Top Ad

ब्लॉग पर एसईओ फ़्रेंडली पोस्ट कैसे लिखें? (6 Steps) | How to Write SEO Optimised Blog Post

अगर आपको अपने ब्लॉग को कामयाब बनाना है तो आपको उसमें दो चीजें आवश्यक रूप से करनी होंगी-




कहने का मतलब है- "आपको अपनी ब्लॉग पर अच्छी पोस्टें लिखनी होंगी और साथ ही उनका अच्छे से SEO भी करना होगा।"

man-writing-with-hand-with-pen-on-notebook

अगर आपके ब्लॉग में इन दोनों चीजों में से एक भी चीज की कमी होगी तो आपके ब्लॉग के सफल होने की संभावना निश्चित रूप से कम हो जाएगी।


तो चलिए जानते हैं कि कैसे आप अपने ब्लॉग पर SEO-optimized या कहें seo-friendly ब्लॉग आर्टिकल लिख सकते हैं-



गूगल पे अच्छे स्थान पर रैंक करने वाली पोस्ट कैसे लिखें/How To Write SEO Content in Hindi




चलिए सबसे पहले जानते हैं कि आखिर एक seo-friendly post होती क्या है-






1). एसईओ फ़्रेंडली ब्लॉग पोस्ट क्या होती है? (What is SEO-Friendly Blog Post):



जैसा कि नाम से ही पता चलता है, जो पोस्ट सर्च इंजनों में रैंक करने की खातिर अच्छे से optimized होती है यानि जिनको इस तरह लिखा गया होता है कि गूगल उन्हें अपने सर्च में ऊपर दिखाएँ उन्हें SEO-friendly post कहते हैं।


ऐसी पोस्टों के लोकप्रिय होने के काफी ज्यादा chances होते हैं क्योंकि ये सर्च इंजनों (जैसे-google) में सबसे पहले दिखती हैं, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इनको पढ़ते हैं और share करते हैं।


अगर हमारे ब्लॉग की हर पोस्ट seo optimized post हो तो हमारे ब्लॉग को popular होने से कोई नहीं रोक सकता है।


2). एसईओ फ़्रेंडली पोस्ट लिखना क्यों जरूरी है? (Why to write SEO-optimised Post):



आपने बहुत शानदार content लिखा है लेकिन अगर वो जरूरतमन्द लोगों तक पहुंचता ही नहीं है तो वो किसी काम का नहीं है! इसलिए यह जरूरी कि हम उसे लोगों तक पहुंचाएँ।


अब क्योंकि लोगों को जो जानकारी चाहिए होती है वो उसे गूगल में जाकर सर्च करते हैं इसलिए अगर हम हमारा content गूगल में दिख जाता है तो इससे हमारे ब्लॉग पर traffic आ सकता है।


कंटेन्ट के गूगल में show हो जाने भर से ही लोग हमारी वेबसाइट पर नहीं आ जाते बल्कि यह बात भी बेहद मायने रखती है कि हमारी वेबसाइट गूगल में कौन-से नंबर पर दिख रही है।


मिसाल के तौर पर अगर हमारी वेबसाइट गूगल में पहले नंबर पे दिख रही तो ज्यादा लोग क्लिक करते हैं जबकि अगर 10 वें नंबर पे दिखती है तो लोगों के क्लिक करने के chances कम हो जाते हैं क्योंकि ज्यादातर लोग पहले की ही कुछ वेबसाइटों पर क्लिक करते हैं।
इसलिए यह बहुत जरूरी है कि हमारी वेबसाइट गूगल में अच्छी पोजीशन पर रैंक करे।


गूगल में अपनी वेबसाइट को रैंक करने के लिए जरूरी है कि हम उसका SEO करें यानि seo-friendly पोस्ट लिखें।


3). एसईओ फ़्रेंडली पोस्ट लिखने का तरीका (SEO-Optimized Post Writing Method Step-by-Step):



ये कुछ स्टेप्स हैं जिन्हें फॉलो करके आप अपनी ब्लॉग पोस्ट को seo-friendly बना सकते हैं-








1. कीवर्ड रीसर्च करें (Do Keyword Research):



ब्लॉग पोस्ट लिखने के लिए सबसे पहले हमें पता होना चाहिए कि जिस टॉपिक पर हम पोस्ट लिख रहे हैं उसके बारे में लोग क्या और कैसे सर्च करते हैं। 


जैसे कि अगर आप "पढ़ाई कैसे करें?" पर पोस्ट लिख रहें हैं तो आपको पता लगाना पड़ेगा कि लोग पढ़ाई के बारे में क्या-क्या सर्च करते हैं। मसलन वे सर्च कर सकते हैं-


*पढ़ाई करने के टिप्स

* पढ़ाई में मन कैसे लगाएँ

* पढ़ाई में मन न लगे तो क्या करें?


इस तरह आपको इन keywords का पता लगाना होगा और फिर उनके बारे में अपनी ब्लॉग पोस्ट में लिखना होगा।


लेकिन इनका पता आखिर लगाएँ कैसे?


इनका पता लगाना बेहद आसान है!


इसके लिए आपको गूगल में अपना keyword एंटर करना है। जैसे इस केस में हमारा कीवर्ड "पढ़ाई" है। 

google autosuggestion automatically suggesting searches in hindi


अब जो आपको नीचे google auto suggestions दिखते हैं यही आपके keywords हैं। इनके बारे में आप अपनी पोस्ट में लिख सकते हैं और आसानी से रैंक कर सकते हैं।


NOTE- जो keyword जितना ऊपर दिखता है अक्सर वह उतना ही ज्यादा पॉपुलर होता है।


इसके अलावा आप "people also search for", "realted searches" और FAQs में भी keywords ढूंढ सकते हैं।


Google's "People Also Search For" Box-

google's people also search for box



Google's "Related Searches" Box-


google's related searches box in hindi



इसके अलावा आप कीवर्ड रिसर्च टूल्स जैसे- Google Keyword Planner और Ubersuggest की मदद से भी keywords ढूंढ सकते हैं और उनका CPC, traffic और competition जैसी चीजों का भी पता लगा सकते हैं।


इसके अलावा आपको ये भी पता लगाना है कि उस टॉपिक को किस तरह सर्च करते हैं। क्या ज्यादातर लोग "पढ़ाई कैसे करें" सर्च करते हैं या फिर "How to study in Hindi" सर्च करते हैं। 


इन कीवर्डस को किसी नोटबुक या फिर नोटपैड में नोट कर लीजिए क्योंकि आगे पोस्ट लिखते वक्त हमें इनकी जरूरत पड़ने वाली है।


2. कॉम्पिटिशन और गूगल रिजल्ट्स चेक करें (Check competition & SERPs):




ये वो स्टेप है जिसे बहुत सारे नए ब्लॉगर्स miss कर देते हैं। लेकिन आप यह गलती ना करें इसके लिए इन steps को फॉलो कीजिए-


अपने main keyword को गूगल में सर्च कीजिए और देखिए उसमें टॉप 10 में कौन-कौन-सी वेबसाइटें रैंक कर रही हैं?

  • क्या वे बड़ी साइटें हैं?


  • टॉप पर रैंक करने वाली साइटों की Domain Authority और Backlink Profile क्या है?

  • टॉप पर ब्लॉग पोस्ट रैंक हो रही हैं या यूट्यूब वीडियोज़?




  • कीवर्ड पे कितना ज्यादा competition  है यानि कितने result शो हो रहे हैं? 

  • टॉप पर रैंक होने वाली वेबसाइटे कितने word की पोस्ट लिख रही हैं और कौन-से keywords का use कर रही हैं?

  • वे किन headings, subheading और minor headings का इस्तेमाल कर रही हैं?

  • और कैसे मैं अपनी पोस्ट को इन सारी वेबसाइटों से ज्यादा शानदार बना सकता हूँ ताकि गूगल मेरी पोस्ट को लोगों को सबसे पहले दिखाएँ?

इन सारे सवालों का जवाब पता करने की कोशिश कीजिए और उन्हें कहीं पे नोट कर लीजिए। 

3). कंटेन्ट रिसर्च कीजिए (Do Content Research):

अब आप अच्छी तरह से जानते हैं कि आपको किन चीजों के बारे में लिखना है और किस तरह से लिखना है?

इसलिए अब बारी आती है- कंटेन्ट ढूंढने की।

जिस टॉपिक के बारे में हम लिख रहे हैं यह जरूरी नहीं है कि उसके बारे में हमें पहले से ही सबकुछ पता हो। कई सारे facts, stats आदि होते हैं जिन्हें हमें ढूंढना होता है। इन्हें हम कंटेन्ट रिसर्च के माध्यम से ढूंढ सकते हैं।

कंटेन्ट रिसर्च करने के लिए हम Google, Wikipedia, Online Forums, Communities, Quora आदि का प्रयोग कर सकते हैं। इसके अलावा जिन वेबसाइटों ने उस टॉपिक के बारे में पहले से लिखा है आप उनपे जाकर भी पढ़ सकते हैं और प्राप्त जानकारी को अपने अंदाज में पेश करके शानदार पोस्ट लिख सकते हैं। 

कंटेन्ट रिसर्च करने के तरीके को हमने इस पोस्ट में विस्तार से समझाया है-


4). अपने पोस्ट की सेटिंग कर लीजिए (Blog Post Settings):

अब तक हम Keyword Research, SERP Research और Content Research कर चुके हैं अब बारी आती है अपने Blog Dashboard पर जाकर पोस्ट लिखने की।

लेकिन इससे पहले कि हम पोस्ट लिखना शुरू करें; यह जरूरी है कि हम पोस्ट की settings कर लें। जैसे-

* URL लिखें. 
* Catagories और tags लिखें
* Location डालें
* Search या Meta Description डालें
* Other Settings करें।

मैं ब्लॉगिंग करने के लिए BLOGGER प्लेटफॉर्म का use करता हूँ जिसमें ये settings कुछ इस प्रकार होती हैं-

blogger-blog-post-dashboard-showing-setting-options hindi

आप जिस भी platform का इस्तेमाल करते हैं उसके हिसाब से अपनी post settings को customize कर सकते हैं।


5). ब्लॉग पोस्ट लिखना शुरू कीजिए (Start Writing Blog Post):

अब हमारे पास पोस्ट लिखने के लिए सारी सामग्रियाँ मौजूद हैं। इसलिए अब हम पोस्ट लिखना शुरू कर सकते हैं। 

NOTE- ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले अपनी ब्लॉग पोस्ट का blueprint जरूर बना लें। ब्लूप्रिन्ट यानि यह निश्चित कर लें कि आप अपनी पोस्ट में क्या-क्या शामिल करने वाले हैं; कौन-से subheadings, कौन-कौन-से keywords? ताकि आप टॉपिक से भटकर अपनी पोस्ट को लंबा और बेकार न बना लें। 

सर्च इंजन फ़्रेंडली पोस्ट लिखने के लिए आप इन स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं-


1. पोस्ट का शानदार इन्ट्रो लिखिए (Write Blog Post INTRO):

कई ब्लॉगर सबसे पहले पोस्ट का title लिखते हैं जबकि हमें उसे शानदार बनाने के लिए सबसे बाद में लिखना चाहिए।
सबसे पहले हमें ब्लॉग का Intro लिखना चाहिए जिसमें उस पोस्ट के बारे में short में जानकारी दी होनी चाहिए।
जैसे अगर आप पढ़ाई पर पोस्ट लिख रहे हैं तो आप अपने इन्ट्रो में "पढ़ाई की जरूरत" और पढ़ाई करते वक्त होने वाली परेशानियों का शॉर्ट में जिक्र कर सकते हैं।
इसके अलावा आप अपनी पोस्ट की शुरुआत इन तरीकों से कर सकते हैं-

* एक सवाल पूछकर, जो लोगों की ज़िंदगी से जुड़ा हो। जैसे- क्या आप पढ़ाई में ध्यान लगाना चाहते हैं मगर भटकाव आपका पीछा नहीं छोड़ता?

* कोई शानदार Fact बताकर।

* उस चीज का महत्व बताकर। जैसे- पढ़ाई बहुत जरूरी है....

* किसी Quote या statement के साथ शुरुआत करें। जैसे- गाँधी जी ने कहा था कि.... (जो भी कहा था वो यहाँ पर लिख दीजिए ;) )

इन्ट्रो को हमें ज्यादा लंबा नहीं रखना चाहिए। एक अच्छा इन्ट्रो 150 से 250 शब्दों के बीच होता है इसलिए इसे बहुत ज्यादा लंबा घसीटने का प्रयास न करें। चीजों को point-to-point लिखें।

इन्ट्रो के आखिर में अपने रीडर्स को बताएँ कि इस पोस्ट में उन्हें किन-किन चीजों के बारे में जानकारी मिलने वाली है। मसलन आप लिख सकते हैं- "चलिए जानते हैं कि पढ़ाई करने से जुड़े कुछ टिप्स और टेक्नीक्स और पढ़ाई में मन लगाने का तरीका।"

इन्ट्रो की लास्ट लाइनों को highlight (Bold, Italic, Underline) कर दें क्योंकि इनमें keywords होते हैं जिनसे गूगल में पोस्ट को रैंक करने  में आसानी होती है।




📣 अगर आप Tech, Internet, Blogging, Online Earning SEO और डिजिटल मार्केटिंग जैसी चीजों से खुद को लगातार update रखना चाहते हैं तो हमारा Newsletter जरूर सबस्क्राइब करें..





2. पोस्ट की बॉडी लिखें (Write Blog Post BODY):

पोस्ट की बॉडी उसका सबसे बड़ा और जरूरी हिस्सा होता है। इसलिए इसे बड़े शानदार ढंग से लिखा जाना चाहिए। पोस्ट की बॉडी लिखते वक्त हमें इन बातों का ख्याल रखना चाहिए-

  • ब्लॉग पोस्ट की बॉडी में Subheadings, Minor Headings जैसी चीजें होती हैं जो SEO के लिहाज से बहुत जरूरी होती हैं। हमें सबहेडिंग्स और माइनर हेडिंग का अच्छे से use करना चाहिए। उनमें naturally keywords शामिल करने चाहिए।







  • हमें लंबे-लंबे paragraph लिखने से बचना चाहिए। बेहतर होगा अगर हम अपने पैराग्राफ़्स को छोटा बनाएँ और उनमें 3-4 sentences से ज्यादा insert ना करें क्योंकि छोटे पैराग्राफस पढ़ने में लोगों को ज्यादा मजा आता है।

  • बॉडी के बीच में जो important चीजें आती हैं उन्हें bold, italic और underline करें। इससे सर्च इंजनों में पोस्ट को रैंक करने में आसानी होती है। पर ऐसा तभी करें जब जरूरत हो। सिर्फ गूगल में रैंक करने के उद्देश्य से स्पैम न करें।

  • जहाँ पर जरूरी हो, अपनी पुरानी पोस्टों का link भी दें। इसे Internal Linking कहते हैं। इससे आपके pageviews बढ़ते हैं; बाउन्स रेट कम होता है और On Page SEO मजबूत होता है।


                       इन्टर्नल लिंकिंग एक्साम्पल


  • पोस्ट में Quote, विचार और बुलेट पॉइंट्स का प्रयोग करने से लोगों को उसे पढ़ने में interest आता है।

  • अगर आपके पोस्ट के टॉपिक पर जचता है तो step by step पोस्ट लिखने की कोशिश कीजिए। जैसे- पढ़ाई करने के X स्टेप्स। क्योंकि ऐसी पोस्टों के गूगल के featured snippet में रैंक करने के अच्छे chances होते हैं।

                                           google's featured snippet in hindi

  • पोस्ट में अपने personal experiences जरूर लिखें जिससे लोग motivate हों। जैसे पढ़ाई की पोस्ट में आप अपने स्कूल या कॉलेज में पढ़ाई का कोई experience लिख सकते हैं जिससे लोग उससे engage कर पाएँ। उदाहरण के तौर पर आप लिख सकते हैं कि जब मैं दसवीं क्लास में था तो मेरा पढ़ाई में बिल्कुल मन नहीं लगता था फिर मैंने........

  •  पोस्ट का फ़्लो बनाएँ रखें। पोस्ट को इस तरह लिखें कि लोगों को पढ़ने में मज़ा आए और वे उसे जल्दी-जल्दी पढ़ें। अगर आप एक हिन्दी ब्लॉग लिखते हैं तो उसमें कभी-कभार english शब्दों का प्रयोग करने से आप पोस्ट का flow बढ़ा सकते हैं। साहित्य और काव्य हिन्दी ब्लॉग में ऐसा करने से बचें।

  • पोस्ट को रोमांचक तरीके से लिखें। उसे इस तरह से लिखें जैसे कोई फिल्म की script हो और आगे क्या होने वाला है इसका पाठक को तनिक भी अंदाजा न हो। इस तरह लोग आपके ब्लॉग से चिपके रहेंगे।




  • दूसरे ब्लॉग्स, जो आपके ही जैसे टॉपिक पर लिखते हैं, की कमियों को ढूंढिए और अपने ब्लॉग में उन्हें सुधारिए। सोचिए लोग आपके ब्लॉग पर क्यों आएं ; आपके ब्लॉग में ऐसी क्या खूबी है जिससे लोगों को फायदा हो? अगर आपको इस सवाल का जवाब मिल जाए तो उसे अपने ब्लॉग पर apply कीजिए और फिर देखिए आपका traffic कैसे बढ़ता है...

  • अगर आप किसी technique के बारे में लोगों को बता रहें तो वह सच में काम करती है, इसका सबूत भी लोगों को दिखाइए ताकि वे उसे पूरे विश्वास के साथ इस्तेमाल कर सके। जैसे- अगर आप पढ़ाई करने की technique बता रहे हैं तो आप लोगों को बता सकते हैं कि इस टेक्नीक को use करके आपने अपने स्कूल या क्लास में टॉप किया था। इससे लोगों का विश्वास बढ़ता है। लेकिन झूट बोलकर लोगों का विश्वास न तोड़ें।

  • अपनी भाषा को अच्छा बनाइये। fancy शब्दों का इस्तेमाल कीजिए जिन्हें पढ़ने में लोगों को मज़ा आए लेकिन बहुत ज्यादा कठिन शब्दों का इस्तेमाल करने से बचें।

  •  अपना राइटिंग स्टाइल शानदार बनाइये क्योंकि यही वो चीज है जो लोगों को बार-बार आपके ब्लॉग की तरफ खींचती है उन्हें आपका loyal reader बनाती है।




  • कई बार रीडर्स को आर्टिकल पढ़ते-पढ़ते किसी चीज की जरूरत पड जाती है जैसे- किसी वेबसाइट के link की। अगर आपको लगता है कि लोगों को किसी link से मदद मिल सकती है तो उसे अपनी पोस्ट में जरूर शामिल करें। इसके अलावा अच्छे फोटो और विडिओ भी लोगों को मदद मिल सकती है और आपकी वेबसाइट का user experience भी बेहतर बन सकता है।

  • अगर आपका ब्लॉग भी मेरी तरह मातृभाषा हिन्दी में है तो आप headings और subheadings में हिन्दी के साथ-साथ english कीवर्डस का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। जैसे- टाइटल- पढ़ाई कैसे करें? | How to study in hindi ऐसा करना इसलिए जरूरी है क्योंकि कई लोग इंग्लिश के माध्यम से भी हिन्दी सर्च करते हैं; जैसे- "How to do study in hindi".


ध्यान रहे- "पढ़ाई कैसे करें" और "Padhai Kaise Karein" इन दोनों keywords को गूगल एक जैसा ही मानता है इसलिए आपको रोमन हिन्दी keywords (Padhai Kaise Karein) को अलग-से अपने ब्लॉग में शामिल करने की कोई जरूरत नहीं है।

पोस्ट की बॉडी में कीवर्डस का प्रयोग-

  • हमें अपने सबसे जरूरी keyword का उपयोग heading में करना चाहिए। उसके बाद हमें subheadings और माइनर headings में भी हमें LSI keywords का प्रयोग करना चाहिए।

  • इसके अलावा हमें पोस्ट में जरूरी पॉइंट्स को bold, italic और underline करके हाईलाइट भी करना चाहिए।


3. पोस्ट का अंत लिखें (Write Blog Post CONCLUSION):

पोस्ट के लास्ट में यानि बॉडी खत्म होने के बाद हमें उसका एक conclusion भी लिखना चाहिए जिसमें हमें पोस्ट से जुड़ा एक conclusive statement लिखना चाहिए और रीडर के लिए Call-To- Action लिखना चाहिए।

जैसे- (Conclusive Statement) पढ़ाई हमें सिर्फ नंबर्स के लिए नहीं करनी चाहिए बल्कि कुछ सीखने के उद्देश्य से करनी चाहिए। (CTA) अगर आप भी इस बात को मानते हैं तो हमें कमेन्ट बॉक्स के माध्यम से अपने विचार जरूर बताएँ और इस पोस्ट को अपने लोगों के साथ भी शेयर करें।

कॉल-टू-एक्शन के माध्यम से हम रीडर को कुछ करने के लीये कहते हैं। जैसे- ब्लॉग सबस्क्राइब करने को, यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करने को, कमेन्ट करने को या फिर पोस्ट को शेयर करने को।

इसलिए पोस्ट का कन्क्लूशन हमारे ब्लॉग के लिए बेहद जरूरी है।


4). ब्लॉग पोस्ट मीडिया शामिल करें (Upload Blog Post MEDIA):

ब्लॉग पोस्ट में मीडिया का मतलब फोटो, विडिओ, इन्फोग्राफिक्स आदि से है।

ये हमारे ब्लॉग के लिए बहुत जरूरी हैं। क्योंकि एक तो इनसे लोगों  को पोस्ट को समझने में फायदा होता है यानि User Experience सुधरता है और दूसरा इनसे सर्च इंजनों में हमारे ब्लॉग की visibility बढ़ती है। इसलिए हमें इनका प्रयोग अपने ब्लॉग पर बेहद समझदारी से करना चाहिए।


1. फोटो SEO-

ब्लॉग पोस्ट की length और type पर निर्भर करता है कि हमें उसमें कितनी images की जरूरत होगी। वैसे generally हमें कम से कम 3 images का इस्तेमाल अपने ब्लॉग पर करना ही चाहिए।

In case, अगर आप How-to पोस्ट लिख रहे हैं तो आपको ज्यादा images की जरूरत पड सकती है।

ब्लॉग में इमेजेस का भी seo किया जाता है ताकि वे Google Image Search में टॉप पर दिखें जहाँ से काफी अच्छा traffic आता है। इमेज seo करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करना चाहिए.


  •  फोटो के name में उससे रिलेटेड keywords डालें। जैसे- अगर किसी पढ़ाई करने वाले व्यक्ति की फोटो हैं तो आप उस फोटो का नाम studying-man. रख सकते हैं।
  • फोटो में alt-tag का इस्तेमाल करें। इससे उनकी rankings में सुधार आता है।
                   blogger image alt tag input in image

  • फोटो में relevant caption/attribute दें (in case कि अगर आप copyrighted images का उपयोग कर रहे हैं).

2. वीडियो SEO-

मैंने खुद महसूस किया है कि ब्लॉग में अच्छी videos (खासकर यूट्यूब वीडियोज़) upload या embed करने से रैंकिंग्स और ट्राफिक में सुधार आता है। इसलिए जिस पोस्ट में जरूरत हो, उसमें विडिओ जरूर use करें। विडिओ seo इस तरह से करें-
  • अगर आप विडिओ अपलोड कर रहे हैं तो उसे rename करके उसके नाम में keywords डालें।
  • विडिओ अपलोड करने से बेहतर विकल्प है- यूट्यूब से विडिओ embed करना। ये seo के लिए ज्यादा बेहतर हैं। आप चाहें तो अपने यूट्यूब चैनल की videos को अपने ब्लॉग पर embed कर सकते हो; लेकिन अगर आपका खुद का चैनल नहीं है तो आप किसी अच्छे से चैनल की विडिओ ढूंढकर उसे अपने ब्लॉग पर embed कर सकते हो।

3. इन्फोग्राफिक SEO-

इन्फोग्राफिक वे फ़ोटोज़ होती हैं जो लोगों को information देती हैं। जैसे यह एक infographic है-

inforgraphic-example

ये भी एक तरह की images होते हैं इसलिए इनका SEO पूरी तरह से इमेजेस के जैसे होता है।

जब आपका पोस्ट ready हो जाए तो उसे publish कर दीजिए और उसे social sites पर शेयर कीजिए और उसका OFF-page SEO कीजिए। 

ब्लॉग लिखते वक्त इन बातों का रखें ख्याल (SEO Blog Writing Tips Hindi):

अगर आप अपनी ब्लॉग पोस्ट को शानदार बनाना चाहते हैं तो ब्लॉग लिखते वक्त इन बातों का ख्याल रखना पड़ेगा-

1. कीवर्ड स्टफिंग ना करें- कीवर्ड स्टफिंग यानि keywords का जानबूझकर बहुत ज्यादा बार use करना। कीवर्डस का कम use करें लेकिन जहाँ भी करें शानदार तरीके से करें। जैसे- हेडिंग में, सबहेडिंग में, माइनर हेडिंग में। कीवर्डस का ज्यादा नहीं बल्कि सही यूज किया जाना चाहिए।

2. राइटिंग स्टाइल बेहतर बनाइये- राइटिंग स्टाइल लोगों को आपके ब्लॉग से जोड़े रखता है इसलिए इसपे खासा ध्यान दें। रोज कुछ-न-कुछ लिखते रहिए; कुछ ही महीनों में आपको फर्क दिखने लगेगा। दूसरे ब्लॉग्स पढिए और उनका राइटिंग स्टाइल देखिए और उनसे सीखिए। Achhikhabar.com ब्लॉग के लेखक गोपाल मिश्रा जी का लेखन तरीका उल्लेखनीय है।

3. ब्लॉग पोस्ट किसी व्यक्ति से पढ़वाइए- आपने पोस्ट को पूरा कर लिया है; अब इससे पहले कि आप publish का बटन दबाएं, उस पोस्ट को अपने किसी family member या दोस्त से पढ़वा लीजिए। ऐसा करने से आप जान पाएंगे कि आप कैसा लिखते हैं और कहाँ पे सुधार की गुंजाइश है।

याद रहे, अपनी पोस्ट को खुद पढ़ने में आपको कोई मजा नहीं आएगा क्योंकि वो जानकारी हमें पहले से ही पता है। उसकी असली वैल्यू सिर्फ वही समझ सकता है जिसकी उसे सच में जरूरत है।

4. फीडबैक लीजिए- अपने रीडर्स, दोस्तों और परिवार के लोगों से अपने ब्लॉग पर फीडबैक लीजिए। उनसे पूछिए कि आप कैसा लिखते हैं और क्या-क्या सुधार आप अपने ब्लॉग में कर सकते हैं। इससे आप एक बेहतर ब्लॉगर बन सकेंगे।

5. सीखना मत छोड़िए- अगर आपने किसी ब्लॉग पोस्ट में कुछ नया किया और इससे वो ब्लॉग पोस्ट गूगल में रैंक हो गई तो उस technique को दोबारा इस्तेमाल कीजिए। अगर आपने अपने राइटिंग स्टाइल में बदलाव किया और लोगों को वह पसंद आया तो उसे जारी रखिए।

इसके उलट अगर आपके ब्लॉग की कोई चीज लोगों को पसंद नहीं आती है तो उसे हटाने का प्रयास कीजिए। इस तरह कुछ-न-कुछ नया करते रहिए और सबसे जरूरी बात उसे अपने ब्लॉग पर अप्लाइ भी कीजिए।



ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 

ब्लॉगिंग कोई टेक्नीक नहीं है जिसे आप चंद मिनटों में सीख सकते हैं बल्कि यह एक स्किल है जिसे सीखने में काफी वक्त लगता है। SEO बहुत सारी techniques का जमावड़ा है जिसे आप try and test करके सीख सकते हैं। इसलिए नई-नई चीजें ट्राइ करते रहिए और सीखते रहिए! 


तो दोस्तों यही था "ब्लॉग पोस्ट का एसईओ/SEO Blog Writing In Hindi" पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। (3390 Words)





📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?



   

Post a Comment

14 Comments

  1. Bahut badhiya Navin ji, bahut badhiya post hai, bahut hi achchi jankari hai, isase kaafi madad milegi, dhanyawad

    ReplyDelete
  2. Sir I'm a new blogger. I chose niche "English grammar ". Kya ye niche shi ni hai new blogger k lie rank krne me?

    ReplyDelete
    Replies
    1. agr aap english mei hi english grammer sikhaogi to competition zyada hai kyonki ispe all over world se content aataa hai aur badi badi sites (e.g. cambridge, oxford, urban dictionaries) se aapko compete krnaa padega.. jbki hindi ya kisi regional langauge me english grammer sikhaane pe aapko bahut hi km competition krnaa padega aur aap aasaani se apne readers ko koi course bech skte hain yaa fir unhe koi unhe english training deke charge kr skte hain..

      Delete
  3. Maine aapka blog or kafi saari blog post read kari hai par main confidence nahi gain kar pa raha ho blogging karne mein. Saari information read karne k baad bhi samjh nahi aa raha ki kya mein ek acha blog likh sakta ho aapki tarah. Wo ek post likhne mein bahut zyada problem ho rahi hai. Kya mein likh sakta ho samajh nahi aa raha hai. Mere mind mein kaafi saare interesting topics hai jispar mein likhna chahta hoo par shuruaat nahi ho paa rahi hai in 3 reasons se.

    1) Blog niche
    2) blog writing
    3) blog name selection
    4) how many images to use in a blog?
    5) I don't have videos
    6) How to write intersting content?
    7) I should write first 4 to 5 lines of intro and than use the image and than write about the headline?

    Regards
    Sumit

    ReplyDelete
    Replies
    1. Hi Sumit,
      Agr aapko lgta hai ki aap blogging mein shuruaat me bahut saari gltiya krne waale ho aur iski wjh se aapkaa morale down hai to behtr hoga ki aap ek dummy blog banayein jispe aap shuruaat me kisi bhi random topic pe likhein. is blog se aapkaa sirf ek hi mksd hona chaiye aur wo hai blogging basics ko seekhna...

      ek baar jb aap apne dummy blog pe 8-10 post likh denge to iske baad aapko ptaa chl jaayega ki aapko kon-se topic mein interest hai aur kya aap usme achcha likh skte hain... iske alaawaa internet pe aisi bahut saari postein hain jinki mdd se apne blog ke liye achche naam dhoond skte hain.. (hamaare is blog pe bhi aisi hi ek post available hai)..

      THINGS TO KEEP IN MIND-
      1. dummy blog mein paise na invest karein (blogspot.com pe ek free subdomain wala blog banakar blogging karein) almost 2 mahinon tk

      2. jb aapko lage ki aapko blogging ka pryaapt anubhv ho chuka hai toh tb aap apne liye naya blog bana skte hain yaa fir usi blog pe aage kaam kr skte hain.

      aapke dwara pooche gaye sawaalo ke jawaab kuch is trh hai-

      1. aapko us niche (yani topic) pr likhna chaahiye jismein aapkaa interest ho aur agr aap money blogging krna chaahte hain to aapko uski CPC aur search volume bhi check krna chahiye. eg. shayari, lifestyle, science and the list goes on.

      2. blog writing ke liye aapko writing ki kuch basic effective techniques ko seekhna hoga jiske baare mein hmne is blog par ek post likhi hai..

      3. blog name selection- blog name ke liye aap apni mrzi se koi naam rkh skte hain.. ispe bhi hmne apne blog pr post likhi hai..

      4. How many images to use in a blog post?- vaise toh iski koi limit nahin hai lekin seo ke hisaab se aapko atleast 2 images to apne blog mein use krni hi chaahiye. vaise aapki post ke word count ke hisaab se ye number differ krta hai... iske liye aap image seo pr hamaari post pdh skte hain.

      5. I don't have videos- aapke paas agr khud ka original video content nahin hai to aap dusre youtube channels ki achhi videos (jisse aapke readers ko faaydaa ho) ko apne blog pr embed kr skte hian.

      6. Interesting content kaise likhein?- Interesting content likhne ke liye aap apne content mein apne experience, kisse aadi share kr skte hain.

      7. I should write first 4 to 5 lines of intro and than use the image and than write about the headline?- hn aap aisa kr skte hain.. (by the way aisa hi ham apne blog pr bhi krte hain...


      hope it helps!

      for further discussion- singhnavinrangar@gmail.com

      Delete
    2. Thanks!

      I already made blog 2 times but deleted because i face difficulty in understanding the layout part little bit. I want to know few more things. I'm trying to write and share my thoughts with the world. I know i can write but since i don't have the practice so it's creating problems.

      1)What should be the size of the images in the blog post?
      2)What size of Blog post heading and subheadings?
      3)What should be the blog-post word limit?
      4)What Hindi tools i can use apart from google ?
      5)Can i write blog after reading other blog in my own language?
      6)My niche would be Digital marketing and some other things. Basically, I want to write on Digital Marketing.
      7)Which theme is best for blog?
      8)Website names please?
      9) Facing problem in domain selection?

      Can, you share all the important blog-post of your blog related to blog here?

      Delete
    3. You seem pretty curious, man. I like this kinda audience.

      All the questions youve asked here are very basic things. TBH it would be better and time saving for you to google them.

      All the same, here are answers from my side:

      1). What should be the size of the images in the blog post?- Image Size could be anything from Xs, S, M, L to XL. It depends upon your blog theme and type of your topic and audience. In general, Medium is good to go with.

      2)What size of Blog post heading and subheadings?- Go with default sizes for headings and all the rest subheadings.

      3)What should be the blog-post word limit?- Depends upon your topic and your audience type. In general, try writing over 600 words and there is no limit for maximum.

      4) What Hindi tools i can use apart from google ?- Tools are language independent although they have less data for languages like our maatrbhasha hindi :(. You can use free tools like Ubersuggest and Google Keyword Planner.

      5). Can i write blog after reading other blog in my own language?- yes you can!! In fact,Everyone does. I too do so.


      6)My niche would be Digital marketing and some other things. Basically, I want to write on Digital Marketing.- Its less competitive when it comes to hindi but try avoiding going into digital marketing with english.

      7)Which theme is best for blog?- Themes are platform dependent. Wordpress has different themes while blogspot has different. My blog is on blogspot, so i use a theme by TemplateYard. I don't remember the name exactly, though :(

      8)Website names please?- For blogspot templates- Goyaababi (spelling might be wrong), TemplateYard. For more just search on google for- "Blogspot blog templates".

      9) Facing problem in domain selection?- If you want to target internationally, go for .com, net or .co. Else go with .in .

      Can, you share all the important blog-post of your blog related to blog here?- sorry I cant do this. Our blog navigation is extremely simple. Just find the BLOGGING catagory and you'll find all the blogging related posts there. It's that simple. or you can also use the search bar at the top of our blog beside of site menu.

      Thanks for sharing your doubts. i hope It was helpful.

      Delete
    4. Yes, I am a very curious guy and the words like how, what, why always attracts me a lot. I've learned about blogging, freelancing and many more things on YouTube. I'm still learning. I made my blog yesterday. I have yet to post my first post in Hindi. As, you written in your blog that a blog post blueprint should be there before writing a post. I have selected some categories. I want to know about the drop down links in the menu section. For example I make five categories in the menu. I know i can edit in the layout section of the blog. But how to add those subcategories under a particular menu button. I didn't purchased a domain yet. But, i will and i do have the name in my mind. I also want to know that are you running any other blog or website. I do have several projects in my mind for different websites. I also google about the questions but it's better to get the answers from a blogger himself. It helps a lot.

      1)How many blog post you write everyday?
      2) What's the best time to write and share the post?


      Delete
    5. FYI, I don't have any other except sochokuchnaya. But I m willing to launch a new one with one of my friend.

      Answers to your questions:

      1). How many blog post you write everyday?- Don't go after the number; chase the quality. Don't worry about the article count. Before you hit the publish button do indepth research regarding the topic you are writing about. Engage you audience and you are there.

      2). What's the best time to write and share the post?- I dont count on these tactics too much but just for the sake of your curiousity I would say it is evening time when most of the peeps are free. To be exact, 4 to 8 PM.


      To quench more of your curiousity feel free to wave me @ +91 6399016748 through WA. Happy to help.

      Delete
    6. Thanks for sharing your number and i apologize for writing comments after comments. I have created my blog but still some things i want to know and it's confusing me little bit.

      1)I'm using Magma blogger theme. In this theme's layout some areas are there where the written blogpost i can add in a particular category by giving a label name. Now, If i write a post i don't know how to add that post in a category and give label name?

      2)Categories are same like i add in menu section like home, internet, blogging etc.?
      3)Is there any option to remove the footer where the template yard or gooyla templates is written. I can edit in HTML but when I CTRL+F= find than that thing is not showing?

      4) I need to make home, contact, about page and than add the links of the pages to menu option. I tried but link in not building. So, kindly let me know how to connect about us, contact pages to menu section?

      5)I forgot to ask about your earnings. So, how much your blog earning for you?

      Delete
    7. Here are the answers in short-

      1). When you write the post there are option available by what you can add your post into an existing category or simply you can create a new one.

      2). Yes they are! In Menu we usually add the pages of our website (including about/contact us/policies etc) while in categories we mostly add useful content.

      3). Don't do this in free blogspot themes. Let them take credit. (Even I hvnt done it).

      4). To add these pages to menu you have options in layout.

      5). Sorry but I don't like talking about money related stuff.

      Delete
  4. बहुत-बहुत धन्यवाद नवीन जी ।

    ReplyDelete

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!