Top Ad

कंटेन्ट मार्केटिंग क्या है और कैसे करें? | What is Content Marketing & How to do it in Hindi (2020)

क्या आपको पता है कि आज के समय में हर रोज 20 लाख से ज्यादा blog post publish हो रही हैं। इसका मतलब सीधा-सा है कि इंटरनेट पर content की कोई कमी नहीं है।


पिछले कुछ सालों में इंटरनेट पर competition कई गुना बढ़ चुका है। इसलिए अपने content को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए यह जरूरी है कि हम अपने कंटेन्ट की marketing करें यानि उसे उन लोगों तक पहुंचाने जिन्हें उसकी जरूरत है।



बिना कोई पैसा खर्च किये हुए अपने content का इस्तेमाल करके अपने ब्रांड की मार्केटिंग करने का एक शानदार तरीका है- कंटेन्ट मार्केटिंग (Content Marketing)


in this article we have covered all the basic things related to content marketing in hindi language.


तो क्या है कंटेन्ट मार्केटिंग, यह आपको क्यों करनी चाहिए और आप इसे कैसे कर सकते हैं आज के इस आर्टिकल में हमने ऐसी ही कुछ बातों के बारे में चर्चा की है- 




कंटेन्ट मार्केटिंग क्या है पूरी जानकारी/Information about Content Marketing in Hindi




1). कंटेन्ट मार्केटिंग का क्या मतलब है? (Content Marketing Meaning):

कंटेन्ट (Content) का मतलब होता है- कोई चीज (video, audio, text, image) जो किसी टॉपिक के बारे में जानकारी देती है। और मार्केटिंग (Marketing) का मतलब होता है- प्रचार करना।


इस तरह से कुल मिलाकर Content Marketing का मतलब होता है- 


कंटेन्ट की मदद से अपने बिजनस का प्रचार करना.


अगर आप एक Online Business करते हैं तो आप अपनी वेबसाइट तक लोगों को दो तरीकों से ला सकते हैं-


1. पहला विज्ञापन यानि Advertisement के द्वारा।

2. और दूसरा Content Marketing के द्वारा।


इन दोनों तरीकों में सबसे बडा फरक है पैसों का। एडवरटाइसमेंट के लिए आपको पैसे खर्च करने होते हैं जबकि Content Marketing आप बिना किसी खर्च के आसानी से कर सकते हैं बशर्तें कि आपका Content दमदार हो।









उदाहरण के लिए मान लीजिए कि आप एक Online Business करते हैं। अब इस स्थिति में लोगों को अपने बिजनेस यानि अपनी website पर लाने के लिए हम कंटेन्ट मार्केटिंग का सहारा ले सकते हैं।


जैसे- हम अपनी website पर ब्लॉग आर्टिकल लिखकर यानि ब्लॉगिंग करके और अपनी पोस्टों का अच्छे से SEO करके गूगल से बहुत सारे लोगों को फ्री में अपनी वेबसाइट तक ला सकते हैं। इसके बाद उनमें से कई लोग हमारे बिजनस को जानने-पहचानने लगेंगे और इस बात की भी काफी संभावना है कि इनमें से कुछ लोग हमारी Services भी खरीद लें।


यही same चीज हम Youtube, Podcast, Social Media के साथ भी कर सकते हैं। इसे ही Content Marketing कहते हैं।




2). कंटेन्ट मार्केटिंग करने के तरीके/प्रकार (Examples, Methods & Types of Content Marketing):

कंटेन्ट कई तरह का हो सकता है जिनमें से Audio, Video और Text Content से हम अच्छी तरह वाकिफ हैं। ठीक इसी तरह से Content Marketing भी कई अलग-अलग तरह की हो सकती है यानि कई तरह के content के जरिए प्रचार किया जा सकता है। कंटेन्ट मार्केटिंग के मुख्य टाइप कुछ इस प्रकार हैं-


1. ब्लॉगिंग (Blogging)-


ब्लॉगिंग Content Marketing के सबसे शानदार तरीकों में से एक है। कई कंपनियां (जैसे- Forbes, The Fast Company) भी blogging का उपयोग अपने business में कर रही है।




इंटरनेट पर बहुत सारे लोग knowledge की तलाश में होते हैं और blogging उनकी इस तलाश को अंजाम तक पहुंचाने में मदद करती है।





2. विडियो कंटेन्ट मार्केटिंग या यूट्यूब मार्केटिंग (Video Content Marketing/Vlogging):

वीडियो मार्केटिंग एक ऐसा तरीका है जिसमें video के द्वारा लोगों को knowledge दिया जाता है और साथ ही साथ अपने products & services की मार्केटिंग भी की जाती है।


दुनिया के नामी डिजिटल मार्केटरों में शुमार Neil Patel विडिओ मार्केटिंग का बहुत ही शानदार उपयोग करना जानते हैं। वे अपने videos में पहले लोगों को knowledge देते हैं और आखिर में अपनी digital marketing company 'नील पटेल डिजिटल' का जिक्र करते हैं। ज्यादा जानने के लिए आप यह video देख सकते हैं- 




3. औडियो कंटेन्ट मार्केटिंग या पॉडकास्टिंग (Podcasting)-

पॉडकास्टिंग एक ऐसा तरीका है जिसके माध्यम से हम सुनकर knowledge प्राप्त करते हैं।


जिस तरह से हम ब्लॉग पर पढ़कर और यूट्यूब पर देखकर जानकारी प्राप्त करते हैं ठीक उसी तरह Podcast में सुनकर हम बातों को समझते हैं।


हो सकता है कि आप में से कई सारे लोग इसे Radio समझ रहे होंगे लेकिन मैं आपको दूँ कि ये रेडियो के जैसे तो होता है लेकिन रेडियो नहीं होता है।


रेडियो/FM और पॉडकास्ट में वही फरक है जो TV और Youtube में है। जिस तरह टेलीविज़न Live चलता है जबकि Youtube पर पहले से ही record करी हुई videos होती हैं; ठीक इसी तरह FM लाइव चलता है जबकि Podcast में पहले से ही record की हुई चीजें होती हैं।


पॉडकास्ट को हम Audio Youtube भी कह सकते हैं.



आजकल Podcasting बहुत ज्यादा पॉपुलर हो रही है। अब तो गूगल अपने सर्च में Blog Post, Images और Vidoes के साथ ही साथ Podcast को भी दिखाने लग गया है।

img... 


पॉडकास्टिंग की बढ़ती लोकप्रियता का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि जहाँ साल 2019 में दुनिया भर में पॉडकास्टों के 1 करोड़ 85 लाख Episodes पब्लिश हुए वहीं साल 2020 में अबतक 2 करोड़ 90 लाख से ज्यादा Podcast Episodes पब्लिश हो चुके हैं।


कई कॉम्पनियाँ Podcasting Marketing का जमकर प्रयोग कर रही हैं और उन्हें इससे अच्छे results भी मिल रहे हैं। इसलिए यह सही समय है कि आप भी अपना एक Podcast शुरू करें।





4. इन्फोग्राफिक्स (Infographics):

इन्फोग्राफिक एक ऐसी image होती है जो किसी चीज के बारे में जानकारी देती है। जैसे- Chart, Table, Pie Chart, List, etc.

इंफो यानि जानकारी (Information) और ग्राफिक यानि कोई फोटो या visual. इस तरह से infographic का मतलब है- कोई फोटो जो किसी चीज के बारे में information देती है।

इन्फोग्राफिक कुछ इस तरह का होता है-


this is an infographic example
Source- Venngage.Com
                       

हम अपने खुद के infographic तैयार करके उन्हें अपने ब्लॉग पर लगा सकते हैं और उनके एक कोने पर अपनी साइट का नाम लिखकर दूसरे लोगों को उन्हें use करने की permission दे सकते हैं। इसके अलावा हम उन्हें social media पर भी share कर सकते हैं। जब लोग उन्हें पढ़ेंगे तो उनमें से कुछ लोग आपकी साइट पर भी आएंगे, इससे हमारी साइट का traffic बढ़ेगा।



5. ईबुक्स (Ebooks):

अपनी वेबसाइट पर लोगों को उनका ज्ञान बढ़ाने वाली free ebooks देकर हम आसानी से Content Marketing कर सकते हैं। ई-बुक्स के बदले हम लोगों से उनका email address देने के लिए कह सकते हैं।


6. ऑनलाइन कोर्स (Online Courses/Content Hubs):

कई बड़ी कंपनियां free online courses की मदद से content marketing कर रही है। जिनमें से Hubspot और Drift जैसी ऑनलाइन कंपनियां शामिल भी हैं।


ऑनलाइन कोर्स के उदाहरण देखने के लिए click करें..


अगर आपके पास एक अच्छा budget है तो आप भी कोई free online course या फिर content hub शुरू कर सकते हैं।







7. कंटेन्ट मार्केटिंग के अन्य तरीके:


  • ईमेल (Email)
  • लीड मगनेट्स (Lead Magnets)
  • व्हाइटपेपर (Whitepapers)
  • स्लाइड शेयर प्रेज़न्टैशन (Slideshare Presentation)
  • क्विज़ (Quizzes)
  • ऑनलाइन टूल (Internet Tools)
  • चेक्लिस्ट (Checklists)
  • वेबीनार (Webinar)
  • स्लाइड डेस्क (Slide Desk)
  • फ्री ऐप (Free Apps)
  • सोशल मीडिया पोस्ट्स (Social Web Posts)




3). कंटेन्ट मार्केटिंग क्यों जरूरी है? (Why is Content Marketing So Important):

कंटेन्ट मार्केटिंग बहुत बड़ी संख्या में लोगों को अपनी साइट पर लाने का जरिया है। इसका सीधा-सा सूत्र है- "लोगों को क्वालिटी कंटेन्ट दीजिए और वो आपकी वेबसाइट पर आने लगेंगे।"


कंटेन्ट मार्केटिंग का इस्तेमाल businesses द्वारा इन चीजों के लिए किया जाता है-


  • लोगों का ध्यान खींचने और उन्हें अपने product और services बेचने में। 
  • अपना customer base बढ़ाने में। 
  • ऑनलाइन सेल्स बढ़ाने में। 
  • कंपनी का नाम बनाने और लोगों के बीच उसकी पहचान बढ़ाने में।
  • लोगों की एक online community बनाने में।



कंटेन्ट मार्केटिंग विज्ञापन के बिल्कुल उलट है। विज्ञापन में जहां आप बड़ी संख्या में पैसे चुकाकर सीमित समय के लिए अपनी साइट को promote कर पाते हैं वहीं Content Marketing के जरिए आप बिना कोई पैसा खर्च किये हुए लंबे समय के लिए अपनी साइट को बिना किसी barrier के लिए promote कर सकते हैं।


इसलिए यह जरूरी है कि आप Content Marketing का पूरा फायदा उठाएँ, इसे leverage करें। 










4). कंटेन्ट मार्केटिंग कैसे करें?/तरीका (How to do Content Marketing Strategically):

वैसे कंटेन्ट मार्केटिंग करने के लिए ऐसी कोई खास strategy नहीं है जो कि हर किसी के लिए काम करें क्योंकि अलग-अलग तरह के businesses के लिए अलग-अलग तरह की content marketing technique की जरूरत पड़ती है। लेकिन ये कुछ common steps हैं जिनका use आप अपने कंटेन्ट मार्केटिंग प्लैन को बनाने में कर सकते हैं-


1. सबसे पहले यह पता लगाएँ कि आपके customer किस तरह का कंटेन्ट ज्यादा पसंद करते हैं। कुछ बिजनेस में कस्टमर Photos पसंद करते हैं, कुछ में videos जबकि बहुत सारे business ऐसे हैं जिनमें लोग text content की तरह ज्यादा आकर्षित होते हैं। इसके साथ ही साथ यह भी decide करें कि आपके फील्ड के लोग किन platforms पर ज्यादा active रहते हैं।


2. इसके बाद उस टाइप के कंटेन्ट को produce कीजिए जिसे कि आपके customers के द्वारा पसंद किये जाने की ज्यादा संभावना है। अगर आपके customer अच्छे infogrphic पसंद करते हैं तो अच्छे infographics बनाइये। अगर आपके कस्टमर videos पसंद करते हैं अच्छी videos बनाइये। वहीं अगर आपके कस्टमर आर्टिकल ज्यादा पसंद करते हैं तो ब्लॉग लिखिए।


3. आखिर में जो कंटेन्ट आपने तैयार किया है उसे अपनी targeted audience तक पहुंचाइए। जैसे- अगर आपने विडिओ तैयार की है तो आप उसे Youtube, Vimeo, Dailymotion, Facebook और IGTV जैसे प्लेटफॉर्म पर डाल सकते हैं। वहीं photos को आप facebook, twitter, pinterest, instagram, linkedin पर शेयर कर सकते हैं।


वहीं अगर आपने कोई आर्टिकल लिखा है तो आप उसे अपने ब्लॉग के अलावा LinkedIn Publishing, Medium, Quora, Chankya, Facebook आदि पर शेयर कर सकते हैं।


4. यह काम regular कई महीनों तक करते रहिए। कुछ ही समय बाद आपको result मिलने शुरू हो जाएंगे। और finally आपकी वेबसाइट पर अच्छा-खासा traffic आने लगेगा और आपकी sales और conversions होने लगेंगी।




📣 अगर आप Tech, Internet, Blogging, SEO और डिजिटल मार्केटिंग जैसी चीजों से खुद को लगातार update रखना चाहते हैं तो हमारा Newsletter जरूर सबस्क्राइब करें..





5). कंटेन्ट मार्केटिंग एजेंसी क्या है और यह क्या काम करती है? (Content Marketing Agency & its works):

कई business owners होते हैं जो खुद content produce नहीं कर पाते हैं या फिर उनके पास इतना समय नहीं होता है कि वे खुद अपने बिजनेस के लिए कंटेन्ट बना पाए। इस स्थिति में उनके काम आती हैं- कंटेन्ट मार्केटिंग एजेंसियां (Content Marketing Agencies)



a digital content marekting company headquarter
Free Image- Pixabay


कंटेन्ट मार्केटिंग एजेंसी किसी बिजनेस के लिए कंटेन्ट produce करती है, उसे publish करती है और साथ ही साथ उसे targeted लोगों तक पहुंचाने का काम भी करती है।


अगर आपके पास content बनाने का समय नहीं है तो आप एक content marketing agency को hire करके उससे अपने बिजनेस के लिए content produce करवा सकते हैं। कंटेन्ट मार्केटिंग एजेन्सीस कंटेन्ट तैयार करने के साथ ही साथ उसे publish भी करती हैं और उसे लोगों तक पहुंचाने का काम भी करती हैं। इसके बदले आपको उन्हें एक निश्चित भुगतान करना होता है। 


अगर आप भी एक Content Marketing Agency को भाड़े पर लेने का सोच रहे हैं तो ये हैं भारत की कुछ पॉपुलर कंटेन्ट मार्केटिंग एजेंसियां-



6).  बेस्ट इंडियन कॉन्टेन्ट मार्केटिंग एजेंसियां (Top/Best Indian Content Marketing Agencies Firms):


  • सक्रिबीफ़ाई (Scribbify)- यह गाजियाबाद (UP) में बेस्ड content marketing agency है जिसके फाउन्डर रचित सिंह हैं।
  • पिंक लेमनैड (Pink Lemonade)- यह एक Banglore बेस्ड कंटेन्ट मार्केटिंग एजेंसी है।
  • इन्नोवो (Innovo)- इन्नोवो एक कंटेन्ट मार्केटिंग एजेंसी है जिसका headquarter बंगलोर में है।
  • ब्लॉगवर्क्स (BlogWorks)- ब्लॉगवर्क्स एक Delhi based कंटेन्ट मार्केटिंग एजेंसी है जिसे इसके story-driven कंटेन्ट के लिए जाना जाता है।


+ दुनिया की सबसे बेहतरीन कंटेन्ट मार्केटिंग एजेंसियां (Top Global Content Marketing Agencies):


  • कॉलम फाइव (Coulmn Five)
  • ब्रैफटन (Brafton)
  • वॉल्यूम नाइन (Volume Nine)
  • बिग लीप (Big Leap)











🕵️  CURIOUSITY CORNER:


1. कंटेन्ट राइटिंग और कंटेन्ट मार्केटिंग में क्या फरक है? (Difference b/w Content Writing & Content Marketing):


कंटेन्ट राइटिंग का मतलब होता है- सिर्फ Content लिखना। जबकि कंटेन्ट मार्केटिंग का मतलब होता है- Content बनाना, उसे इंटरनेट पर publish करना और साथ ही साथ उसे promote करना।

यानि content writing एक छोटा-सा काम है जबकि Content Marketing एक Strategic और लंबी process है।






ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 

आज के समय में कंटेन्ट को बनाना ही काफी नहीं है बल्कि उसे targeted लोगों तक पहुंचाना भी उतना ही जरूरी है। दुनिया के बेस्ट कंटेन्ट मार्केटरों में से एक Neil Patel कहते हैं कि अगर आप एक घंटा Content प्रॉडयूज़ करने में लगाते हैं तो 4 घंटे उसे promote करने में लगाइए। इससे आपको बेस्ट results मिलेंगे।



तो दोस्तों यही था "कंटेन्ट मार्केटिंग हिन्दी में/Content Marketing in Hindi" पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। (2054 Words)




📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?



   


Post a Comment

6 Comments

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!