एडसेंस CTR क्या है, कैसे बढ़ाएँ? | INCREASE ADSENSE IN HINDI

ज्यादातर ब्लॉगर्स BLOG MONETIZATION के लिए गूगल ADSENSE का इस्तेमाल करते हैं, जिससे अच्छी आय उत्पादित करने के लिए CTR अच्छा होना बेहद जरूरी है।

 

क्या होता है CTR और कैसे इसे आप अपने ब्लॉग के लिए इसे बढ़ा सकते हैं, जानते हैं इस लेख में-

 

1. सीटीआर क्या होता है? (What is CTR)

सीटीआर का पूरा नाम है- CLICK THROUGH RATE.. जिसका मतलब है कि अगर सौ लोग आपकी वेबसाइट पर किसी AD को देखते हैं तो उसमें से जितने लोग उस AD पर क्लिक करते हैं वह उसका CTR हो जाता है।

 

CTR एक तरह का रेट है इसलिए इसे प्रतिशत में काउन्ट किया जाता है।

अगर आपकी वेबसाइट पर दिन-भर में 500 ads देखें जाते हैं (impressions) और 10 बार ads क्लिक होते हैं तो आपका उस दिन का CTR (10/500 * 100) यानि 2% होगा।

 

सामान्य तौर पर कह सकते हैं कि आपके ब्लॉग का CTR जितना ज्यादा होता है उतना ही ज्यादा अड़सेंस से आपकी आय होगी। हालांकि इसमें भी कुछ twists हैं जिन्हें हम बाद में discuss करेंगे।

 

व्यक्तिगत तौर पर मेरा इस ब्लॉग का CTR 1.5% से 2.5% के बीच रहता है, जो खुद में बहुत ज्यादा नहीं है। आमतौर पर अधिकतर ब्लॉगर्स का CTR भी इसी के आसपास देखा गया है।

 

google adsense ctr example

 

कुछ ब्लॉगर्स (अधिकतर ऐसे जिन्हें ब्लॉगिंग में एक साल से कम हुआ है) को अक्सर CTR कम होने की शिकायत रहती है और CTR एक प्रतिशत से भी गिर जाता है। शुरुआत में इस ब्लॉग के साथ भी ऐसा हो चुका है और लगभग हर किसी के साथ ऐसा होता देखा गया है।

 

इससे पहले कि हम जानें कि CTR को कैसे improve करें यह जरूरी है कि आप अपने ब्लॉग में निम्न व्यवस्थाएँ कर लें-

 

  • RESPONSIVE DESIGN- आपकी साइट मोबाईल, टैबलेट और कंप्यूटर में अलग-अलग तरह से खुले यह theme के द्वारा make sure करें।

 

  • ENOUGH HIGH-QUALITY CONTENT- आपके ads तभी क्लिक होंगे जब WEBSITE पर पर्याप्त कंटेन्ट होगा और शानदार कंटेन्ट होगा।

 

अब आप तैयार हैं अपना CTR IMPROVE करने के लिए..



2. एडसेंस सीटीआर बढ़ाने के तरीके ( ADSENSE CTR INCREASING TIPS)

ये तरीके आपका अड़सेंस CTR बढ़ाने में मदद करेंगे…

GOOD AD PLACEMENT-

ब्लॉग में कई सारी जगहों में ad place किये जा सकते हैं। आप सबसे टॉप यानि header में ads लगा सकते हैं आप कंटेन्ट के बीच में लगा सकते हैं और आप footer में लगा सकते हैं।

CTR बढ़ाने के लिए सबसे बेस्ट प्लेस है- HEADER के नीचे और कंटेन्ट शुरू होने से पहले। क्योंकि जब भी आपकी वेबसाइट load होती है तो यह user को सबसे पहले दिखता है और क्लिक होने के भी high chances रहते हैं।

इसके अलावा कंटेन्ट के बीच में भी ads लगाना काफी फायदेमंद रहता है। साइडबार में भी ads लगाना चाहिए। हालांकि footer में ads लगाने का कोई खास फायदा नहीं है।

TIP- इमेज के पास में AD ना लगाए। यह यूजर इक्स्पीरीअन्स को बेहतर बनाने में सहयोग नहीं करता।

 

PLACE ENOUGH NUMBER OF ADS-

कुछ लोग बहुत कम ADS लगाते हैं जिससे उनका CTR नहीं बढ़ता। एक 1000 WORDS की पोस्ट पर कम से कम 3-4 ads जरूर होने चाहिए।

वहीं कुछ लोग होते हैं जो बहुत ज्यादा ADS लगा देते हैं और सोचते हैं कि इससे उनकी earning बढ़ जाएगी। जबकि ऐसा नहीं है। अगर आपके click organic तरीके से नहीं आ रहे हैं  तो अड़सेंस आपकी CPC down कर देता है और ज्यादा clicks के बावजूद भी आपकी income नहीं बढ़ती।

इसके अलावा बहुत ज्यादा clicks (15% से ज्यादा) होने पर adsense आपको हमेशा-हमेशा के लिए ban कर सकता है, इसलिए invalid तरीकों के प्रयोग से बचें।

 

PICK BEST AD TYPE-

एडसेंस, पब्लिशर को 5 तरह के ADS लगाने की आजादी देता है। जो हैं-

google adsense ad formats

 

DISPLAY ADS- बैनर्स, SQUARE TEXT IMAGES और animations इसके उदाहरण हैं।

adsense display ad example on a website
Display ad example

 

IN-FEED ADS- ये ADS पोस्ट के बीच में दिखाई देते हैं।google adsense in-feed ad example

 

IN-ARTICLE ADS- ये ads आर्टिकल के बीच में इस्तेमाल होते हैं।

 

MULTIPLEX ADS- एक ग्रिड में बहुत सारे ads होते हैं तो उन्हें multiplex ads कहते हैं। google adsense multiplex ad example

 

VIGNETTE ADS- ऐसे ads जो पूरी स्क्रीन को ढक देते हैं।

अच्छे CTR के लिए आपको इस सबका इस्तेमाल मिलाकर के अपने ब्लॉग में करना चाहिए। हालांकि DISPLAY ADS और vignette ads को सबसे ज्यादा CPC देने वाले ads माना जाता है तो इनका इस्तेमाल अधिक करें।




DECREASE YOUR BOUNCE RATE

बॉउन्स रेट यानि अगर 100 लोग आपकी वेबसाइट पर आते हैं और उनमें से 80 सिर्फ एक पेज पढ़कर वापिस चले जाते हैं दूसरे पेज पर नहीं जाते, तो आपका बाउन्स रेट 80% माना जाएगा। कम बॉउन्स रेट अच्छा रहता है।

जितना ज्यादा टाइम आपकी वेबसाइट पर लोग बिताएंगे, आपका CTR बढ़ने का chances उतना ही अधिक होगा। इसलिए बाउन्स रेट कम करना, अड़सेंस से ज्यादा आय प्राप्त करने के लिए बेहद जरूरी है।

 

READ– बाउंस रेट क्या है? इसे कैसे कम करें? | Bounce Rate in Hindi

 

BLOCK IRREVALENT ADS

अगर आपको अपनी वेबसाइट पर ऐसे ads दिखते हैं जो आपको लगता है आपकी वेबसाइट के कंटेन्ट से related नहीं हैं और उनपे यूजर क्लिक करे, इसका chance काफी कम है, तो उन ads को ब्लॉक करना सही रहेगा। हालांकि ऐसा तभी करें जब आप एक beginner ना हों, क्योंकि शुरुआत में अधिकतर ads ऐसे ही आते हैं।

irrevalent ads को ब्लॉक करने के लिए आप BLOCKING CONTROL ऑप्शन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

 

Adsense CTR Improvement Tool-

EZOIC नाम के एक टूल की मदद से आप अपनी वेबसाइट को एडसेंस के लिए optimize कर सकते हैं। यह Artificial Intelligence की मदद से आपकी वेबसाइट को adsense के high ctr के लिए optimize करता है।




ये चीजें बिल्कुल ना करें (Don’ts)-

  • अपने ब्लॉग में लोगों से ads पर click करने के लिए बिल्कुल ना कहें और ना ही खुद करें। इससे आपका अकाउंट हमेशा के लिए बंद हो सकता है।
  • image और ads पास-पास ना लगाएँ।
  • बहुत ज्यादा topics पर ना लिखें। कुछ चुनिंदा टॉपिक्स को ब्लॉग में शामिल करें।

 

उम्मीद है CTR बढ़ाने पर यह लेख उपयोगी रहा होगा.. सुझाव कमेन्ट के द्वारा आमंत्रित हैं.

 

 

 

 

Navin Rangar

I write here.

Leave a Reply

Your email address will not be published.