Top Ad

Technical SEO क्या है और कैसे करें? (Detailed Guide)

जब भी SEO की बात होती है तो जो दो चीजें हमारे दिमाग में सबसे पहले आती हैं वो हैं- Off Page SEO और On Page SEO.


एसईओ के मामले में हम अक्सर ये भूल जाते हैं कि इन दोनों टाइपों के अलावा SEO का एक तीसरा type भी है जिसे हम Technical SEO कहते हैं।


this picture is related to the technical aspect of seo


टेक्निकल एसईओ के बाबत यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि यह Search Engine Optimization के सबसे underrated हिस्सों में से एक है जिसपे ज्यादातर bloggers अधिक ध्यान नहीं देते हैं।


लेकिन आपको यह जानकर शायद हैरानी हो सकती है कि अगर किसी साइट का Technical SEO कमजोर है तो इससे उस साइट के Off-Page और On-Page SEO पर बुरा प्रभाव पड़ता है उनकी effectiveness काफी कम हो जाती है।


इसलिए SEO का पूरी तरह से फायदा उठाने के लिए आपको यह make sure करना जरूरी है कि ऑफ पेज और ऑन पेज SEO के साथ ही साथ आपकी साइट का Technical SEO भी काफी शानदार हो ताकि आपकी साइट गूगल और अन्य सर्च इंजनों में अच्छे स्थान पर rank कर पाए।


आप अपनी वेबसाइट के SEO की पूरी potential को unlock कर पाएँ इसलिए आज के इस आर्टिकल में हमने बात की है Technical SEO क्या है और आप इसे अपने ब्लॉग या फिर वेबसाइट पर कैसे लागू कर सकते हैं-




टेक्निकल एसईओ के बारे में पूरी जानकारी/ Technical SEO in Hindi









1). टेक्निकल एसईओ क्या है? (What is Technical SEO):

सर्च इंजन किसी वेबसाइट को गूगल में rank करने के लिए सिर्फ उसके keywords और backlinks ही नहीं जाँचते हैं बल्कि वे इन दोनों चीजों के साथ-ही-साथ उसका technical analysis भी करते हैं।


टेक्निकल अनैलिसिस से हमारा मतलब है- वेबसाइट की तकनीकी चीजों की जांच करना।


उदाहरण के लिए, कोई वेबसाइट कितनी जल्दी load होती है यानि खुलती है और उसका architecture कैसा है, ये सारी चीजें Technical SEO के under में आती हैं।


आसान शब्दों में कह सकते हैं कि,


अपनी वेबसाइट को गूगल में अच्छी position पर रैंक करवाने के लिए हमें उसमें जो तकनीकी सुधार करने पड़ते हैं, कुल-मिलाकर उन्हें ही हम 'तकनीकी एसईओ (Technical SEO)' कहते हैं।



टेक्निकल SEO के अंतर्गत आपकी साइट की coding, sitemap submission, site architecture, indexing और crawling जैसी चीजें आती हैं। अपनी वेबसाइट की इन चीजों में सुधार करना ही उसका technical seo करना कहलाता है।












2). टेक्निकल एसईओ वेबसाइट के लिए क्यों जरूरी है? (Importance of Technical SEO):

टेक्निकल SEO हमारी वेबसाइट को गूगल में ऊपर रैंक कराने के लिए बहुत जरूरी होता है। गूगल आज घटिया technical seo वाली साइटों को अपने सर्च में rank करना पसंद नहीं करता है और उन्हें जितना हो सके लोगों की नज़रों से दूर रखने की कोशिश करता है क्योंकि वह नहीं चाहता है कि उसे use करने वाले लोग घटिया technical साइटों पर visit करें और उनका user experience खराब हो।


आज गूगल वेबसाइटों की loading speed और design responsiveness को बहुत ज्यादा तवज्जो देता है। जो वेबसाइट जल्दी से खुल जाती है और हर डिवाइस (यानि Mobile, Desktop और Tablet) के हिसाब से खुद को सही से ढाल लेती है, गूगल उसे अपनी सर्च में लोगों को ऊपर दिखाना पसंद करता है। क्योंकि वे लोगों को अच्छा user experience देती है और उनका काम आसान बना देती हैं।








अगर हमारी वेबसाइट का Technical SEO अच्छा नहीं है तो तब चाहें हम अपनी साइट का on-page और off page seo कितना भी शानदार कर लें, हमारे गूगल में top पे रैंक करने के chances लगभग ना के बराबर होंगे। क्योंकि गूगल ज्यादातर उन्ही वेबसाइटों को top पे दिखाना prefer करता है जो कि लोगों को बहुत अच्छा user experience provide करती हैं और हमारी साइट के user experience (UX) को बेहतर बनाने में technical seo बहुत बड़ा किरदार निभाता है।


इसलिए अपनी वेबसाइट के Technical SEO पे भी उतना ही ध्यान दें जितना कि आप उसके off page और on page seo पर देते हैं। क्योंकि यह भी आपकी साइट के लिए उन्ही के जितना जरूरी है।












3). टेक्निकल एसईओ के फ़ैक्टर्स (Technical SEO Improtant Factors):

ऑफ-पेज और ऑन-पेज SEO की ही तरह Technical SEO के भी कुछ factors होते हैं जिनके आधार पर आप अपनी वेबसाइट का technical seo कर सकते हैं।


टेक्निकल SEO को अगर कुछ techniques का इस्तेमाल करके अंजाम दिया जाए तो यह आपकी वेबसाइट के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। इसलिए ये कुछ महत्वपूर्ण factors हैं जिनकी मदद से आप अपनी वेबसाइट का Technical SEO कर सकते हैं-


1. डोमेन नाम (Preferred Domain Name)- किसी साइट को www और बिना www के दोनों तरह से access किया जा सकता है। हालांकि ये दोनों चीजें access तो एक ही वेबसाइट को करती हैं मगर सर्च इंजनों की नज़रों में ये दोनों वेबसाइटें अलग-अलग होती हैं। इसलिए उन्हें यह बताना बहुत जरूरी है कि हमारी वेबसाइट के कौन-से version को तवज्जो देनी है।


2. Rebots.txt फाइल को optimize करें- अपने ब्लॉग की root directory में जाकर आप अपनी ब्लॉग की robots.txt file को आसानी से optimize कर सकते हैं। यह फ़ाइल सर्च इंजनों को यह जानकारी देती है कि उन्हें आपकी वेबसाइट की कौन-सी चीज को गूगल में दिखाना है और कौन-सी को नहीं।


3. URL Structure- वेबसाइट का url जितना छोटा और simple हो सके, उतना रखना चाहिए। उसमें keywords का use करना SEO के लिहाज से अच्छा रहता है।


4. Navigation and Site Structure- आपकी वेबसाइट की बनावट ऐसी होनी चाहिए जो कि user और गूगल दोनों के लिए optimised हो।










5. Schema Markup- अपनी वेबसाइट को गूगल के features snippet और people also ask for बॉक्स में feature करने के लिए आप Schema Markup का प्रयोग कर सकते हैं।


6. HTTPS and SSL Certificate- जिस वेबसाइट के यूआरएल के आगे http की जगह https (जो कि ज्यादा secure है) लगा होता है गूगल उसे अपनी सर्च में ज्यादा तवज्जो देता है। साथ ही SSL certficate वाली वेबसाइटों पर भी गूगल की कृपा बनी रहती है।


7. Website Loading Speed- किसी वेबसाइट के खुलने की speed जितनी ज्यादा होती है गूगल में उसके rank करने के chances उतने ही ज्यादा होते हैं।


8. XML SiteMap- वेबसाइट के साइटमैप Google Search Console और Bing Webmaster Tool में submit करवाने से हमारी पोस्टें सर्च इंजनों में जल्दी से crawl होती हैं।


9. 404 (Page Not Found) Error Optimization- अपनी वेबसाइट को broken pages के लिए optimize करने से उसके technical seo में सुधार आता है।


10. AMP (Accelerated Mobile Pages)- मोबाइल फोनों पर वेबसाइट को जल्दी से load करने के लिए बनाई गई AMP technique का इस्तेमाल करने से साइट के Technical SEO पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।


11. Mobile Friendliness- जो वेबसाइट mobile devices पर अच्छी तरह से खुल जाती है गूगल उन्हें अपने सर्च में वरीयता देता है।












4). साइट का टेक्निकल एसईओ कैसे करें? (Technical SEO Techniques & Checklist):

दोस्तों, शायद अब तक आप जान गए होंगे कि टेक्निकल seo क्या होता है और यह हमारी साइट के लिए क्या अहमियत रखता है। तो चलिए अब ज्यादा देर न करते हुए stepwise जानते हैं कि कैसे हम अपनी वेबसाइट technical seo कर सकते हैं-



1. किसी वेबसाइट का technical seo करने का काम तभी से शुरू हो जाता है जब कि हम उसके लिए Domain या Hosting खरीदते हैं। डोमेन का हमारी वेबसाइट की गूगल रैंकिंग पर बहुत ज्यादा फरक पड़ता है इसलिए domain name बहुत सोच-समझकर चुनें।


इसके अलावा hosting से हमारी वेबसाइट की loading speed पर बहुत ज्यादा impact पड़ता है इसलिए अपनी वेबसाइट के बेहतर technical seo के लिए premium hosting लें।





2. अपनी वेबसाइट के लिए domain name खरीद लेने के बाद domain provider website में जाकर अपना prefered domain name जरूर सेट करें। इससे गूगल अपने सर्च में आपकी वेबसाइट के सिर्फ एक url (www or non-www) को ही तवज्जो देगा जिससे आपकी वेबसाइट का technical seo खराब नहीं होगा।










3. इसके बाद अपनी वेबसाइट को https पर सेट करें और उसपर SSL Certificate का प्रयोग करें।


4. इसके बाद आपको अपनी वेबसाइट की setting के root directory में जाकर उसमें robots.txt file को customize कर देना है जिससे कि गूगल आपकी साइट की बेकार की चीजों को रैंक करने के बजाय सिर्फ उन्ही चीजों को rank करें जिन्हें आप रैंक करवाना चाहते हैं।


5. आपको अपनी वेबसाइट पर layout यानि theme ऐसा लगाना है जो कि हर device के हिसाब से खुद को ढाल लेता हो यानि responsive हो। गूगल मोबाइल friendly websites को अपने सर्च में ज्यादा तवज्जो देता है।


6. हमारी वेबसाइट का architecture और navigation बहुत simple होना चाहिए जिससे कि सर्च इंजन और user दोनों को अच्छा experience मिले।


7. वेबसाइट का url structure जितना हो सके उतना simple होना चाहिए। उदाहरण के तौर पर- https://skn.com/hello-world.html से ज्यादा बेहतर url structure https://skn.com/program/hello-world है। 


8. गूगल और अन्य सर्च इंजन हमारी साइट को जल्दी से crawl कर पाएँ, इसके लिए हमें उसका XML साइटमैप Google Search Console और Bing Webmaster Tool में submit करना चाहिए। 


9. कई बार लोग वेबसाइट को dynamic बनाने के लिए उसमें बहुत heavy coding कर देते हैं जिससे कि उसकी loading speed के साथ ही साथ technical seo भी खराब हो जाता है। इसलिए हमें heavily coded themes को use करने से जितना हो सके उतना बचना चाहिए।


10. कई बार broken links के कारण हमारी वेबसाइट पर 404-error आ जाती है। लोगों को इसके बारे में बताने के लिए हमें 404-error message को customise करना चाहिए।










11. आज कंप्युटर से ज्यादा लोग मोबाइल पर इंटरनेट चलाते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि हमारी वेबसाइट mobile devices पर काफी जल्दी load हो। इसके लिए हम AMP (Accelerated Mobile Pages) तकनीक का उपयोग कर सकते हैं।


whw

🕵️  CURIOUSITY CORNER:


1. अपनी वेबसाइट के टेक्निकल SEO में कैसे सुधार करें?
अपनी वेबसाइट का Technical SEO improve करने के लिए हमें उसका xml sitemap वेब्मैस्टर टूल्स में submit करना होगा। इसके अलावा हमें अपनी साइट की loading speed में भी सुधार करना होगा।


2. टेक्निकल SEO कैसे सीखें?
टेक्निकल seo सीखना बहुत ही आसान है। इसके लिए आप internet पर पढ़ सकते हैं या फिर youtube पर videos देख सकते हैं। 









ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 


वेबसाइट का technical seo करना on page और off page seo करने के मुकाबले काफी आसान है आपको बस इस पोस्ट में बताई गई बातों का ख्याल रखना है।


तो दोस्तों यही था "टेक्निकल एसईओ कैसे करें/How do technical SEO in 2020 (Hindi)" पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। 




📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?



   

Post a Comment

0 Comments