Top Ad

13 बेस्ट ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट (2020) | Best Blogging Buider Sites/CMS in Hindi

क्या आप एक ब्लॉग शुरू करने की सोच रहे हैं और जानना चाहते हैं कि आपके लिए कौन-सा प्लेटफॉर्म ब्लॉग बनाने के लिए सही रहेगा?


वेबसाइट और ब्लॉग बनाने के लिए इंटरनेट पर ढेर सारे प्लेटफॉर्म्स available है। अब आपके लिए इनमे से कौन-सा प्लेटफ़ॉर्म सही रहेगा यह पूरी तरह आपकी जरूरत पर निर्भर करता है।


a man typing on the laptop


अगर आप शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग करना चाह रहे हैं तो आपको अलग प्लेटफॉर्म की जरूरत पड़ेगी; वहीं यदि आप पैसे कमाने के लिए ब्लॉगिंग करने की सोच रहे हैं यानि Professional Blogging करना आपका मकसद है तो इसके लिए आपको अलग प्लेटफॉर्म की जरूरत पड़ेगी।


इसके अलावा आपका बजट भी decide करता है कि आपको ब्लॉगिंग की शुरुआत किस प्लेटफ़ॉर्म से करनी चाहिए।


आपके लिए कौन-सा ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म सही रहेगा, इस बात का फैसला आप इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद खुद ले सकते हो।


तो चलिए जानते हैं इंटरनेट पर मौजूद 12 बड़े ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स के बारे में-




ब्लॉग बनाने की वेबसाइटें-मशीन/Blog-Website Builder Sites/ CMS in Hindi










1). ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म या कंटेन्ट मैनेजमेंट सिस्टम क्या है? (What is Blogging Platform/ CMS):


जैसे कि नाम से ही पता चल जाता है कि ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स या कंटेन्ट मैनिज्मन्ट सिस्टम्स वो वेबसाइटें होती हैं जिनके द्वारा हम blogging करते हैं या फिर कहें अपने ब्लॉग को manage करते हैं।


इनकी मदद से हम ब्लॉग बनाते हैं और उसे चलाते हैं। साथ ही साथ उसकी settings करने की सुविधा भी हमें CMS देते हैं। ब्लॉगर और वर्डप्रेस दुनिया के सबसे बड़े और पॉपुलर ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स हैं।




2). ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स की जरूरत (Need Of Blogging Platforms/CMS):


जब इंटरनेट की शुरुआत हुई थी तो वेबसाइटें बिना ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स के बनाई जाती थी। इसके लिए directly server में code को रखा जाता था और फिर वहीं से वेबसाइट मैनेज होती थे। लेकिन यह प्रोसेस काफी technical और complex थी। नोन-टेक्निकल लोगों के लिए यह काम काफी जटिल था। इसलिए ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स की जरूरत पड़ी।


सीएमएस के आ जाने के बाद नॉन-टेक्निकल लोग भी आसानी से अपनी वेबसाइटें बनाने लगे और उन्हें manage करने लगे। ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स के कारण ही Web का विस्तार हुआ।




3). ब्लॉग बनाने के लिए सही ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म चुनने के दौरान इन बातों का रखें ख्याल (Things To Keep In Mind While Selecting The Right CMS):


इंटरनेट पर सैकड़ों ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स available हैं। आपके लिए कौन-सा बेहतर रहेगा, यह पता लगाने के लिए इन बातों पर विचार करें-


आपके ब्लॉग बनाने का मकसद क्या है?- अगर आप ब्लॉग सिर्फ इसलिए बना रहे हैं ताकि आप अपने विचारों को लोगों तक पहुंचा सके और आपका इससे पैसे कमाने का कोई इरादा नहीं है तो आपको blogger, wordpress, quora, मीडीअम या फिर tumblr ब्लॉग को प्राथमिकता देनी चाहिए।


आप कितना खर्च करना चाहते हैं?- अगर आप शौकिया तौर पर ब्लॉगिंग कर रहे हैं तो शायद आप ब्लॉग पर ज्यादा खर्च न करना चाहें। इसके लिए आप ब्लॉगर जैसे free ब्लॉगिंग प्लेटफॉरम का इस्तेमाल कर सकते हैं।


वहीं अगर आप पेशेवर ब्लॉगिंग करने की सोच रहे हैं लेकिन आपके पास budget की कमी है तो आप एक अच्छा सा domain खरीदकर ब्लॉगर पर भी ब्लॉगिंग कर सकते हैं।


इसके अलावा अगर आपके पास अच्छा बजट है और आप प्रोफेशनल ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो आप wordpress.org को try कर सकते हैं।


आपको कितने और कैसे tools चाहिए?- अगर आप अपनी वेबसाइट पर ब्लॉग बनाने के अलावा कुछ sell करना चाहते हैं या फिर कुछ दूसरी services देना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कई सारे powerful टूल्स की जरूरत पड़ेगी। इसके लिए आप wordpress.org पर अपनी वेबसाइट बना सकते हैं।


NOTE- आप चाहें तो शुरुआत में Blogger पे अपना ब्लॉग बना सकते हैं और बाद में जब वह बड़ा हो जाए तो आप कभी भी उसे आसानी से wordpress.org पर transfer भी सकते हैं।



पेश हैं इंटरनेट की दुनिया के 12 सबसे बड़े और पॉपुलर ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स-











4). ब्लॉगिंग करने की बेस्ट वेबसाइटें (Best Blog Builder Websites in Hindi):


ये कुछ ब्लॉग बिल्डर साइट्स हैं जिनकी मदद से आप अपने लिए एक शानदार ब्लॉग तैयार कर सकते हैं -


NOTE- Link to each website is given in the title.



1. ब्लॉगर/ब्लॉगस्पॉट (BLOGGER)-

ब्लॉगर, जिसे पहले BlogSpot के नाम से जाना जाता था, गूगल द्वारा powered एक ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म है जिसपे आप free में अपना एक शानदार ब्लॉग बना सकते हैं।


this is the screenshot of blogspot website maker dashboard


ब्लॉगस्पॉट को सबसे पहले 1998 में PyraLabs नाम की कंपनी ने पेश किया था। बाद में इसकी बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए 2004 में गूगल ने इसे खरीद लिया। 


ब्लॉगस्पॉट प्लेटफ़ॉर्म शौकिया और पेशेवर दोनों तरह के ब्लॉगरों के लिए suitable है हालांकि ज्यादातर मामलों में इसका इस्तेमाल शौकिया लोग करते हैं क्योंकि इसमें आप बहुत ज्यादा प्रयोग नहीं कर सकते हैं। (यह ब्लॉग जिस पर आप अभी यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं, भी ब्लॉगर पर आधारित है).


खर्च(Pricing)- ब्लॉगर पर आप फ्री ब्लॉग बना सकते हैं (.blogspot.com सबडोमेन के साथ) वहीं आप थोड़ा-सा पैसा खर्च करके अपने ब्लॉग के लिए एक damain भी खरीद सकते हैं (eg. .com, .in, .org, .net)








उपयोगिता (Suitable For)- नये ब्लॉगर्स, कम बजट और कम टेक्निकल ज्ञान वाले लोगों के लिए


ब्लॉगस्पॉट के फायदे-


  • यह पूरी तरह से फ्री है। (हालांकि domain खरीदने के पैसे पड़ते हैं)



  • इसमें hosting पूरी तरह से free हैं। यानि आप अपने ब्लॉग में जो भी text, pictures और videos पोस्ट करते हैं वे गूगल के सर्वर में store होते हैं और गूगल इसके ऐवज में हमसे कोई पैसे भी नहीं लेता है। वहीं दूसरी तरफ वर्डप्रेस.ऑर्ग और जूमला जैसे प्लेटफॉर्म्स में हमें hosting पर खर्च करना पड़ता है।

  • ब्लॉगर ब्लॉग पर हम बहुत सारी custom themes (३rd party भी) लगा सकते हैं। 

  • इसमें हम ad लगाकर पैसे भी कमा सकते हैं।



  • इसे manage करने के लिए बहुत ज्यादा technical knowledge की जरूरत नहीं होती है।



  • कई SEO studies में पाया गया है कि ब्लॉगस्पॉट ब्लॉग्स की पोस्टें गूगल में जल्दी से रैंक होती हैं।



ब्लॉगस्पॉट की कमियाँ-


  • ब्लॉगस्पॉट में बहुत ज्यादा dynamic website नहीं बना सकते हैं जैसे कि हम worpress.org में कर सकते हैं।



  • ब्लॉगस्पॉट में लिमिटेड टूल्स (Gadgets) उपलब्ध हैं जबकि वर्डप्रेस में इनकी संख्या बहुत अधिक है जिससे वर्डप्रेस में वेबसाइट को customize कर पाना बेहद आसान होता है।



  • ब्लॉगस्पॉट में आपका अपने ब्लॉग पर full control नहीं होता है। अगर आपका ब्लॉग blogspot की policies का उलँघन करता है तो उसे गूगल द्वारा डिलीट किया जा सकता है।





2. वर्डप्रेस.ऑर्ग (WORDPRESS.ORG)-


'वर्डप्रेस.ऑर्ग' Automatic Inc के द्वारा बनाया गया एक Content Management System (CMS) है जिसपे आप कई अलग-अलग तरह की वेबसाइटें बना सकते हैं जिसमें से Blog भी एक है।



this is the attractive but simple dashboard of wordpress.org containing blue and black colors.


यह open source है यानि आप भी wordpress के code को सुधारने में अपना सहयोग दे सकते हैं।


वर्डप्रेस.org 1997 से इंटरनेट पर अपनी सेवाएं दे रहा है और  इंटरनेट पर मौजूद लगभग 33% वेबसाइटें इसी प्लेटफ़ॉर्म पर बनी हुई हैं।


वर्डप्रेस Self Hosted प्लेटफ़ॉर्म है यानि आपको अपनी वेबसाइट के डाटा को स्टोर करने के लिए Server अलग-से लेना पड़ता है इसे Web Hosting कहते हैं जिसे आप आसानी से rent पे ले सकते हैं। इसके अलावा आपको अपना खुद का domain भी चाहिए होता है।


खर्च (Pricing)- वर्डप्रेस पूरी तरह से फ्री है लेकिन इसमें ब्लॉग बनाने के लिए आपको अपना खुद का डोमेन और होस्टिंग चाहिए होती है जिसमें खर्चा होता है। आमतौर पर इन दोनों में minimum $3/month खर्च आएगा।


उपयोगिता (Suitable for)- वर्डप्रेस.ऑर्ग हर तरह की वेबसाइट बनाने के लिए suitable है। चाहे आपको ब्लॉग बनाना हो, Downloading Site बनानी हो या फिर Product & Service साइट; यह प्लेटफ़ॉर्म हर तरह से आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। (हालांकि e-commerce site बनाने के लिए shopify वर्डप्रेस से कई गुना बेहतर है)


वर्डप्रेस.ऑर्ग के फायदे-


  • वर्डप्रेस versatile platform है यानि इसके द्वारा आप कई तरह की वेबसाइटें बना सकते हैं



  • वर्डप्रेस से आप dynamic वेबसाइट बना सकते हो।



  • वर्डप्रेस में 50 हजार से ज्यादा टूल्स (जिन्हें widgets कहा जाता है) मौजूद हैं जिनके द्वारा हम अपनी वेबसाइट को customize कर सकते हैं। वर्डप्रेस में ये टूल्स कुछ उसी तरह होते हैं जैसे Google Chrome में chrome extensions.

  • अगर आप गूगल अड़सेंस का use करते हैं तो वर्डप्रेस आपके लिए बेहद फायदेमंद है क्योंकि यह आपको अच्छा ad placement करके अच्छा पैसा कमाने का मौका देता है।



  • वर्डप्रेस में widgets के कारण ब्लॉगिंग करना काफी आसान हो जाता है क्योंकि ये टूल्स हमारे काम को semi-automate करते हैं। जैसे- SEO के लिए Yoast Plugin



वर्डप्रेस की कमियाँ-


  • इसमें खर्चे बहुत ज्यादा होते हैं। जैसे- आप फ्री में ब्लॉग नहीं बना सकते हैं आपको domain के साथ hosing भी खरीदनी होती है जिसमें कम से कम monthly 200 से 300 रुपए का खर्च आता है।



  • वर्डप्रेस में अगर आप आप अपनी hosting और domain को renew नहीं करवाते हैं तो आपकी साइट बंद हो जाती है जबकि ब्लॉगर होस्टिंग की कोई दिक्कत नहीं होती।



  • वर्डप्रेस में टेक्निकल knowledge की जरूरत पड़ती है यानि आपको HTML, CSS और JavaScript जैसी भाषाओं का बेसिक ज्ञान होना चाहिए। 




3). वर्डप्रेस.कॉम (WORDPRESS.COM)-


वर्डप्रेस.कॉम भी वर्डप्रेस.ऑर्ग की तरह ही Automatic Inc. का एक ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म है जिसपे हम अपना ब्लॉग बना सकते हैं।


wordpress.com hompeage color blue text on the white background.


इसमें और वर्डप्रेस.ऑर्ग में में फर्क बस इतना है कि ऑर्ग self hosted है यानि उसमें आपको अपनी खुद की होस्टिंग लेनी पड़ती है जबकि कॉम में आप अपनी वेबसाइट को वर्डप्रेस के सर्वर पर ही होस्ट करते हैं।


वर्डप्रेस.कॉम के ज़्यादातर फीचर्स ब्लॉगस्पॉट की तरह हैं। यह वर्डप्रेस.ऑर्ग के काफी समय बाद लॉन्च हुआ था।


खर्चा (Pricing)- वर्डप्रेस.कॉम पर आप फ्री में सबडोमेन (.wordpress.com) की मदद से ब्लॉग बना सकते हैं हालांकि आपको इसमें लगे wordpress.com के ads को हटाने के लिए कुछ पैसे देने पड़ते हैं।


उपयोगिता (Suitable For)- वर्डप्रेस.कॉम amateur writers और poets के लिए अच्छा प्लेटफॉर्म है। यह पेशेवर ब्लॉगिंग करने के लिए बिल्कुल भी अच्छा विकल्प नहीं है। अगर आपके पास बजट कम है और आप पेशेवर ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो आप इसके बजाय ब्लॉगस्पॉट को चुन सकते हैं।


वर्डप्रेस.कॉम के फायदे-

इसमें आप फ्री में अपना ब्लॉग बना सकते हैं।

इसमें आपको बहुत सारे टूल्स मिल जाते हैं जिनसे आप अपने ब्लॉग को customize कर सकते हैं।

इसमें आपको अपने ब्लॉग के लिए अच्छे-अच्छे designs/layouts मिल जाते हैं।


वर्डप्रेस.कॉम की कमियाँ-


  • वर्डप्रेस.कॉम में आप गूगल adsense का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं इसलिए यह पेशेवर ब्लॉगरों के लिए suitable नहीं है।



  • इसमें आप अपने ब्लॉग को बहुत ज्यादा customize नहीं कर सकते हैं।



  • अगर आप वर्डप्रेस की policies का violation करते हैं तो आपके ब्लॉग को कभी-भी हटाया जा सकता है।



  • इसमें आपको पहले से लगे ads को हटाने के भी पैसे देने पड़ते हैं।



NOTE- जब भी हम 'वर्डप्रेस' शब्द का इस्तेमाल करते हैं तो हमारा मतलब ज्यादातर मामलों में wordpress.org से होता है ना कि wordpress.com से।



* READ- 3 साल के ब्लॉगिंग अनुभव पर बेस्ड ब्लॉगिंग टिप्स 



4). विक्स (WIX)-


विक्स एक Drag-&-Drop वेबसाइट बिल्डर टूल है जिसकी मदद से आप शानदार दिखने वाली वेबसाइटें बना सकते हैं।


wix website builder homepage black text written on white background


खर्चा (Pricing)- विक्स में आप free में वेबसाइट बना सकते हैं और बाद में अपनी जरूरत के हिसाब से अपने प्लान को upgrade भी कर सकते हैं। 


उपयोगिता (Suitable For)- विक्स उन लोगों के लिए एक अच्छा ऑप्शन है जो एक ऐसी वेबसाइट बनाना चाहते हैं जिसमें visuals का ज्यादा काम हो और अच्छे design की जरूरत हो। To be honest, यह किसी भी तरह का ब्लॉग बनाने के लिए एक अच्छा ऑप्शन नहीं है क्योंकि इसमें आप अपने ब्लॉग का SEO अच्छे से नहीं कर सकते हैं।



विक्स के फायदे-


  • विक्स से आप फ्री में वेबसाइट बना सकते हैं।



  • विक्स प्लेटफॉर्म से बनी वेबसाइटें बेहद आकर्षक होती हैं। 



विक्स के नुकसान-



  • इसमें बहुत सारी limtations हैं।



  • इसमें आप अपनी साइट का SEO बेहतर ढंग से नहीं कर सकते हैं।



  • इसमें आपको अपनी वेबसाइट का layout बदलने में दिक्कत हो सकती है।



  • कई लोगों ने अनुभव किया है कि विक्स का customer support system अच्छा नहीं है।



TIP- कुल-मिलाकर विक्स ब्लॉग-साइट बनाने के लिए एक अच्छा प्लेटफॉर्म नहीं है। 




ब्लॉगिंग, SEO,कंटेन्ट राइटिंग और डिजिटल मार्केटिंग से जुड़े टिप्स पाने के लिए हमारा WhatsApp Group अभी जॉइन करें!



5). टंबलर (Tumblr)-


जिन प्लेटफॉर्म्स के बारे में हमने अब तक चर्चा की है टंबलर उनसे थोड़ा हटके है। यह एक तरह का ब्लॉगिंग सोशल मीडिया है जिसपे आप ब्लॉग्स के जरिए अपनी बात कहते हैं।


tumblr homepage with a dark and bold woman.


टंबलर पर Akshay Kumar और Amitabh Bachchan जैसे सिलेब्रिटीयों के ब्लॉग्स हैं।


टंबलर पे आपकी खुद की Independent वेबसाइट नहीं होती है बल्कि इसमें आपका एक account होता है जिससे आप ब्लॉग लिख सकते हैं।


इसमें हमारे ब्लॉग का URL कुछ इस तरह होता है- www.tumblr.com/yourblogname


खर्चा (Pricing)- टंबलर पर आप फ्री में ब्लॉग बना सकते हैं हालांकि इसमें कई सारी paid चीजें भी मौजूद हैं।


उपयोगिता (Sutiable For)- टंबलर उन लोगों के लिए अच्छा माध्यम है जो लोगों तक ब्लॉग के माध्यम अपने विचार पहुंचाना चाहते हैं और ब्लॉग से पैसे कमाने का उनका कोई विचार नहीं है।


टंबलर के फायदे-


  • टंबलर मुफ़्त प्लेटफ़ॉर्म है।



  • यह एक तरह का सोशल मीडिया भी है। 



  • टंबलर पर 10 करोड़ से ज्यादा ब्लॉग्स hosted है जो इसे एक काफी पॉपुलर प्लेटफॉर्म बनाता है।



  • टंबलर पर आपको कोई भी खर्च नहीं करना पड़ता है।



  • टंबलर ब्लॉग का आपको SEO नहीं करना पड़ता है।



टंबलर के नुकसान-


  • आपकी अपनी साइट नहीं होती है।



  • अगर आप टंबलर की policies का उलँघन करते हैं तो आपके ब्लॉग को हटाया जा सकता है।



  • आप अपने ब्लॉग पर ads नहीं लगा सकते हैं।



  • इसमें आप दूसरे प्लेटफॉर्म पर अपना ब्लॉग transfer नहीं कर सकते हैं।





📣 अगर आप Tech, Internet, Blogging, Online Earning SEO और डिजिटल मार्केटिंग जैसी चीजों से खुद को लगातार update रखना चाहते हैं तो हमारा Newsletter जरूर सबस्क्राइब करें..



6). वीबली (WEEBLY)-


विक्स के जैसे ही वीबली भी drag and drop वाला साइट बिल्डर प्लेटफॉर्म है जिसकी मदद आप अपनी फ्री वेबसाइट बना सकते हैं। इसमें आपको hosting खरीदने की कोई जरूरत नहीं होती है।


weebly homepage with a girl on the white background


वीबली को दुनियाभर में 12 मिलियन से ज्यादा लोग इस्तेमाल करते हैं।


खर्चा (Pricing)- यह फ्री है!


उपयोगिता (Suitable For)- वीबली फ्री है और यह customize करने में बेहद ज्यादा आसान है क्योंकि इसमें drag and drop का सिस्टम है।


वीबली के फायदे-


  • सबसे पहले तो यह फ्री है।



  • यह ड्रैग एण्ड ड्रॉप सिस्टम पर काम करता है जिससे इसका setup करना बेहद आसान हो जाता है।



  • इसमें आपको फ्री hosting मिल जाती है।



वीबली के नुकसान-


  • इसमें limited tools हैं जिनसे आपको अपनी वेबसाइट को customize करने में दिक्कत हो सकती है।



  • वीबली ब्लॉग को दूसरे प्लेटफॉर्म्स पर transfer करना काफी मुश्किल काम है।




7). जूमला (JOOMLA)-


जूमला वर्डप्रेस.ऑर्ग के जैसे ही एक self-hosted CMS प्लेटफ़ॉर्म है जिसमें आपको अपनी खुद की होस्टिंग लेकर वेबसाइट को होस्ट करना होता है।


joomla stuffed homepage with blue background


जूमला एक open source प्लेटफॉर्म है जिसे PHP में लिखा गया है। इस प्लेटफॉर्म के द्वारा दुनिया में 16 लाख से ज्यादा वेबसाइटें बनाई जा चुकी हैं।


खर्चा (Pricing)- यह फ्री है लेकिन होस्टिंग और डोमेन नेम को अलग से खरीदना पड़ता है।


उपयोगिता (Suitable For)- जूमला उन लोगों के लिए एक अच्छा प्लेटफॉर्म है जो poweful और dynamic websites बनाना चाहते हैं।


जूमला के फायदे-


  • जूमला एक ताकतवर प्लेटफॉर्म है।



  • जूमला में 10 हजार से ज्यादा टूल्स (जिन्हें Joomla Apps कहा जाता है) मौजूद हैं।



  • जूमला में हजारों वेबसाइट लेआउट्स मौजूद हैं जिनका प्रयोग आप अपनी वेबसाइट को आकर्षक बनाने के लिए कर सकते हैं।



जूमला की कमियाँ-


  • जूमला वर्डप्रेस के जैसा प्लेटफॉर्म है लेकिन इसे इस्तेमाल करने वालों की तादाद वर्डप्रेस से काफी कम है जिसके कारण इसके turorials कम ही मिलते हैं।



  • जूमला का सपोर्ट सिस्टम बहुत ज्यादा बेहतरीन नहीं है।



  • जूमला में वर्डप्रेस की तुलना में काफी कम टूल्स मौजूद हैं।











8). स्क्वायर स्पेस (SquareSpace)-


यह एक तरह का drag-and-drop वेबसाइट बिल्डिंग प्लेटफ़ॉर्म है जिसे खासतौर पर उन बिजनेस ओनर्स के लिए बनाया गया है जो अपनी online presense दर्ज करना चाहते हैं।


squarespace-homepage with a rocking guy on the purple background.


खर्चा (Pricing)- यह एक paid platform है और इसमे वेबसाइट बनाने में $16 monthly से ज्यादा का खर्च आता है।


उपयोगिता (Suitable For)- यह प्लेटफ़ॉर्म छोटे बिजनेस ओनर्स को समर्पित है।


स्क्वायरस्पेस के फायदे-


  • इसमें आपको 14 दिन का एक free trial मिल जाता है।



  • इसके द्वारा आप अपने बिजनेस की ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज करा सकते हैं।



  • यह drag-and-drop प्लेटफॉर्म है।



  • इसमें आपको free SSL और Domain भी मिल जाता है।



  • इसमें आप अपनी वेबसाइट में e-commerce store भी बना सकते हैं।



  • इसके द्वारा बनाई गई वेबसाइटों का look बेहद शानदार होता है।



स्क्वायरस्पेस की कमियाँ-


  • यह paid है।



  • इसके personal plan में काफी limits हैं।



  • इसमें tools की काफी limited संख्या है।




9). घोस्ट (Ghost)-


गोस्ट एक ऐसा प्लेटफ़ॉर्म है जिसमें आप सिर्फ लिखने पर ध्यान दे सकते हैं। यह पूरी तरह से राइटर्स को समर्पित है।


ghost website builders' homepage with black background.


खर्चा (Pricing)- यह फ्री है। हालांकि self-hosted version में आपको अपनी होस्टिंग चाहिए होती है।


उपयोगिता (Suitable For)- यह उन ब्लॉगर्स के लिए अच्छा है जो अपना सारा ध्यान सिर्फ-और सिर्फ लेखन को देना चाहते हैं।


घोस्ट के फायदे-


  • घोसट का interface बेहद क्लीन है।



  • यह javascrpit में लिखे जाने के कारण बहुत ही fast है।



घोस्ट की कमियाँ-


  • घोस्ट में limited tools अवैलबल हैं। 



  • इसमें बहुत ज्यादा designs के ऑप्शन्स मौजूद नहीं है।




10). मीडीयम (MEDIUM)-


मीडीअम लेखकों के लिए एक अच्छा प्लेटफॉर्म है जिसपे आप अपने आर्टिकल लिखकर हजारों लोगों तक पहुंचा सकते हैं।



medium platforms neat and clean white background


इसपे इंटरनेट की दुनिया के सबसे बेहतरीन आर्टिकल मिलते हैं। यहाँ पर आप आर्टिकल लिखकर "Medium Parteners Program" के जरिए पैसे भी कमा सकते हैं।


खर्चा (Pricing)- मीडीअम राइटर्स के लिए free है हालांकि रीडर्स के लिए यह एक monthly limit के बाद paid है।


उपयोगिता (Suitable For)- मीडीअम उन लेखकों के लिए अच्छा है जो बिना SEO किये अपने आर्टिकलों को हजारों लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं। मीडीअम पे आप कोई भी language में लिख सकते हैं।


मीडीअम के फायदे-


  • मीडीअम राइटर्स के लिए फ्री है।



  • इसमें setup करने की कोई जरूरत नहीं है। टेक्निकल स्किल नहीं चाहिए होती है। 



  • इसका Interface बेहद शानदार है।



  • इसमें आपको SEO करने की कोई जरूरत नहीं है।



  • इससे आप पैसे भी कमा सकते हैं। 



मीडीअम की कमियाँ-


  • इसमें आपको अपना separate blog नहीं मिलता है। आप एक कम्यूनिटी के रूप में लिखते हैं।



  • मीडीअम पे आप अपने खुद के ads नहीं लगा सकते हैं। 





11). सिम्पलसाइट (SimpleSite)-


सिम्पलसाइट एक denmark बेस्ड वेबसाइट बिल्डर प्लेटफ़ॉर्म है जिसकी मदद से आप एक छोटी और सिम्पल निजी ब्लॉग बिल्ड कर सकते हैं। 


simplesite homepage with hands typing on the computer keyboard.


मैंने अपना पहला ब्लॉग इसी प्लेटफॉर्म की मदद से बनाया था। 


खर्चा (Pricing)- फ्री के साथ-साथ paid plans भी उपलब्ध हैं।
उपयोगिता (Suitable For)- व्यक्तिगत ब्लॉग्स के लिए अच्छा है।



सिम्पलसाइट के फायदे-


  • इसमें टेक्निकल knowledge की जरूरत नहीं है।



  • आप इसमें निजी ब्लॉग लिख सकते है।



सिम्पलसाइट की कमियाँ-


  • इसमें बहुत ही कम टूल्स मौजूद हैं।



  • इसमें आप अपने ब्लॉग में ads नहीं लगा सकते हैं।



  • यह बहुत ही कम पॉपुलर है।





12). कोरा ब्लॉग (QUORA BLOG)-


कोरा एक सवाल-जवाब साइट है यह तो हम सब जानते हैं लेकिन इसमें हम ब्लॉग भी लिख सकते हैं यह बहुत सारे लोग नहीं जानते हैं।


quora homepage with some questions


कोरा के अंदर ब्लॉग का भी एक ऑप्शन होता है जिसकी मदद से हम अपने ब्लॉग भी लिख सकते हैं। 


खर्चा (Pricing)- कोरा पूरी तरह से free है।

उपयोगिता (Suitable For)- यह शौकिया लेखकों के लिए अच्छा प्लेटफ़ॉर्म है।


कोरा ब्लॉग के फायदे-


  • यह फ्री है।



  • इसकी गूगल में अच्छी reach है।


कोरा ब्लॉग की कमियाँ-


  • इसमें आपको अपनी एक साइट नहीं मिलती है। यानि कोरा कभी भी आपके ब्लॉग को हटा सकता है।



  • इसमें आपको बहुत ज्यादा tools नहीं मिलते हैं।





13). गूगल साइट्स (GOOGLE SITES)-

गूगल साइट्स गूगल द्वारा प्रदत्त एक फ्री प्लेटफ़ॉर्म है जिसकी मदद से आप गूगल में कोई भी जानकारी डाल सकते हैं।


google sites homepage with options to create a new site page


खर्चा (Pricing)- यह पूरी तरह से फ्री है।


उपयोगिता (Suitable For)- यह उन लोगों के लिए अच्छा प्लेटफॉर्म है जो गूगल में कोई जानकारी डालना चाहते हैं।


गूगल साइट्स के फायदे-


  • यह फ्री है।



  • यह गूगल का उत्पाद है।



गूगल साइट्स की कमियाँ-


  • इसपे आपका पूरा कंट्रोल नहीं होता है।



  • गूगल इसे कभी भी हटा सकता है।






🕵️  CURIOUSITY CORNER:


1. ब्लॉगिंग करने के लिए कौन-सा प्लेटफॉर्म बेहतर रहेगा?

> अगर आपके पास पर्याप्त पैसा है और आपको प्रोफेशनल ब्लॉगिंग करनी है तो आपके लिए wordpress.org सबसे शानदार विकल्प रहेगा।


> अगर आप प्रोफेशनल ब्लॉगिंग करना चाहते हैं और शुरुआत में ब्लॉगिंग में ज्यादा invest नहीं करना चाहते हैं तो आप blogger को चुन सकते हैं। जब आपका ब्लॉग पॉपुलर हो जाए और इससे पैसा आने लगे तो आप आसानी से इसे wordpress या Joomla पर transfer कर सकते हैं।


> इसके अलावा अगर आप एक लेखक के रूप में ब्लॉगिंग करना चाहते हैं और ब्लॉग बनाने का आपका मकसद लोगों तक अपनी बात पहुंचाना है तो आप ऊपर दिए गए 13 प्लेटफॉर्म्स में से किसी का भी चुनाव कर सकते हैं। हालांकि आपके लिए Quora, Medium और Ghost अच्छा रहेगा।


> इसके अलावा अगर आप ब्लॉगिंग के द्वारा अपने बिजनेस को प्रमोट करना चाहते हैं तो आप SquareSpace और Wix जैसे विकल्पों को try कर सकते हैं।



2. ब्लॉग कैसे बनाएँ?

अगर आप जानना चाहते हैं कि blogspot की मदद से एक फ्री ब्लॉग कैसे बनाएँ तो यह पोस्ट इसमें आपकी कुछ मदद कर सकते है-










ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 


ऊपर दिए गए इन 12 ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स में से आप चुन सकते हैं कि आपके लिए बेहतर कौन-सा रहेगा। अगर आपको इस मामले में कोई मदद चाहिए तो आप मुझे singhnavinrangar@gmail.com पे mail कर सकते हैं।




तो दोस्तों यही था "बेस्ट ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स/Blogging Platforms Hindi" पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। (3400 Words)




📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग कैसे सीखें और करें? (2020 में)



   

Post a Comment

10 Comments

  1. साझा करने के लिए धन्यवाद, वास्तव में जानकारीपूर्ण. I am very happy with the article that you created, you gave me another new idea. a brilliant thought stated here. maybe I will visit this site later if there is a new update again.

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद स्टील जी :p अच्छा लगा आपको हमारा लेख पसंद आया

      Delete
  2. great way of writing naveen ji
    i am starting blogging on wordpress.org and taking free hosting
    please write article on free hosting.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thankyou.
      FYI, wordpress.org pe free hosting nahi hoti hai.. aapko paise dene pdte hain.. fraud hosting ke chakkr me mt padiye... isse aapka blog hack ho skta hai... Ek newbie ke taur pr blogspot pe blog shuru krna jyada behtr rahega than wordpress.org ke.

      Delete
  3. ब्लॉग्गिंग मंच के बारे में आपने बहुत ही बढ़िया तरीके से विश्लेषण किया है .
    धन्यवाद ...

    ReplyDelete

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!