Top Ad

Off Page SEO क्या है?

ब्लॉगिंग में हर कोई कहता है- "Content is the KING!"


लेकिन as a blogger, क्या आपने कभी सोचा है कि क्या होगा अगर किन्ही दो साइटों का Content बराबर शानदार है? आपको क्या लगता है कि इस situation में गूगल कौन-सी साइट को ऊपर rank करेगा?



इस परिस्थिति का भी Google के पास एक तोड़ है और उस तोड़ का नाम है- ऑफ-पेज एसईओ (Off-Page SEO).




किसी topic पर जब कम content available होता है तो गूगल आसानी से सबसे बेहतरीन कंटेन्ट को उठाकर सबसे ऊपर रैंक कर देता है। लेकिन जब किसी topic पर बहुत ज्यादा competition होता है यानि बहुत अधिक मात्रा में content मौजूद होता है तो गूगल सिर्फ कंटेन्ट की quality के आधार पर ही उसे rank नहीं करता है बल्कि वह उसके बारे में बाहर से (social media और अन्य साइटों से) भी बहुत सारी जानकारियाँ जुटाता है और फिर सारी चीजों को analyse करके बहुत सारी वेबसाइटों को rank करता है।



जब बहुत सारी मात्रा में quality content मौजूद हो तो गूगल साइटों को रैंक करने के लिए Off-Page SEO का सहारा लेता है। क्या है ये Off Page SEO और यह आपकी साइट के लिए क्या अहमियत रखता है, चलिए जानते हैं आज की इस पोस्ट में-




ऑफ पेज एसईओ क्या होता है हिंदी में/What is Off Page SEO in Hindi








1. ऑफ-पेज एसईओ का अर्थ (Off-Page SEO Meaning):

वो सारी गतिविधियां जिन्हें हम अपने ब्लॉग पर बाहरी रूप (externally) से करते हैं, ऑफ पेज SEO कहलाती हैं।


आसान शब्दों में कहूँ तो,

Off Page SEO उन सारी SEO techniques का समूह है जिनका प्रयोग हम अपनी पोस्ट के पब्लिश होने के बाद करते हैं ताकि वह गूगल में ऊपर rank कर सके।



मसलन, हम पोस्ट के publish होने के बाद उसे सोशल मीडिया साइटों पर share करते हैं, उसके backlinks बनाते हैं और उसे गूगल जैसे सर्च इंजनों में submit करते हैं। ब्लॉग पर ये सब चीजें करने को ही Off Page SEO कहा जाता है।


ऑफ पेज SEO का मुख्य उद्देश्य वेबसाइट का promotion करना होता है। अब क्योंकि off page seo वेबसाइट पर नहीं किया जाता है बल्कि वेबसाइट से बाहर किया जाता है इसलिए इसे 'OFF' (यानि बाहर) पेज SEO कहा जाता है।


जबकि On Page SEO वेबसाइट पर पोस्ट लिखते वक्त किया जाता है। इसके अंतर्गत Keyword शामिल करना, images जोड़ना जैसी चीजें आती हैं।










2. ब्लॉगिंग में ऑफ-पेज एसईओ का महत्व (Why is Off Page SEO Important):

ब्लॉगिंग में इस बात से बिल्कुल भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि कंटेन्ट ही राजा है। यानि ब्लॉगिंग में सबसे ज्यादा जो चीज मायने रखती है वह है आपका कंटेन्ट।


यह बात सौ टका सच है।


लेकिन कभी-कभी परिस्थिति कुछ ऐसी बन जाती है कि बहुत सारी साइटों का content ही शानदार होता है। इस परिस्थिति में गूगल और अन्य सर्च इंजन Content और On Page SEO के अलावा एक तीसरी चीज को analyse करते हैं, जो है- Off Page SEO Activities.


यानि वेबसाइटों का इंटरनेट पर व्यवहार check करना। इसमें गूगल पता लगाता है कि इंटरनेट पर किस वेबसाइट को लोग अधिक पसंद कर रहे हैं, सोशल साइटों पर कौन-सी वेबसाइट ज्यादा लोकप्रिय है। और कौन-सी वेबसाइट के पास अधिक quality backlinks हैं।


इन चीजों के आधार पर गूगल साइटों को अपने सर्च में rank करता है जब कि बहुत बड़ी मात्रा में quality content मौजूद होता है।


अगर आपके space में अधिक competition नहीं है तो आपके लिए off page SEO ज्यादा मायने नहीं रखता है, इस स्थिति में आप अपनी साइट का on page seo करके भी आसानी से गूगल में rank कर सकते हैं।


लेकिन अगर आप एक ऐसे space में हैं जहाँ पर बहुत ज्यादा competition है तो आपके लिए अपनी साइट के off page seo पर ध्यान देना बहुत जरूरी हो जाता है। इस परिस्थिति में गूगल में अच्छी position पर रैंक करने के लिए आपको बहुत सारे quality backlinks और social reach की जरूरत पड़ने वाली है।








3. ऑफ पेज एसईओ के महत्वपूर्ण फ़ैक्टर (Off Page SEO Factors):

ऑन पेज एसईओ की तरह ही off page seo के भी कुछ बहुत ही जरूरी factors हैं जिन्हें कि अगर हम अपनी वेबसाइट पर अभी से लागू करना शुरू कर दें, तो हमारी वेबसाइट का Off page seo काफी कम समय में काफी अच्छे से सुधर सकता है। पेश हैं ऐसे ही कुछ महत्वपूर्ण ऑफ पेज सेओ फ़ैक्टर्स-


1. बैकलिंक (Backlinks)- बैकलिंक यानि हमारी साइट का link किसी दूसरी साइट में होना। backlinks की ऑफ पेज एसईओ में अहमियत का अंदाजा आप इससे बात से लगा सकते हैं कि कई सारे लोगों के लिए तो off page seo का मतलब backlinks ही होते हैं।


अगर कोई अच्छी साइट अपनी किसी पोस्ट में हमारी साइट का link दे देती है तो उस लिंक को हम backlink कहते हैं। जितनी ज्यादा 'अच्छी वेबसाइटों' से हमारी साइट को backlink मिलेगा उतनी ही ज्यादा संभावना हमारी वेबसाइट के गूगल में rank करने की होगी।








2. सोशल शेयर (Social & Directory Sharing)- जितने अधिक लोग हमारी पोस्ट को सोशल साइटों जैसे- facebook, linkedin, twitter आदि में शेयर करते हैं, उतनी ही अच्छी हमारी search engine rankings हो जाती हैं।


इसलिए अपनी हर पोस्ट को publish कर लेने के बाद उसका लिंक अपने facebook page, twitter profile और linkedin आदि पर जरूर share करें। इसके अलावा आप अपने ब्लॉग को blog directories जैसे- Indiblogger और Indibloghub.com में भी submit करके उसका off page seo कर सकते हैं।







3. सर्च इंजन सबमिशन (Search Engine Submission)- अपनी साइट को गूगल और अन्य सर्च इंजनों में जल्दी से रैंक करवाने के लिए आप उसका साइटमैप Google Search Console (GSC) और Bing Webmaster Tool में शामिल कर सकते हैं। इससे वेबसाइट जल्दी से सर्च इंजनों में रैंक होती है।


4. गेस्ट पोस्टिंग (Guest Posting)- दूसरों की साइट पर गेस्ट पोस्ट लिखने पर दूसरी साइट आपकी साइट को एक backlink देती है, जिससे आपकी साइट का off page seo सुधरता है और आपकी गूगल रैंकिंग बढ़ती है। कुछ इस तरह-





5. अन्य तरीके (Other Methods)-

  • Question-Answer Sites Submission (Like- Quora & Chankya.
  • Forum Sites Submisison (Like- Reddit & StackOverFlow.
  • Leaving Comments on other sites with your site link.
  • Photo Submission Sites (Like- Pinterest and Instagram).








4. ऑन पेज और ऑफ पेज एसईओ में अंतर (On Page vs Off Page SEO):

एसईओ के टाइपों ऑन पेज और ऑफ पेज में वही फर्क है जो कि खेलों के प्रकारों Indoor और Outdoor खेलों में है।


जैसा कि हम जानते हैं कि इंडोर गेम्स वे होते हैं जिन्हें हम मैदान की जगह किसी कोर्ट या फिर कमरे में खेलते हैं (जैसे- Volleyball, Badminton, Table Tannis आदि)।


इसी तरह ऑन पेज SEO वो एसईओ होता है जिसे हम वेबसाइट के अंदर पोस्ट लिखते वक्त करते हैं ताकि हमारा पोस्ट गूगल में अच्छी जगह पर show हो। जैसे- Keyword inclusion, Internal Linking, et cetera.


दूसरी तरफ आउटडोर गेम्स वे होते हैं जिन्हें हम किसी कमरे के बजाय Ground पर खेलते हैं। जैसे- Cricket, Hockey, Football आदि।


ऑफ-पेज SEO भी आउटडोर खेलों की तरह होता है। इसमें हम वेबसाइट के अंदर कुछ नहीं करते हैं बल्कि उसका link लेकर इंटरनेट पर उसका promotion करते हैं। इसके अंतर्गत Social Sharing और Link Builiding जैसी चीजें आती है।








5. ऑन पेज एसईओ करने के फायदे (Off Page SEO Benenfits):

अपने ब्लॉग का ऑन-पेज SEO करने से हमारे ब्लॉग को कई सारे फायदे होते हैं। जिनमें से कुछ महत्वपूर्ण फायदे कुछ इस तरह हैं-


1. ऑफ पेज करने से हमारी वेबसाइट की Domain Authority और Page Authority में खासा उछाल आता है।


2. आपकी वेबसाइट की विभिन्न प्रकार की रैंकें जैसे- Moz Rank और Page Rank बहुत ज्यादा हद तक आपकी साइट के off page seo से influenced होती है इसलिए अगर आपकी साइट के Off Page SEO में सुधार आता है तो आपकी साइट की रैंकों में भी सुधार आ जाता है।



3. अपनी साइट का off page seo करने के लिए आपको उसे विभिन्न platforms और दूसरी वेबसाइटों पर promote करना होता है। इसलिए जब आप अपनी साइट को promote करते हैं तो साथ-साथ में उसका SEO भी हो जाता है और आपकी वेबसाइट बहुत सारे लोगों तक free में पहुँचने लगती है।







4. जब गूगल में किसी topic पर बहुत ज्यादा साइटों में competition होता है तो इस परिस्थिति में कंटेन्ट के बाद सबसे ज्यादा चीज जो matter करती है वो है- आपकी साइट का off page seo.







6. ऑफ पेज एसईओ कैसे करें? (How to do Off Page SEO):

अगर Link Building को छोड़ दिया जाए तो वेबसाइट का Off-Page SEO करना ऑन पेज SEO करने की तुलना में काफी आसान काम है।वेबसाइट का ऑफ पेज एसईओ करने के लिए आपको इन बातों का ख्याल रखना होता है-


1. पोस्ट publish होने के बाद आपको उसे जल्दी से social media पर शेयर कर देना है। ताकि आपकी पोस्ट जल्दी से आपके followers तक पहुँच सके और आपकी पोस्ट पर instant traffic आने लगे।


2. इसके बाद आप अगर गूगल सर्च कंसोल टूल का उपयोग करते हैं तो उसके Url Inspection फीचर में पोस्ट का URL डालकर उसे जल्दी से गूगल में rank करवाएँ। इसके साथ ही साथ अपनी वेबसाइट का sitemap भी गूगल सर्च कंसोल में जरूर submit करवाएँ।


3. इसके अगर आप indiblogger और indibloghub जैसी ब्लॉग directories का उपयोग करते हैं तो उनमें भी अपनी ब्लॉग पोस्ट का लिंक जरूर दें।


4. इसके बाद Quora जैसे Question-answer platforms पर उस पोस्ट से संबंधित सवालों का जवाब दें और अपने जवाब के अंत में अपनी पोस्ट का link दें। इससे लोग आपकी साइट तक आ पाएंगे। कुछ इस तरह.. 


5. और अंत में अपनी पोस्ट के backlinks बनाने पर बहुत ध्यान दें। क्योंकि ऑन पेज seo में यही वो चीज है जो सबसे ज्यादा matter करती है।








अपने ब्लॉग के लिए link बनाने के लिए आप Guest Post, Broken Link Building और Directory Submission techniques का इस्तेमाल कर सकते हैं।








7. ऑफ पेज SEO से ब्लॉग की ट्राफिक कैसे बढ़ता है?

गूगल साइटों को rank करने के लिए सिर्फ उनका content ही नहीं चेक करता है बल्कि in order to rank sites in its search गूगल उनकी popularity और trust भी check करता है।


वेबसाइट की लोकप्रियता को जानने के लिए गूगल उसके social media shares का सहारा लेता है जबकि वेबसाइट की भरोसेमंदी की जांच वह backlinks के आधार पर करता है।


इस तरह अगर आपकी साइट के पास पर्याप्त backlinks और social shares हैं तो गूगल उसे अपने सर्च में ऊपर रैंक करेगा। इस तरह आपकी साइट पर अच्छा traffic आएगा और वह धीरे-धीर popular हो जाएगी।







8. ऑफ पेज एसईओ में काम आने वाले टूल्स (Best Off Page SEO Tools List):

ये कुछ online tools हैं जो आपकी साइट साइट का off page seo करने में आपकी कुछ मदद कर सकते हैं (इनमें से कुछ paid tools हैं जबकि कुछ free!). 


1. Google Search (Absoulely free)

2. Semrush (paid)

3. Ahrefs (Paid)

4. Google Search Console (free)


6. Buzzsumo (paid)

7. Web Archive (free)

8. Moz Link Explorer (Paid)



9. वेबसाइट का ऑफ पेज एसईओ कैसे चेक करें? (Check On Page SEO):

अपनी वेबसाइट का on page seo आप कुछ online tools की मदद से जान सकते हैं। जिनमें से नील पटेल का Ubersuggest और SEO Mechanic का SEO Analyser लोकप्रिय है. 







ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 


दोस्तों, ऑन पेज एसईओ की ही तरह Off Page SEO भी हमारी साइट के लिए जरूरी है। इसलिए अपने ब्लॉग में content लिखने के साथ-साथ ही backlink बनाने पर भी बराबर ध्यान दें। साथ ही साथ पोस्ट लिखने के बाद उसे लोगों तक पहुंचाना बिल्कुल भी न भूलें। इसके लिए आप facebook और quora का इस्तेमाल कर सकते हैं।



तो दोस्तों यही था "ऑफ पेज एसईओ के बारे में जानकारी/Off Page SEO Information in Hindiपर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। (1981 words)




📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?



   

Post a Comment

2 Comments

  1. very nice post, it will really help in traffic increasing

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका बहुत बहुत आभार अखिलेश जी। उम्मीद है कि हम आपके लिए इसी तरह की मददगार पोस्टें लाते रहेंगे।

      Delete

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!