Top Ad

इमेज SEO क्या है; कैसे करें? | Blog Image SEO in Hindi (2020)

कहते हैं- "एक तस्वीर हजारों शब्द बयां करती है."


ब्लॉग की तस्वीरों पर भी यह बात पूरी तरह से लागू होती है। ब्लॉगिंग में हम चीजों को आसान बनाने के लिए तस्वीरों का प्रयोग करते हैं जिससे रीडर बातों को आसानी से समझ पाए।


Photos spreaded on a desk
Pic- Pexels


रीडर इंसान होता है इसलिए वह तस्वीरों का मतलब समझता है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि गूगल कैसे पता लगाता है कि कोई तस्वीर किस बारे में है? गूगल कैसे पता लगाता है कि कौन-सी तस्वीर सर्चर के लिए बेहतर है जबकि कौन-सी नहीं? उसे कैसे पता चलता है कि कौन-सी picture को कौन-से नंबर पे रैंक करना है?


अगर हमें इन सवालों का जवाब मिल जाए तो हम आसानी से अपने ब्लॉग की पिक्चर्स को गूगल सर्च में अच्छी पोजीशन पर रैंक कर सकते हैं और वहाँ से अच्छा-खासा ट्राफिक प्राप्त कर सकते हैं।


तो चलिए जानते हैं कि ब्लॉग की फ़ोटोज़ को गूगल में कैसे रैंक किया जा जाता है-




ब्लॉग के इमेज एसईओ के बारे में पूरी जानकारी/ What is Image SEO in Blogging (Hindi)









1). इमेज एसईओ क्या होता है? (What is Image SEO):


हमारे ब्लॉग में टेक्स्ट के अलावा बहुत सारी फ़ोटोज़ भी होती हैं।


जब हम गूगल सर्च करते हैं तो उसमें ब्लॉग पोस्ट के अलावा pictures भी शो होती हैं जिनसे बहुत सारा traffic हमारे ब्लॉग पर आता है।


ब्लॉग की फ़ोटोज़ को इस तरह आप्टिमाइज़ कि वे गूगल सर्च में सबसे पहले दिखें, Image SEO कहलाता है। 


इमेज एसईओ के अंतर्गत File Name, Alt Tag और Image Size जैसी चीजें आती हैं।



2). इमेज एसईओ क्यों जरूरी है और क्यों करना चाहिए? (Why is Image SEO so important):


गूगल हमारी साइट को टॉप पे दिखाएगा अगर हम अपने फायदे से ज्यादा लोगों के फायदे के बारे में सोचेंगे।


सीधे शब्दों में कहें तो अगर हम लोगों को अच्छी तरह से जानकारी देते हैं तो इस बात के काफी chances होते हैं कि गूगल अपने सर्च में हमें वरीयता दे। 


जब हम अपने ब्लॉग में photos शामील करते हैं तो एक तरह से हम लोगों की मदद कर रहे होते हैं क्योंकि इससे उनको चीजों को समझने में आसानी होती है।


इसलिए ब्लॉग में पिक्चर्स include करना भी एक तरह की SEO Activity ही है।


लेकिन बस फ़ोटोज़ अपलोड करने से ही हमें अच्छी ऑर्गैनिक रैंकिंग्स नहीं मिलती हैं बल्कि हमें इन फ़ोटोज़ का भी SEO करना पड़ता है जिसे हम "इमेज एसईओ" कहते हैं।


गूगल टेक्स्ट को पढ़ सकता है जिसके द्वारा वह पता लगा सकता है कि कौन-सा टेक्स्ट कंटेन्ट अच्छा है और उसके आधार पर वह उसे रैंक कर सकता है। लेकिन इमेज के केस में ऐसा नहीं होता।


गूगल तस्वीरों को देख नहीं सकता है क्योंकि अभी तक उसके पास कोई ऐसी तकनीक मौजूद नहीं है जिसके दम पर वह पता लगा सके कि कौन-सी तस्वीर ज्यादा बेहतर है और कौन-सी कम। 


तो अब सवाल यह उठता है कि वह अपने सर्च में तस्वीरों को आखिर रैंक कैसे करता है?


इसके लिए गूगल Image का नाम, Alt tag (जो ब्लॉगर उसमें डालता है) और वेबसाइट अथॉरिटी को चेक करता है जिसके आधार पर वह उन्हें अपने सर्च में रैंक करता है।


इमेज एसईओ दूसरे SEOs की तुलना में बहुत ज्यादा आसान है और इससे आपको कई सारे फायदे भी होते हैं-



* इमेज एसईओ के फायदे (Benefits of Image SEO)-



  • इमेज SEO के द्वारा हम सर्च में अपने ब्लॉग की visibility बढ़ा सकते हैं।

Image Organic Clicks, Impressions, CTR and Avg Position being shown on Google Search Console aka Google Webmasters Tool




  • इमेज SEO के द्वारा हम गूगल इमेजेस सर्च में अच्छी पोसिशन पर रैंक कर सकते हैं और बहुत सारे clicks प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि इनका CTR काफी कम होता है।



  • गूगल इमेज सर्च में रैंक करके हम गूगल सर्च कॉनसोल की मदद से बहुत सारे less competitive और high search volume वाले कीवर्डस आसानी से ढूंढ सकते हैं। जिनपे पोस्ट लिखके हम आसानी से रैंक कर सकते हैं।




3). एसईओ इमेजेस कहाँ से लाएँ/ढूंढें? (Find Right SEO-friendly images for your blog):

इंटरनेट पर करोड़ों तस्वीरें मौजूद हैं पर क्या हम उनमें से randomly किसी भी तस्वीर को उठाकर अपने ब्लॉग पर लगा सकते हैं?


बिल्कुल नहीं! क्योंकि इससे गूगल की नज़रों में हमारे ब्लॉग की साख खराब हो सकती है।


तो फिर ब्लॉग के लिए सही इमेजेस कैसे ढूंढें?


इंटरनेट पर ऐसी बहुत सारी वेबसाइटें मौजूद हैं जो हमें बहुत बहुत सारी कॉपीराइट फ्री तस्वीरें मुहैया कराती हैं जिनका इस्तेमाल हम बेझिझक अपने ब्लॉग पर कर सकते हैं।


ऐसी ही कुछ वेबसाइटें हैं-

PIXABAY

PeXELS

WIKIMEDIA COMMONS

CREATIVE COMMONS








इसके अलावा आप गूगल इमेज सर्च में "labelled for Reuse" फ़िल्टर लगाकर भी अपने ब्लॉग के लिए royalty free images ढूंढ सकते हैं।






📣 अगर आप Tech, Internet, Blogging, Online Earning SEO और डिजिटल मार्केटिंग जैसी चीजों से खुद को लगातार update रखना चाहते हैं तो हमारा Newsletter जरूर सबस्क्राइब करें..







4). ब्लॉगर ब्लॉग में इमेज एसईओ कैसे करें? (Image SEO in BlogSpot Blog):


अब तक हम हम जान चुके हैं कि image seo क्या है; यह क्यों जरूरी है और आप अपने ब्लॉग के लिए copyright free images कैसे ढूंढ सकते हो?


चलिए अब जानते हैं कि आप अपने ब्लॉगर (या BlogSpot) ब्लॉग का Image SEO कैसे कर सकते हैं-




1. इमेज फ़ाइल का नाम बदलें (Rename Image File)-

जब हम किसी फोटो को download या create करते हैं तो उसका नाम कुछ भी random होता है। जैसे- picsart२१३३४३४३.jpg या g-s4343.png 


यह एसईओ के लिए एक अच्छा फ़ाइलनाम नहीं है इसलिए हमें इसे बदलना होगा।


कोई इमेज जिस चीज पर आधारित है हमें उसका नाम उसी तरह रखना चाहिए। उदाहरण के तौर पर, अगर आप अपने ब्लॉग में "पढ़ाई" से संबंधित कोई तस्वीर अपलोड कर रहे हैं तो उसका नाम कुछ इस तरह रखिए- study.jpg, student-doing-study.jpg या फिर padhai.jpg


इस तरह जब भी कोई व्यक्ति गूगल में study, student doing study या padhai जैसे keywords को सर्च करेगा तो उसे आपकी तस्वीर दिखेगी। 

TIP- अगर आपको image name में एक से ज्यादा शब्द insert करने हैं तो dash (-) या underscore ( _ ) चिन्ह का प्रयोग कीजिए।




2. स्टॉक फोटोज को एडिट कीजिए (Edit Stock Photos):

जिन तस्वीरों को हम फोटो की वेबसाइटों (जैसे- pixabay, pixels) से डाउनलोड करते हैं उन्हें stock images कहते हैं।


अगर इन तस्वीरों को हम सीधे अपनी वेबसाइट पर इस्तेमाल करते हैं तो इससे हमें अच्छी रैंकिंग्स नहीं मिलती हैं क्योंकि हर कोई उन्हीं फ़ोटोज़ को use कर रहा होगा और वे सभी एक जैसी होती हैं जिससे गूगल यह decide नहीं कर पाता है कि कौन-सी फोटो को पहले रैंक करे और कौन-सी को बाद में।


इसलिए Image SEO के लिए यह जरूरी है कि हम pics को थोड़ा-ही सही लेकिन edit करें, जिससे गूगल उन्हें अच्छी रैंकिंग्स दे।


आप स्टॉक इमेजेस को कुछ इस तरह एडिट कर सकते हैं जैसे कि मैं करता हूँ (Using PicsArt)-












TIP- अगर आपने खुद कोई इमेज design की है तो उसके एक कोने पर अपनी वेबसाइट का watermark जरूर लगाएँ। इससे आपको long term में काफी फायदा होगा। 




3. तस्वीरों को पुनराकृत कीजिए (Resize Images):

शायद आप जानते होंगे कि गूगल वेबसाइटों को रैंक करने के लिए उनकी loading speed भी चेक करता है। यानि अगर आपकी वेबसाइट fast है तो गूगल में उसके टॉप पर रैंक करने के अच्छे chances होते हैं।


टेक्स्ट बहुत जल्दी लोड हो जाता है। जबकि फ़ोटोज़ और वीडियोज़ को लोड होने में वक्त लगता है खासकर बड़े साइज़ वाली तस्वीरों को। इसलिए यह जरूरी है कि हम images को सही से resize करें ताकि हमारी वेबसाइट पर कम लोड पड़े और वह गूगल इमेज सर्च में टॉप पर रैंक करे।


फ़ोटोज़ को resize करने के लिए हम उन्हें download करने के बाद किसी एडिटर की मदद से एडिट कर सकते हैं और उन्हें crop, trim करके छोटा-बड़ा कर सकते हैं।


इसके अलावा इंटरनेट पर कई सारी ऐसी वेबसाइटें मौजूद हैं जिनकी मदद से हम यह काम बड़ी आसानी से कर सकते हैं। ऐसी ही कुछ वेबसाइटें हैं-










इसके अलावा जब हम उन्हें अपने ब्लॉगर ब्लॉग पर अपलोड करें तो वहाँ पर तस्वीर पर double click करने के बाद खुले X-Large, Large, Medium, Small और Extra Small ऑप्शनों के द्वारा हम उसके आकार को छोटा-बडा कर सकते हैं जिससे आपके रीडर्स को शानदार user-experience मिले।


TIP(1)- ब्लॉग के लिए generally "650* 360 pixels" आकार की images बेहतर होती है। हालांकि आप कौन-सा ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म इस्तेमाल करते हो इससे भी optimal image size पर फरक पड़ता है।


TIP(2)- वर्तमान में गूगल पर 50% से ज्यादा searches मोबाइल डिवाइसेस पर किये जाते हैं इसलिए ब्लॉग पोस्ट पब्लिश हो जाने के बाद confirm करें कि जो image आपने अपने ब्लॉग पर upload की हैं वे मोबाइल यूजर्स को सही तरह से दिखें। याद रखिए बहुत सारे लोग हमारी वेबसाइट को सिर्फ इसलिए छोड़कर जाते हैं क्योंकि उन्हें images सही से नहीं दिखती।










4. तस्वीरों के साइज़ कंप्रेस कीजिए (Compress Image Size)-

ब्लॉग की तस्वीरें अगर साइज़ में बड़ी होती हैं यानि ज्यादा KB या MB की होती हैं तो उन्हें load होने में टाइम लगता है। इसलिए यह जरूरी है कि हम image size को घटाएँ।


इमेज के साइज़ को कम करने के काम को "Image Compression" कहा जाता है। इमेज कम्प्रेशन ब्लॉग में फ़ोटोज़ के seo के लिए बेहद जरूरी है।


इमेजेस को कम्प्रेस करने के लिए इंटरनेट पर बहुत सारी वेबसाइटें मौजूद हैं जिनमें से कुछ प्रमुख वेबसाइटें निम्न हैं-













TIP- कोशिश करें कि आपके ब्लॉग पर अपलोड होने वाली ज्यादातर images का साइज़ 100 KB या इससे कम हो। 



5. सही इमेज एक्सटेंशन्स चुनें (Opt Right Image Extension/format in)-

आजकल बहुत सारे image extensions मौजूद हैं जैसे- .jpg (JPEG), .png, .gif ....लेकिन इनमें से हमारे ब्लॉग के लिए सबसे बेहतर कौन-सा है?


इस सवाल का जवाब निर्भर करता है आपकी need पे यानि आपको आखिर जरूरत किस तरह की image file की है।


जैसे- अगर आपको अपने ब्लॉग पर कोई ऐसी फोटो पोस्ट करनी है जिसका साफ दिखना बेहद जरूरी है (जैसे कोई screenshot) तो आप .png का use कर सकते हैं क्योंकि यह clarity के मामले में अव्वल है। हालांकि इसका file size काफी ज्यादा होता है (generally MBs में) इसलिए इसे लोड होने में टाइम लगता है जिससे site speed स्लो हो जाती है और SEO पे बुरा असर पड़ता है।


वहीं दूसरी तरह अगर आप कोई ऐसी इमेज use कर रहे हैं जिसमें ज्यादा clarity ना हो तो भी चलेगा.. तो आप .jpeg (जिसे .jpg भी कहते हैं) का use कर सकते हैं। इसका साइज़ generally KBs में होता है और यह काफी जल्दी लोड हो जाता है।


ऐनिमैटिड इमेजेस के लिए आप .gif (Graphics Interchange Format) का यूज कर सकते हैं। 


इसलिए अपनी जरूरत के हिसाब से सही image extension/format का चुनाव जरूर करें।



6. इमेज ऑल्ट टैग का उपयोग कीजिए (Use Image Alt Tag)-

जैसा कि हम जान चुके हैं कि गूगल तस्वीरों को देख नहीं सकता है लेकिन वह text को पढ़ने और समझने की काबिलियत रखता है।


इसलिए अगर हमें गूगल को किसी तस्वीर का मतलब समझाना है तो हमें उसे text form में एक्स्प्रेस करना होगा। लेकिन हम ऐसा कैसे कर सकते हैं?


खुशकिस्मती से हमारे पास ऐसा करने का एक तरीका मौजूद है, जिसे हम कहते हैं- इमेज औल्ट टैग (Image Alt Tag)


इमेज अल्ट टैग के द्वारा हम गूगल को बताते हैं कि कोई तस्वीर किस चीज के बारे में है और वह किस तरह की है।


उदाहरण के तौर पर इस तस्वीर को ही ले लीजिए...


A Right Handed Blue Shirt Wearing Man Writing On Paper With Pen



इसका औल्ट टैग हम कुछ इस तरह से लिख सकते हैं- "A Right Handed Blue Shirt Wearing Man Writing On Paper With Pen."


इससे गूगल समझ पाएगा कि आखिर ये image दिखती कैसी है और इसमें है क्या? और अगर कोई गूगल में सर्च करेगा "Right Handed Man Writing Photos" तो गूगल इस फोटो को टॉप पे दिखाएगा।


इसके अलावा कई बार slow internet connection या browser settings के कारण अगर इमेज लोड नहीं होती है तो लोगों को उसकी जगह alt tag दिखाई देता है।



ALT TAG Writing Tips-

  • एक अच्छा image alt tag 125 शब्दों का होता है।
  • आल्ट टैग में hyphen, underscores जैसे symbols को अवॉइड करें।
  • एक अच्छा image alt tag एक sentence के रूप में लिखा होना चाहिए।
  • आप ब्लॉग चाहे किसी भी भाषा में चलाते हों alt tag हमेशा english में ही लिखें क्योंकि गूगल इंग्लिश को बेहतर ढंग से समझता है।










* ब्लॉगस्पॉट ब्लॉग में इमेज औल्ट टैग कैसे डालें? (Use Alt Tag in BlogSpot Blog)-


वर्डप्रेस में इमेज अपलोड करते वक्त आल्ट टैग का ऑप्शन clearly दिख जाता है जबकि ब्लॉगर में ऐसा नहीं होता है।


ब्लॉगस्पॉट ब्लॉग में इमेज अपलोड होने के बाद image पे एक बार click करके बहुत सारे ऑप्शन खुल जाते हैं। इन्ही options में से एक होता है PROPERTIES का ऑप्शन।



Image Optimization Options in Blogspot Blog


इस ऑप्शन पे क्लिक करने के बाद हमारे सामने Title और Alt Tag के दो डिब्बे (😜) खुल जाते हैं।


In Blogspot Blog Alt and title tags being filled in Image Properties Option


टाइटल में हम इमेज का नाम डाल सकते हैं जैसे- Studying Man
वहीं Alt Tag में हमें उस image का description डाल देना है।


इस तरह से SAVE करने के बाद हमारी image पर alt tag लग जाता है।




  • Read Soon- औल्ट टैग क्या है; कैसे लिखें (ब्लॉगर+ वर्डप्रेस)





7. ब्लॉग पोस्ट में इमेजेस की संख्या (Number of images)-

वैसे तो आप जिनती चाहें उतनी images अपने ब्लॉग पर यूज कर सकते हैं लेकिन अच्छे SEO के लीये आपको कम से कम 3 Images तो अपने ब्लॉग पोस्ट पर जरूर लगानी चाहिए। 



8. अपनी बेस्ट इमेज को सबसे पहले डालिए (Upload Your Best Image at the Top):


ब्लॉगस्पॉट पोस्ट में by default हमारी जो सबसे पहले या ऊपर की फोटो होती है वह हमारी main फोटो होती है।


हमारे पोस्ट की link में ब्लॉग पोस्ट की firstmost फोटो ही दिखती है। इसके अलावा गूगल हमारी मेन फोटो को अपने सर्च में ज्यादा वरीयता देता है। इसलिए हमें अपनी पोस्ट के टॉप में अपनी सबसे अच्छी और पोस्ट से रिलेटेड फोटो पोस्ट करनी चाहिए।


जैसे अगर आप "पढ़ाई" पर पोस्ट लिख रहे हैं तो आप किसी पढ़ाई करते हुए व्यक्ति की तस्वीर को अपने पोस्ट की main image बना सकते हैं।







5). वर्डप्रेस ब्लॉग में इमेज एसईओ कैसे करें? (Image SEO for Wordpress Site)-


वर्डप्रेस ब्लॉग का इमेज SEO भी ठीक वैसे ही करते हैं जैसे कि ब्लॉगस्पॉट ब्लॉग का करते हैं। हालांकि इसमें कुछ चीजों अलग होती हैं-


1. वर्डप्रेस ब्लॉग में इमेजेस को आप्टमाइज़ करने में plugins आपकी मदद कर सकते हैं। ऐसे ही कुछ काम के Image SEO plugins हैं-


एसईओ इमेज ऑपटीमाइज़र (SEO Image Optimizer)

शॉर्टपिक्सल (ShortPixel)


2. इसके अलावा अगर आपकी साइट वॉर्डप्रेस पर हैं और आप उसमें बहुत सारी इमेजेस का उपयोग करते हैं तो आप गूगल सर्च कॉनसोल में Image Sitemap भी सबमिट कर सकते हैं इससे गूगल सर्च में आपके ब्लॉग की इमेजेस को अच्छी रैंकिंग्स मिलेंगी। 


इसके अलावा ब्लॉगर और वर्डप्रेस के ब्लॉग्स में कोई ज्यादा अंतर नहीं है।










ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 


अक्सर हम ब्लॉग पोस्ट में text को तो optimize कर लेते हैं लेकिन images को भूल जाते हैं। मगर ब्लॉग की ग्रोथ के लिए यह जरूरी है कि हम इमेजेस का भी SEO करें। आज की इस पोस्ट में हमने इसी बारे में जाना।


तो दोस्तों यही था "फोटो एसईओ/Photo SEO" पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। 





Post a Comment

0 Comments