). अपनी आँखें चेक कराएँ (Get Your Eyes Checked):

कंप्युटर पर लगातार काम करने वाले लोगों को अपनी आँखें करीब हर साल चेक करानी चाहिए। इससे आँखों में होने वाली दिक्कतों को जल्दी से पकड़ा जा सकता है जिससे उनका उचित समाधान किया जा सकता है।

14). सही डाइट लें (Healthy Diet)

ओमेगा-3 फैटी ऐसिड और Vitamin A और C से युक्त डाइट लें। ये हमारी आँखों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

ओमेगा-3 फूड्स- Fish, Flax Seeds (Alsi ke beej), beans

विटामिन A फूड्स- गाजर, दूध, हरी सब्जियां, शकरकंद

विटामिन C फूड्स- खट्टे फल, संतरे, टमाटर

 

 

15). पर्याप्त पानी पियें (Hydrate Yourself)

स्क्रीन पर काम करते वक्त अक्सर हम पानी पीना भूल जाते हैं जो कि हमारी आँखों को dry कर देता है जिससे आंखे लाल हो जाती हैं और आँखों से आँसू निकलने लगते हैं। इसलिए जब भी सिस्टम पर काम करने बैठे, पानी की बोतल या कुछ पे पदार्थ साथ में जरूर लें। व्यक्तिगत तौर पर मेरी आँखों की समस्या का में कारण कम पानी ही था जो पर्याप्त पानी के सेवन से कुछ ही महीनों में दूर हो गई।

 

______________________________________

अन्य छोटे-छोटे उपाय (Eye Care Tips):

* घास पर चलें। प्रकृति के टच में रहें। 
* मिश्री, सौंफ और बादाम का चूर्ण आँखों की रोशनी बढ़ाने वाला माना जाता है। 
* आवला और गाजर खाएँ।


* ऑनलाइन पढ़ाई में बच्चों की आँखों का ध्यान कैसे रखें (Take care of childrens eye during online study):

आजकल बच्चे ऑनलाइन ज्यादा पढ़ते हैं जो कि बहुत अच्छी बात है मगर इससे आँखों को नुकसान पहुँच सकता है। इसलिए उनकी नाजुक आँखों का ख्याल रखने के लिए ऊपर दिए टिप्स जरूर फॉलो करें और उन्हें जितना हो सके 

* कंप्युटर विज़न सिन्ड्रोम (CVS) क्या है? (What is Computer Vision Syndrome):

स्क्रीन के सामने घंटों बैठे रहने की वजह से शरीर में, विशेषकर आँखों में कई-तरह की प्रॉब्लेम्स हो जाती हैं जिन्हें हम collectively कंप्युटर विज़न सिन्ड्रोम कहते हैं। इसके लक्षण कुछ इस प्रकार हैं-
* Dry Eyes
* कंधे में दर्द और जकड़न
* सिर के पिछले भाग में दर्द
* सिर का सुन्न हो जाना 
* कमर का जकड़ जाना। 

ℹ️  AUTHORS’ ANGLE: 

आँखें प्रकृति का अनमोल उपहार हैं। जीवन को जीवन बनाती हैं। इसलिए इनकी रक्षा जरूर करें।

 
 

तो दोस्तों यही था “आँखों के टिप्स/Digital Eye Strain In Hindi” पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। 

📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?


Navin Rangar

Sometimes I code; sometimes i write about it.

2 thoughts on “फोन-कंप्युटर स्क्रीन से आँखों को कैसे बचाएँ | DIGITAL EYE CARE TIPS IN HINDI

Leave a Reply

Your email address will not be published.

7 Desi Indian Search Engines TOP VLOGGERS IN INDIA- BY SUBSCRIBERS 4G vs 5G- कितना फर्क?