Top Ad

फेसबुक के बारे में रोचक जानकारी और तथ्य | Interesting Tech Facts & Information About Facebook in Hindi

फ़ेसबुक का use तो हम सब करते हैं। करते हैं ना? हालांकी इंस्टाग्राम के आने के बाद थोड़ा-सा कम करते होंगे लेकिन करते जरूर हैं। 


फ़ेसबुक आज इंटरनेट पर मौजूद सबसे पुरानी Social Websites में से है। इसकी Success Journey बहुत सारे अनोखे किस्सों और Controversies से भरी पड़ी है जिनसे बहुत सारे लोग वाकिफ नहीं हैं। 
फेस्बूक के बारे में कुछ रोचक tathya


आज की इस रोचक पोस्ट में हम आपको facebook से जुड़ी हुई बहुत सारी appealing बातें बताने जा रहे हैं जिनको पढ़कर आपको सच में बहुत ज्यादा हैरानी होगी। पेश हैं सोशल मीडिया साइटों के बेताज बादशाह 'फ़ेसबुक' से जुड़े हुए रोचक तथ्य-





• FACEBOOK QUICK FACTS:

• लॉन्चिंग (Launching): 4 Feburary 2004
• निर्माणकर्ता (Developers): Mark Zuckerberg, Andrew McCollum & 3 Other.
• मालिक कम्पनी (Parent Co.): Facebook Inc.
• कुल उपयोगकर्ता (Total Users): 2.5 Billion (In 2019)
• मुख्यालय (HQ): Menlo Park, California, America




फ़ेसबुक से जुडी रोचक जानकारी वाली बातें/Amazing Facebook Facts in Hindi



इससे पहले कि हम फ़ेसबुक से जुड़ी रोचक बातों को जानें, यह जरूरी है कि हम फ़ेसबुक के बारे में कुछ बेसिक बातों को जानें। पेश हैं ऐसी ही कुछ फेसबुकिया बातें-


1). फ़ेसबुक क्या है? (What is Facebook):

फ़ेसबुक एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिसपे हम अपने जान-पहचान वाले लोगों से मिल सकते हैं और उनसे chat करने के साथ ही साथ photo-video भी शेयर कर सकते हैं। 








2). फ़ेसबुक की स्थापना कब हुई/कब बना? (Facebook Founded):


फ़ेसबुक की स्थापना 4 February 2004 को अमेरिका में हुई थी। इस दिन को फ़ेसबुक द्वारा Friendship Day के रूप में मनाया जाता है। 




3). फ़ेसबुक के संस्थापक कौन हैं? (Who is the Founder of Facebook):


फ़ेसबुक को 5 लोगों ने मिलकर के बनाया था-


1. मार्क जकरबर्ग (Mark Zuck)


2. एंड्रू मैकलम (Andrew McCullam)


3. एडुआरडो सेवरिन (Eduardo Saverin)


4. डस्टिन मॉसकोविट्ज (Dustin Moskovitz)


5. क्रिस ह्युग्स (Chris Hughes)



5 Founders of Facebook
Photo- TechStory


हालांकि इसमें मुख्य योगदान Mark Zuckerberg का ही था। इसलिए अक्सर उन्हें ही फ़ेसबुक का Founder माना जाता है। 




4). फ़ेसबुक का मुख्यालय कहाँ है? (Where is Headquarter of Facebook):


फ़ेसबुक का हेडक्वार्टर मेनलो पार्क, कैलिफोर्निया (Menlo Park, California) में स्थित है। 





5). फ़ेसबुक के रोचक तथ्य (Facebook Company Facts:


ये दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया साइट 'फेसबूक' से जुड़े कुछ interesting facts हैं जिनके बारे में आप शायद ही जानते हों-


1. फरबरी 2004 में फ़ेसबुक जब बना था तो इसका नाम thefacebook.com था। एक साल बाद यानि साल 2005 में मार्क ने इससे the को हटा दिया और इसका नाम facebook.com कर दिया। आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है कि facebook.com डोमेन को खरीदने के लिए जकरबर्ग को 2,00,000 डॉलर चुकाने पड़े थे जो आज के हिसाब से 1 करोड़ 40 लाख रुपए के बराबर होंगे। 


2. फ़ेसबुक ने साल 2007 में अपने layout को redesign किया जिसमें उसने एक आदमी की फोटो का use किया था जिसे उस वक्त "Facebook Guy" के नाम से जाना गया। इसे कई लोगों द्वारा पसंद किया गया वहीं कुछ लोगों ने इसकी आलोचना भी की। कुछ साल पहले ही डेविड किरकपैट्रिक ने अपनी किताब "The Facebook Effect" में इस रहस्यमयी व्यक्ति का खुलासा किया है और बताया कि यह मशहूर हॉलिवुड अभिनेता Al Pacino की एक manipulated फोटो थी जिसे मार्क के एक दोस्त ने उन्हें बना कर दिया था। 


facebook logo of al pacino face


3. फ़ेसबुक ने शुरुआत में वायरहॉग (WireHog) नाम का feature दिया था जिसके द्वारा लोग अपने दोस्तों के साथ किसी भी तरह की file share कर सकते थे (जैसे- pdf,photo,video,etc). लेकिन फिर बाद में कुछ privacy concerns के बाद 2006 में फ़ेसबुक ने इसे बंद कर दिया। 


4. शुरुआत में फ़ेसबुक का इस्तेमाल सिर्फ अमेरिका के नामी कॉलेजों के students और नामी कॉम्पनियों के employees ही कर सकते थे जिनमें Hardvard और Apple, Microsoft, Intel और Amazon जैसे बड़े नाम शामिल थे। सितंबर 2006 के बाद फ़ेसबुक हर किसी के लिए खुल गया और इसके मात्र एक साल बाद फ़ेसबुक ने 5 करोड़ यूजर्स का आंकड़ा पार कर लिया। 


5. अगर आप फ़ेसबुक का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तो शायद आप इस बात से वाकिफ हों कि फ़ेसबुक पर पोक (Poke) नाम का एक ऐसा feature भी मौजूद है जिसका कुछ भी मतलब नहीं है। इस फीचर के बारे में जब zuck से पूछा गया कि पोक का मतलब क्या है तो उनका जवाब कुछ इस तरह था- "हमने सोचा कि क्यों न कोई ऐसा feature बनाया जाए जिसका कोई खास मतलब न हो और लोग उससे एक-दूसरे को बस ऐसे ही तंग कर सके।" फ़ेसबुक के इस रहस्यमयी feature का इस्तेमाल अक्सर दोस्तों को nudge करने और flirt करने के लिए किया जाता है। 


6. मार्क ज़ुकरबर्ग में अपनी फ़ेसबुक प्रोफाइल पर खुद को एक हार्वर्ड ग्रेजुएट बताया है जो कि पूरी तरह से सही नहीं है क्योंकि Zuck ने अपनी degree complete नहीं की थी उन्होंने facebook को आगे बढ़ाने के लिए कॉलेज drop कर दिया था। एक बार जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा- "यह पूरी तरह से सच है और मैं इस मुद्दे से वाकिफ हूँ लेकिन वो क्या है ना कि फ़ेसबुक प्रोफाइल पे Dropouts के लिए कोई setting नहीं है इसलिए मुझे graduate ही लिखना पड़ा।"



JOKE- वैसे मार्क चाहे settings को change कर सकते हैं क्योंकि फ़ेसबुक तो उनका ही है ना 😉




6. फ़ेसबुक कलर ब्लाइंड (Color Blind) इंसान है यानि उन्हें कुछ रंगों को देखने में दिक्कत होती है लाल और हरा रंग ऐसे ही कुछ रंग हैं। नीले रंग को देखने में उन्हें कोई परेशानी नहीं होती है और यही कारण है कि फ़ेसबुक पूरी तरह नीला है उसमें नीले रंग के अलावा किसी अन्य कलर का ना के बराबर use किया गया है। 


7. फ़ेसबुक पर आप किसी भी profile को ब्लॉक कर सकते हैं जिससे कि वो आपको message ना भेज सके और आपकी profile ना देख सके। लेकिन मजे की बात तो यह है कि आप लाख चाहें मगर Mark Zuckerberg को ब्लॉक नहीं मार सकते हैं। अगर आप ऐसा करना भी चाहें तो आपको एक error message शो होता है। 


8. आज फ़ेसबुक पर जो हम Like का बटन देखते हैं वो उसे हमेशा से ही लाइक नहीं बोलते थे। 2007 से पहले उसे Awesome बोला जाता था। 


9. फ़ेसबुक के सर्वरों में 300 Petabytes यानि 30 करोड़ GB का डाटा भरा हुआ है। यह डाटा कितना ज्यादा है इस बात का पता आप इस बात से लगा सकते हैं कि पूरे मानव इतिहास में दुनिया की सारी भाषाओं को मिलाकर भी जितनी किताबें लिखी गई हैं वे भी सिर्फ 50 Petabytes में समा जाती हैं।


this is a server


10. ज्यादा फ़ेसबुक चलाने के कारण लोगों को अक्सर एक मानसिक डिसॉर्डर हो जाता है जिसका नाम है- Facebook Addiction Disorder (FAD). इसमें लोगों को फ़ेसबुक का बहुत ज्यादा उपयोग करने की आदत लग जाती है। 


11. फ़ेसबुक हर महीने लगभग 10 करोड़ डॉलर यानि करीबन 7 अरब रुपये सिर्फ users का डाटा स्टोर करने के कामों यानि Server Hosting में खर्च करता है। 


12. फ़ेसबुक पर हर सेकंड औसतन 8 नए अकाउंट बनते हैं और 15 मिनट में 7,246! ये आँकड़े बताते हैं कि फ़ेसबुक कितना पॉपुलर है। 








13. साल 2007 में याहू! में काम करने के बाद ब्रायन ऐक्टन और जैन कौम ने फ़ेसबुक में Job के लिए apply किया लेकिन वे select नहीं हो सके। इसके बाद उन्होंने खुद का एप बनाने की सोची और फिर 2010 में उसे लॉन्च कर दिया। क्या आप बता सकते हैं कि इस एप का नाम क्या था? इसका नाम था- WhatsApp. जी हाँ वही व्हाट्सएप जिसका आप रोजाना इस्तेमाल करते हैं। इससे WhatsApp को कुछ सालों बाद Facebook ने 19 अरब डॉलरों में खरीद लिया। 







14. साल 2015 में दुनिया भर में मोबाइल पर इंटरनेट चलाते वाले दिखने वाले Ads का 22% Revenue फ़ेसबुक के खाते में गया। यानि अगर दुनिया भर की सारी Tech Companies को मोबाइल पर ad दिखाने से 100 रुपए की कमाई हुई तो उसमें अकेले 22 रुपए की कमाई फ़ेसबुक को हुई। 


15. दो लाख से भी ज्यादा Advertisers फ़ेसबुक पर अपना Ad देते हैं। 


16. एक User के तौर पर facebook हमसे कोई पैसा नहीं लेता है। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है कि फ़ेसबुक हमें Ads दिखाकर साल भर में हमसे औसतन 600 रुपए कमा लेता है। 


17. फ़ेसबुक पर रात 10 से 11 बजे के बीच जो पोस्टें की जाती है उनके साथ लोग 88% ज्यादा interact करते हैं। वहीं जिन पोस्टों के अंत में एक Question Mark (?) लगा होता है लोग उनके साथ औसतन 162% ज्यादा interaction करते हैं। 









18. फ़ेसबुक पर सबसे ज्यादा शेयर किये जाने वाला कंटेन्ट है Videos. औसतन एक विडिओ को फ़ेसबुक पर 90 बार शेयर किया जाता है और वीडियोज़ पर 75% से ज्यादा views सिर्फ mobile devices से ही आते हैं। 


19. फ़ेसबुक तेजी से इसकी पोस्टों की organic reach कम कर रहा है। आसान भाषा में कहें तो अब हमारी पोस्टें हमारे सारे friends तक नहीं पहुँचती है। लोग हमारी जिस पोस्ट के साथ जितना ज्यादा interact करते हैं वह उतने ही अधिक लोगों तक पहुँचती है। फ़ेसबुक ऐसा इसलिए कर रहा है ताकि मार्केटर उसके Ads का use करें। इसके लिए फेस्बूक ने एक अलग प्लेटफॉर्म Facebook Business भी बनाया है। 


20. अगर आप दिन में 1 या 2 बार पोस्ट करते हैं तो आपकी पोस्ट 40% ज्यादा लोगों तक पहुँचती है। वहीं अगर आप 3 या उससे ज्यादा बार दिन में पोस्ट करते हैं तो आपकी पोस्ट काफी कम लोगों तक पहुँचती है। 





📣 अगर आप Tech, Internet, Blogging, Online Earning SEO और डिजिटल मार्केटिंग जैसी चीजों से खुद को लगातार update रखना चाहते हैं तो हमारा Newsletter जरूर सबस्क्राइब करें..



21. कई बार होता है ना कि हम facebook पर कुछ लिखते हैं लेकिन फिर हमें वो पसंद नहीं आता है और हम उसे मिटा देते हैं और फिर से लिखते हैं है ना? आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है कि आपने जो पहले टाइप किया और फिर मिटाया उसे भी फेस्बूक पढ़ सकता है। माना जाता है कि इसके लिए उसकी special team काम करती है। 


22. साल 2011 में आइसलैंड देश का संविधान लिखने में facebook का अच्छा रोल रहा। आइसलैंड के नागरिकों से facebook के जरिए उनकी राय मांगी गई और ऑनलाइन debates करवाई गई। 


23. फ़ेसबुक इसके सिस्टम को hack करने वाले व्यक्ति को इनाम देता है और उसे सम्मानित करता है। अगर आप फ़ेसबुक के system में कुछ कमी निकाल देते हैं तो फेस्बूक की तरह से आपको इनामी राशि दी जाती है। आज तक कई लोग इस इनाम को पा चुके हैं। 


24. आज फ़ेसबुक पर लाखों ऐसे लोग मौजूद हैं जो अब इस दुनिया में मौजूद नहीं है। अगर आप किसी ऐसे व्यक्ति को जानते हैं जो अब इस दुनिया में नहीं है तो आप उसके फ़ेसबुक अकाउंट को एक स्मारक यानि मेमोरियल का रूप दिला सकते हैं। 




25. फ़ेसबुक पर 20 करोड़ से ज्यादा Fake IDs मौजूद हैं इनमें से आधे से ज्यादा अकाउंट भारतीय लोगों द्वारा बनाए गए हैं। 


26. फ़ेसबुक में काम करने वाली पहली भारतीय रुचि साँघवी थी जिन्होंने 2005 में फ़ेसबुक को join किया था। फ़ेसबुक का News Feed भी उन्ही की देन है। 






27. फ़ेसबुक पर रोजाना हजारों hackers हमला करते हैं जिनमें से ज्यादातर नाकाम रहते हैं। 



28. फ़ेसबुक का Server अगर 1 सेकंड के लिए down हो जाए तो उसे हजारों डॉलर का नुकसान हो जाता है। 


29. फ़ेसबुक को आप सिर्फ एक-दो नहीं बल्कि दुनिया की 70 से भी ज्यादा भाषाओं में इस्तेमाल कर सकते हैं। 




JOKE- मार्क ज़ुकरबर्ग शायद दुनिया का एकमात्र आदमी है जिसकी माँ बोलती है- "बेटा पढ़ाई लिखाई छोड़ो और फ़ेसबुक पे ध्यान लगाओ" 😂










🕵️  CURIOUSITY CORNER:


1. फ़ेसबुक को बनाने में किन Programing Languages का इस्तेमाल किया गया है?

फ़ेसबुक के फ्रन्ट एंड में PHP जबकि चैट के लिए ErLang का उपयोग किया गया है। वहीं कई अन्य स्थानों पर C++ और Java का भी पर्याप्त उपयोग किया गया है। 





ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 

फ़ेसबुक दुनिया के सबसे बड़े प्लेटफॉर्म में शामिल है। उम्मीद है कि आपको उसके बारे में ये रोचक जानकारी पसंद आई होगी।


तो दोस्तों यही था "फ़ेसबुक तथ्य/hindi facebook facts" पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। (2000 Words)





📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?



   

Post a Comment

1 Comments

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!