Top Ad

ब्लॉगिंग कैसे सीखें और करें? | How to Learn & Do Blogging in Hindi (2020)

"मैं ब्लॉगिंग कैसे सीख सकता हूँ?"
अगर आप किसी अनुभवी ब्लॉगर से यह सवाल पूछते हैं तो मैं निश्चित रूप से कह सकता हूँ कि उसका जवाब कुछ इस तरह होगा- "ब्लॉगिंग को आप सिर्फ ब्लॉग लिखकर ही सीख सकते हैं।"
laptop and pen laid over diary
ब्लॉगिंग कोई theoretical चीज नहीं है, जिसे आप कुछ theories के द्वारा सीख सकते हैं बल्कि यह एक practical skill है जिसे सीखने के लिए यह जरूरी है कि आप खुद मैदान में उतरें और संघर्ष करके इसे सीखे।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको इसी के बारे में चर्चा करने वाले हैं कि कैसे आप ब्लॉगिंग करके ब्लॉगिंग सीख सकते हैं और कौन-कौन सी चीजें इस काम को आसान बनाने में आपकी मदद कर सकती हैं-

ब्लॉगिंग सीखने और करने के तरीके/Best Ways to Learn & Do Blogging in Hindi








इससे पहले कि हम ब्लॉगिंग सीखने के तरीकों के बारे में बात करें, थोड़ा इसकी बेसिक बातों के बारे में जान लेते हैं-



1). ब्लॉगिंग क्या है? (Meaning of Blogging):

इंटरनेट के माध्यम से लोगों को टेक्स्ट रूप में जानकारी देने के काम को Blogging कहा जाता है। 


जिस वेबसाइट के द्वारा हम ब्लॉगिंग करते हैं उसे Blog  कहते हैं। 


और जो व्यक्ति ब्लॉगिंग करता है उसे Blogger कहा जाता है। 







* ब्लॉग Start कैसे करें?

ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए आपको कुछ इन चीजों की जरूरत होती है-

  • एक कंप्यूटर, स्मार्टफोन या टैबलेट
  • इंटरनेट कनेक्शन
  • टायपिंग स्किल
  • अच्छी राइटिंग स्किल
  • थोड़ा-सा पैसा {बिना पैसे के भी आप ब्लॉगिंग कर सकते हैं :) }

ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको एक ब्लॉग की जरूरत होगी। ब्लॉग कैसे बनाते हैं चलिए जानते हैं। 




2). ब्लॉग कैसे बनाते हैं? (Making A Blog):

आप कंप्यूटर और स्मार्टफोन की मदद से आसानी से ब्लॉग बना सकते हैं। अगर आप फ्री में ब्लॉग बनाना चाहते हैं तो वो भी कर सकते हैं। 


  • इसके लिए सबसे पहले Blogger.com पर चले जाना है। 
  • इसके बाद आपको वहाँ पर Create New Blog का option दिखेगा जिसकी मदद से आपको ब्लॉग बना देना है। 
  • इसके बाद आपको अपने ब्लॉग का नाम रखना है; उसका URL सेट करना है और उसके लिए एक अच्छा सा design या layout सिलेक्ट कर देना है।
  • इस तरह से आपका ब्लॉग तैयार हो जाता है जिसमें अब आप आसानी से ब्लॉगिंग कर सकते हैं। 




3). क्या मोबाइल से ब्लॉगिंग कर सकते हैं? (Blogging with Mobile/Smartphone):

यह ब्लॉग (sochokuchnaya.com) जिसपे आप अभी ये पोस्ट पढ़ रहे हैं मैंने 2 साल पहले अपने Smartphone से ही बनाया था। और अगर मैं कर सकता हूँ तो आप भी जरूर कर सकते हैं।


कई सारे लोगों के पास Computer नहीं होता जिसके कारण उन्हें लगता है कि वे ब्लॉगिंग नहीं कर पाएंगे; जबकि ऐसा नहीं है। ब्लॉगिंग करने के लिए आपके पास internet connection होना जरूरी है अब चाहे वह फोन में हो या कंप्युटर में, इससे आपके ब्लॉग पर कोई बहुत ज्यादा फरक नहीं पड़ता। 


हालांकि अगर आपके पास कंप्युटर या फिर कोई अच्छा डिवाइस है तो ब्लॉग को मैनेज करना आसान हो जाता है। आप ज्यादा जल्दी लिख सकते हैं और कई एक्स्ट्रा चीजें कर सकते हैं जो मोबाइल आपको करने की अनुमति नहीं देता है। 


अगर आप में लिखने और लोगों को जानकारी देने के प्रति जुनून है तो आप smartphone से भी अपने ब्लॉग को सफल बना सकते हैं; बस लोगों को आपका लिखा हुआ पसंद आना चाहिए.. 



4). ब्लॉगिंग से पैसा कैसे कमाएँ? (Earn Money Through Blogging):

एक बार जब लोग आपका कंटेन्ट पसंद करने लगते हैं और आपकी वेबसाइट पे अच्छा-खासा traffic आने लगता है तो आप ब्लॉगिंग से अच्छा पैसा कमा सकते हैं।


हालांकि अगर आप ब्लॉगिंग की शुरुआत में ही पैसे की सोचने लगते हैं तो आपके ब्लॉगिंग के माध्यम से पैसा कमाने की संभावना उतनी ही ज्यादा कम हो जाती है। इसलिए सोचिए कम और करिए ज्यादा!


ब्लॉग बनाने के बाद उसमें एक अच्छी-सी seo friendly थीम यानि लेआउट लगाएँ। इसके बाद उसमें About Us, Contact Us, Privacy Policy और Disclaimer जैसे पेज बनाएँ और करीब 10-15 शानदार पोस्टें लिखें। इसके बाद आप चाहें तो Google Adsense के लिए apply कर सकते हैं और approval मिलने के बाद आप अपनी वेबसाइट पर ad serve करके पैसे कमा सकते हैं।


मगर याद रखें-

जब तक आपके ब्लॉग पर traffic नहीं होगा; तब तक आपके adsense approval का कोई खास फायदा नहीं होगा!



कई नए ब्लॉगरों को अक्सर यह सवाल परेशान करता है कि एक महीने में 100 डॉलर कमाने के लिए हमें daily कितने traffic की आवश्यकता होगी? इसका जवाब है- "निर्भर करता है आपके ब्लॉग के टॉपिक पर और उस ट्रैफिक कहाँ से आता है इस पर"


सामान्य टॉपिक पर बनें एक हिन्दी ब्लॉग (जिसका ज़्यादातर ट्रैफिक India से आता है) से महीने में 100 Dollar कमाने के लिए लगभग 4000 Visitors/Day की जरूरत होगी। 







5). ब्लॉगिंग कैसे और कहाँ से सीखें? (Where & How to Learn Blogging):

ब्लॉगिंग सीखने का सबसे अच्छा तरीका है- अपना खुद का एक blog बनाना और उसपे पोस्ट लिखकर ब्लॉगिंग सीखना। हालांकि अगर आप कम समय में ब्लॉगिंग सीखना चाहते हैं और test & try करने का आपका कोई विचार नहीं हैं तो कुछ ऐसे तरीके हैं जिनकी मदद से आप जल्दी से theoretical तरीके से ब्लॉगिंग सीख सकते हैं। पेश हैं ऐसे ही कुछ प्रमुख तरीके-


1. दूसरे ब्लॉग पढ़ें (Read Other Blogs)-

ब्लॉगिंग की सबसे शानदार बात यह है कि आप इसे दूसरों के ब्लॉग पढ़कर सीख सकते हैं। इंटरनेट पर ऐसे बहुत सारे ब्लॉग हैं जो ब्लॉगिंग के बारे में जानकारी देते हैं आप उनके रीडर बनकर free of cost ब्लॉगिंग सीख सकते हैं। हमारा ब्लॉग 'सोचोकुछनया.कॉम' भी आपको ब्लॉगिंग के बारे में जानकारी देता है। 










ब्लॉगिंग से जुड़े प्रमुख अंग्रेजी ब्लॉग्स-

ShoutMeLoud.Com

NeilPatel.Com,

Backlinko.Com

WPBeginers.Com, Bloggingbasic101.Com




ब्लॉगिंग सिखाने वाले हिन्दी ब्लॉग-

supportmeindia.com

hindimehelp.com,

blogginghindi.com



2. यूट्यूब वीडियोज़ की मदद लें (Watch YT Videos)-

यूट्यूब आज गूगल के बाद सबसे ज्यादा पॉपुलर सर्च इंजन है। इसमें बहुत-बहुत-बहुत बड़ी मात्रा में शानदार Content मौजूद है। आप चाहें तो इसकी मदद से आसानी से Blogging Techniques और SEO सीख सकते हैं और उन्हें अपने ब्लॉग पर इस्तेमाल कर सकते हैं। 


red colored youtube logo with white play button at the centre


ब्लॉगिंग सीखने के कुछ पॉपुलर यूट्यूब चैनल- 

Neil Patel,


Backlinko,


Power Hub,


Hindi Me Jankari,


Techno Vedant, 


3. ऑनलाइन कोर्स करें? (Try Online Courses):

आजकल इंटरनेट पर ऐसे बहुत सारे free और paid courses मौजूद हैं जिनकी मदद से आप बहुत ही आसानी से ब्लॉगिंग तकनीकें सीख सकते हैं।


ब्लॉगिंग से संबंधित कुछ फ्री ऑनलाइन कोर्स हैं- 30 Day Blog Transformation Challenge





4. फ़ेसबुक ग्रुप्स और ऑनलाइन समुदायों से जुड़िये (Join Fb Groups & Online Communities):

"लॉ ऑफ अट्रैक्शन" कहता है- "जिन चीजों से आप ज्यादातर घिरे रहते हैं यानि जिनके बारे में आप सोचते हैं, देखते हैं और उन्हें करते हैं वही आप बन जाते हैं।"


ज़िंदगी से जुड़े इस नियम के मुताबिक अगर आपको एक अच्छा ब्लॉगर बनना है तो आपको अपना ज्यादातर वक्त ब्लॉगिंग के बारे में सोचने, उससे अपडेट रहने और उसे करने में बिताना होगा।


ब्लॉगिंग के बारे में सोचने के लिए आप नए-नए आइडियों पर विचार कर सकते हैं।

ब्लॉगिंग करने के लिए आप अपना ब्लॉग लिख सकते हैं। 


ब्लॉगिंग की दुनिया से खुद को लगातार अपडेट रखने के लिए आप 3 फ़ेसबुक और लिंकडिन पर ब्लॉगिंग ग्रुप जॉइन कर सकते हैं और Quora जैसी साइटों पर blogging topics को फॉलो कर सकते हैं।यूट्यूब पर ब्लॉगिंग चैनल सबस्क्राइब कीजिए और ब्लॉगिंग और seo से संबंधित ब्लॉग्स का newsletter subscribe कीजिए।


इस तरह आप ब्लॉगिंग फील्ड से जुड़े रहेंगे और बेहतर ब्लॉगर बन पाएंगे।



📣 अगर आप Tech, Internet, Blogging, Online Earning SEO और डिजिटल मार्केटिंग जैसी चीजों से खुद को लगातार update रखना चाहते हैं तो हमारा Newsletter जरूर सबस्क्राइब करें..





5. ब्लॉगिंग करना ही ब्लॉगिंग सीखने का सबसे अच्छा तरीका है? (Learn Blogging by Doing it):

किसी ने कहा है- "दुनिया का सबसे कठिन काम किसी काम की शुरुआत करना है।" ब्लॉगिंग पे भी यह बात लागू होती है। 


बहुत सारे लोग चाहते हैं कि जब वे अपना ब्लॉग बनाएँ तो उनसे कोई भी गलती न हो; इसके लिए वे ब्लॉगिंग के बारे में बहुत सारी जानकारी इकट्टी करते हैं जिससे उन्हें लगता है कि उन्हें ब्लॉगिंग बहुत अच्छी तरह से समझ आ गई है। जबकि असल में ऐसा नहीं होता है।


कोई भी काम हमें तब तक नहीं आता जब तक हम उसे स्वयं नहीं कर लेते हैं। ऐसा ही कुछ ब्लॉगिंग के साथ भी है। ब्लॉगिंग आपको तब तक नहीं आएगी जब तक आप इसे खुद नहीं करोगे और गलतियाँ नहीं करोगे।


coat wearing man working on laptop on desk


याद रखिए अगर आप गलतियाँ नहीं कर रहे हो इसका मतलब आप कुछ नया नहीं सीख रहे हो। मैंने भी ब्लॉगिंग के शुरुआत में काफी सारी गलतियाँ की थी। जैसे- मैंने ब्लॉगिंग करने के लिए गलत प्लेटफॉर्म का चुनाव किया, ब्लॉग को रेगुलरली अपडेट नहीं किया इत्यादि। लेकिन आज जब मैं अपनी गलतियों पर पीछे मुड़कर देखता हूँ तो पाता हूँ कि इन्हीं गलतियों के कारण मैं ब्लॉगिंग को अच्छी तरह से सीख पाया। 


इसलिए गलतियाँ कीजिए। कुछ भी परफेक्ट नहीं होता!


ये कुछ स्टेप्स हैं जो ब्लॉगिंग के आपके सफर को थोड़ा-सा आसान बना सकते हैं-










6). ब्लॉगिंग करने का सही तरीका (Right Ways to do Blogging):

अच्छी तरह ब्लॉगिंग करने के लिए आपको इन चीजों को फॉलो करना चाहिए-

1. ब्लॉगिंग सीखने के लिए एक डमी ब्लॉग बनाएँ (Make A Dummy Blog):

अगर आपको लगता है कि आपको ब्लॉगिंग का 'B' भी नहीं आता है और आपको आपको इस बात का एहसास है कि आप ब्लॉगिंग करते वक्त बहुत सारी गलतियाँ जरूर करेंगे तो आप इन गलतियों से बचने के लिए एक dummy ब्लॉग बना सकते हैं। जिसपे कुछ दिनों तक ब्लॉगिंग सीखने के बाद आप नया और बेहतर ब्लॉग बना सकते हैं और उस पर शानदार ढंग से ब्लॉगिंग कर सकते हैं।


उदाहरण के तौर पर, जनवरी 2017 में जब मैंने ब्लॉगिंग की शुरुआत की थी तो मैंने भी अपने लिए sochokuchnaya.simplesite.com एक dummy blog बनाया था


इस ब्लॉग पर 2-3 महीने ब्लॉगिंग करने के बाद जब मुझे ब्लॉगिंग का पर्याप्त "Practical experience" हो गया और मैं अच्छी पोस्टें लिखने लगा तो मैंने blogspot.com पर नया ब्लॉग बना दिया। और यह वही ब्लॉग है जिस पर आप अभी यह पोस्ट पढ़ रहे हैं।


2. सीखें और अप्लाइ करें (Learn & Apply):

अगर आप ब्लॉगिंग सीख रहे हैं तो जाहिर सी बात है कि आप उसके बारे में article पढ़ रहे होंगे और videos भी देख रहे होंगे। है ना?


अब जो knowledge आपको इन चीजों से मिल रहा है उसे अपने ब्लॉग पर लागू भी करें। जैसे- अगर आपको पता चला कि detailed posts को गूगल अच्छी वरीयता देता है तो अपने ब्लॉग पर detailed post जरूर लिखीये और पता लगाइए कि यह technique क्या सच में काम करती है और अगर करती है तो इसे अपनी भावी पोस्टों पर भी जरूर उपयोग करें।


3. ऑबसर्व करें (Do Obeserve):

अपने ब्लॉग की growth को ट्रैक करने के लिए हमारे पास बहुत सारे tools होते हैं जिनमें Google Analytics और Google Search Console प्रमुख हैं।


इन टूल्स की मदद से हम यह पता लगा सकते हैं हमारी कौन-सी पोस्ट लोगों द्वारा सबसे ज्यादा पसंद की जा रही है और कौन-सी सबसे कम।


एक बार जब आपको यह पता चल जाए तो अपनी सबसे पॉपुलर पोस्ट को open कीजिए और पता लगाइए कि इसमें आपने ऐसा क्या किया था कि यह लोगों के बीच इतनी ज्यादा पॉपुलर हुई?


यही अपने ब्लॉग की सबसे कम पॉपुलर पोस्ट के साथ भी करिए और पता लगाइए कि उसमें आपने कौन-सी गलतियाँ की थी जिसके कारण वह पॉपुलर नहीं हो पाई?


एक बार जब आप जान लेते हैं कि कौन-सी चीज लोग पसंद करते हैं और कौन-सी नहीं तो फिर आप सही चीजों को भविष्य में अपने ब्लॉग पर apply कर सकते हैं और अपने ब्लॉग को और बेहतर बना सकते हैं।



4. अपनी राइटिंग स्किल बेहतर बनाइये (Improve Your Writing Skill):

क्या कारण है कि लोग कहानी की किताबे घंटों तक पढ़ सकते हैं जबकि सिलेबस की किताबें पढ़ने में ज्यादातर लोगों का मन नहीं लगता?


वजह है- लिखने का तरीका।


लोगों को वे आर्टिकल पसंद आते हैं जिनमें suspense हो, thrill हो, story हो और बेहतर जानकारी हो। इसलिए अगर आपको अपना ब्लॉग बेहतर बनाना है और रीडर्स को उससे चिपकाए रखना है तो आपको अपने writing style पर अच्छा-खासा ध्यान देना होगा। 









5. डिजिटल मार्केटिंग यानि ब्लॉग को प्रमोट करना सीखें (Learn Digital Marketing viz Blog Promotion):

नील पटेल कहते हैं- "अगर आप किसी पोस्ट को लिखने में 2 घंटे बिताते हैं तो लोगों तक उसे पहुंचाने के लिए 8 घंटे खर्च कीजिए।" इस तरह आप अपने content को leverage कर पाएंगे।


यह बात पूरी तरह सही है क्योंकि आज इंटरनेट पर रोजाना लाखों पोस्ट पब्लिश होते हैं और इस स्थिति में अगर हम अपने कंटेन्ट को लोगों तक नहीं पहुंचाएंगे तो कौन पहुंचाएगा? आज इंटरनेट पे जो चीज लोगों के सामने नहीं दिखती वो कहीं नहीं दिखती!


सर्च इंजनों के द्वारा फ्री में अपने कंटेन्ट का प्रचार करने के लिए "सर्च इंजन आप्टमाईज़ैशन" सीखिए। इसके अलावा डिजिटल मार्केटिंग सीखना भी एक अच्छा विकल्प है।


अपने कंटेन्ट को उन लोगों तक पहुंचाइए जिनको उसकी जरूरत हो सकती है। इसके लिए आप सोशल मीडिया साइट्स (Facebook, Twitter, LinkedIn) का प्रयोग कर सकते हैं। इसके साथ ही आप Question-Answer Sites जैसे- Quora, Chanakya और फोरमों  (Reddit, StackOverflow) पर भी अपने कंटेन्ट को promote कर सकते हैं। स्पैम ना करें क्योंकि ये साइटें spam को बहुत ही आसानी से पहचान लेती हैं। 



6. ब्लॉग की सही सेटिंग करें (Do Right Settings):

ब्लॉग की सही से सेटिंग करना बहुत ही जरूरी है। शुरुआत में कई सारे ब्लॉगर ये गलती करते हैं कि वे ब्लॉग की settings को सही नहीं करते हैं और ब्लॉगिंग करने लग जाते हैं। इससे उनका ब्लॉग अच्छे से grow नहीं करता है और उनका आत्मविश्वास कम हो जाता है। इसलिए यह जरूरी है कि हम अपने ब्लॉग की सही से सेटिंग करें।


ब्लॉग की सेटिंग करने से जुड़ी मुख्य बातें-


1. ब्लॉग की setting  में जाकर इंटरनेट की मदद से उन्हें सही करने का प्रयास कीजिए।

2. ब्लॉग की SEO settings जैसे- title, meta description और robots.txt files को भी सही से set करें।

3. ब्लॉग के pages, posts, catagories, tags और widgets का भी अच्छे से setup करें।

4. अगर आप ब्लॉग पर ad लगाते हैं तो उसकी settings को भी सही करें। 

5. Google Analytics और Google Search Console का भी सही से setup करें।




7). कुछ प्रमुख ब्लॉगिंग टिप्स (Blogging Tips):

ये कुछ ब्लॉगिंग टिप्स हैं जिन्हें आप बेहतर ब्लॉगिंग करने के लिए फॉलो कर सकते हैं-


  • ब्लॉगिंग कीजिए और फिर कुछ देखिए कौन-सी चीज सही है और कौन-सी नहीं। ब्लॉगिंग सीखने का यही सबसे बेस्ट तरीका है। 
  • अपनी राइटिंग स्टाइल को बेहतर बनाइये। एक अच्छा ब्लॉगर बनने के लिए यह जरूरी है कि पहले आप एक अच्छा राइटर बनें।
  • अच्छा ब्लॉगर बनने के लिए जरूरी हैं कि आप राइटिंग के साथ-साथ SEO, Digital Marketing, Video Creation और Content Writing भी सीखें।



  • Read Soon- बेहतर ब्लॉगर बनने के लिए प्रैक्टिकल ब्लॉगिंग टिप्स 






🕵️  CURIOUSITY CORNER:


1. भारत के टॉप ब्लॉगर्स (Top Indian Bloggers)-










ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 

तीन साल के ब्लॉगिंग तजुर्बे के आधार पर मैं आपको सिर्फ एक ही बात कहूँगा- "अच्छी ब्लॉगिंग सीखने का सिर्फ एक ही रास्ता है ब्लॉगिंग करना और फिर अपने अनुभवों से सीखना।" तो ब्लॉगिंग कीजिए और सीखिए!


तो दोस्तों यही था "ब्लॉगिंग सीखें/Learn Blogging" पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। (2670 Words)





📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?



   

Post a Comment

4 Comments

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!