Top Ad

ब्लॉग का On Page SEO कैसे करें? (Step by Step)

क्या आप अपनी साइट को Google में रैंक करवाने के लिए जूझ रहे हैं?


अगर "हाँ" तो हमारे पास आपके लिए एक रास्ता है। 



अपनी साइट को गूगल या किसी भी अन्य सर्च इंजन में रैंक कराने के लिए आपको अपनी साइट का SEO करना होता है। आप अपनी साइट का SEO दो तरीकों से कर कर सकते हैं- पहला Off-Page और दूसरा On-Page SEO. 




साइट का Off-Page SEO करना On-Page SEO करने के मुकाबले कठिन होता है क्योंकि इसमें आपको अपनी साइट के लिए backlinks बनाने पड़ते हैं जो कि एक आसान काम नहीं है।


ऑफ पेज के मुकाबले On page SEO करना काफी easy होता है। इसमें आपको बस अपनी पोस्ट लिखते वक्त कुछ चीजों का ख्याल रखना होता है और इस तरह आप इसे आसानी से अपनी साइट पर लागू कर सकते हैं। 


वैसे तो On Page और Off Page दोनों तरह के SEO किसी साइट को गूगल में रैंक कराने के लिए जरूरी होते हैं। लेकिन अगर किसी साइट का ऑन पेज seo अच्छे ढंग से किया जाए तो off page seo की जरूरत काफी हद तक कम हो जाती है।


इसलिए आज की इस पोस्ट में हम यही जानने वाले हैं कि आप अपनी वेबसाइट का ऑन पेज एसईओ (On Page SEO) अच्छी तरह से कैसे कर सकते हैं-








ऑन पेज एसईओ कैसे करें? / How to do On Page SEO in Hindi



1. On Page SEO क्या है?

एसईओ का वह type जिसे हम पोस्ट लिखते वक्त apply करते हैं, 'ऑन पेज SEO' कहलाता है।


उदाहरण के लिए, पोस्ट लिखते समय हम title, heading और subheadings में keyword शामिल करते हैं यह on page seo हो गया। इसके अलावा हम अपनी एक पोस्ट से दूसरी अन्य पोस्टों को internally link करते हैं यह भी एक type का ऑन पेज seo हो गया। 


इसलिए,


पोस्ट लिखते वक्त की गई हर वो activity जो हमें गूगल में रैंक करने में मदद करती हैं, On Page SEO कहलाती है। 


ऑन पेज SEO के बारे में ज्यादा जानने के लिए आप यह article पढ़ सकते हैं-










2. ऑन-पेज एसईओ के महत्वपूर्ण फैक्टर (On Page SEO Factors):

कुछ फ़ैक्टर्स होते हैं जिनका उपयोग करके आप अपनी वेबसाइट का on page seo अच्छी तरह से कर सकते हैं। कुछ important on page seo factors इस प्रकार हैं-



1. कीवर्ड (Keyword)- ऑन पेज SEO में सबसे ज्यादा जो चीज मायने रखती है वो है- Keywords. किस कीवर्ड का प्रयोग कहाँ पर करना है और किस तरह से करना है यह एक ब्लॉगर को अच्छी तरह से पता होना चाहिए तभी वह अपनी ब्लॉग पोस्ट का On Page SEO अच्छी तरह से कर सकता है। 


2. कंटेन्ट (Content)- आपके ब्लॉग का content भी ऑन-पेज seo के ही under में आता है। अगर आप अपनी वेबसाइट का content शानदार रखते हैं तो आपकी साइट का ऑन पेज seo अपनी आप ही सुधर जाता है।



3. आंतरिक लिंकिंग (Internal Linking)- नई पोस्ट लिखते वक्त उसमें अपनी पुरानी पोस्टों का link जरूर दें और अपनी पुरानी पोस्टों में उस नई पोस्ट का link दें। इस तरह से आपकी नई ब्लॉग पोस्ट गूगल में जल्दी से अच्छी position पर रैंक हो जाती है।







4. यूआरएल संरचना (URL Structure)- अपने ब्लॉग की पोस्टों का url पोस्ट से related ही रखें। जैसे- अगर आप 'पढ़ाई कैसे करें' विषय पर पोस्ट लिख रहे हैं तो उस पोस्ट का यूआरएल आप कुछ इस तरह रख सकते हैं- 'https://yoursite.com/padhai-kaise-karein.html'.


इस तरह का url रखने से आपकी पोस्ट गूगल में अच्छे स्थान पर रैंक होगी। 



5. मेटा विवरण (Meta Description)- अपनी हर पोस्ट के लिए एक meta/search description जरूर लिखें। इससे लोगों को आपकी पोस्ट के content के बारे में एक overview मिलता है।

search meta description in blogger blog in hindi



6. तस्वीरें एवं विडिओ (Images & Videos)- अपनी ब्लॉग पोस्ट में photos और videos include करने से पोस्ट गूगल में और भी बेहतर position पर रैंक करती है।


7. कंटेन्ट अपडेट (Content Updation)- अपनी लिखी पुरानी पोस्टों को समय-समय पर जरूर update करते रहें। ऐसा करने से उनकी ranking सुधरती है क्योंकि गूगल fresh content को ज्यादा पसंद करता है।







4. वेबसाइट का ऑन पेज एसईओ करने का तरीका (On Page SEO Method/Technique):


अपने ब्लॉग या फिर वेबसाइट का On Page SEO करना बहुत ही आसान काम है बशर्तें कि आप थोड़ी सी keyword research करें। बीतते वक्त के साथ जैसे-जैसे आप पोस्ट लिखते जाएंगे तो आपकी on page seo करने की skill अपने आप ही सुधरती जाएगी और फिर आप naturally ही अपने आप अपनी साइट का on page seo कुछ ही मिनटों में कर पाएंगे।


इससे पहले कि हम On page seo करने के step by step तरीके को जाने, हमें यह जरूर जान लेना चाहिए कि ब्लॉग पोस्ट लिखने और उसका on page seo करने में कोई फरक नहीं है। ऑन पेज seo अलग से नहीं करते हैं बल्कि ब्लॉग पोस्ट लिखते के साथ ही में करते हैं।


जैसे आप अगर अपनी ब्लॉग का title लिख रहे हैं तो आपको उसे इस तरह लिखना है कि उसमें आपकी पोस्ट का keyword भी शामिल हो जाए। इस तरह आपका title भी बन जाता है और साथ ही साथ उसका on page seo भी हो जाता है।


शायद अब तक आप ऑन पेज एसईओ को अच्छी तरह जान-समझ गए होंगे। तो चलिए अब जानते हैं कि कैसे आप अपनी वेबसाइट का on page seo कर सकते हैं-







1. कीवर्ड रीसर्च (Keyword Research)-

अपनी पोस्ट का on page seo करने के लिए सबसे पहली चीज जो आपको करनी है वो है- keyword research. कीवर्ड रीसर्च यानि अपनी पोस्ट से संबंधित उन कीवर्डों का पता लगाना जो लोग गूगल में सर्च कर रहे हैं।


जैसे कि, अगर आप 'SEO' पर पोस्ट लिख रहे हैं तो आपको गूगल में जाकर seo टाइप कर देना है। टाइप कर देने के बाद गूगल आपको जो sentences नीचे से दिखाता हैं वे आपके लिए keywords हो जाते हैं। 

google autosuggestion in hindi


इसके अलावा सर्च करने के बाद गूगल अंदर भी आपको कुछ और keywords दिखाता है आपको इन सारे keywords को किसी copy या फिर notepad में note कर देना है।

google related searches people also search for box for finding keywords in hindi


इसके बाद आपको अपनी पोस्ट लिखनी शुरू कर देनी है। 


2. टाइटल टैग लिखना (Write Post Title)-
पोस्ट लिखते वक्त सबसे पहले आपको अपनी पोस्ट का title लिखना है।

ध्यान रहे हमारी पोस्ट का title ऐसा होना चाहिए जो लोगों को आकर्षित भी करे और साथ ही साथ उसमें keyword भी शामिल हो। टाइटल ज्यादा लंबा नहीं होना चाहिए।


एक अच्छे टाइटल का उदाहरण- "मन लगाकर पढ़ाई कैसे करें?"

यह एक टाइटल है क्योंकि यह आकर्षक, छोटा और simple है और साथ ही साथ इसमें 'पढ़ाई कैसे करें?' keyword शामिल है। 








3. यूआरएल लिखना (Write URL)-
पोस्ट के टाइटल को लिखने के बाद आपको अपनी पोस्ट का url लिख देना है।

पोस्ट के url में आपकी पोस्ट का keyword शामिल होने से उसके गूगल में अच्छे स्थान पर rank करने की संभावना बढ़ जाती है। यूआरएल को जितना हो सके छोटा रखा जाना चाहिए (2 से 5 शब्दों के बीच).


एक अच्छा यूआरएल- 'https://www.yoursite.com/padhai-kaise-karein-hindi.html'


यह एक अच्छा url है क्योंकि यह छोटा है और इसमें 'पढ़ाई कैसे करें' keyword भी शामिल है।



4. पोस्ट विवरण भरना (Post Details)-
जब आप ये 3 steps पूरे कर देते हैं तो इसके बाद आपको पोस्ट की छोटी-छोटी details भरनी होती हैं। जिनमें Lables, tags और Location जैसी चीजें शामिल होती हैं। ब्लॉगर में ये चीजें कुछ इस तरह दिखती हैं (Right Side में).


this is blogger blog writing interface in hindi



  • इसमें आपको Meta या Search Description भी भरना होता है। मेटा डिसक्रिप्शन लोगों को पोस्ट के बारे में बताने के लिए होता है इसलिए इसमें बहुत सारे keywords ना उड़ेलें बल्कि इसे बहुत ही आकर्षक और अच्छे ढंग से लिखें।








5. कीवर्ड शामिल करें (Include Keywords)-
पोस्ट से संबंधित सारी details भर लेने के बाद आपको अपनी पोस्ट लिखना शुरू कर देना है। और पोस्ट लिखते वक्त ही आपको उसमें उन keywords को शामिल करना है जिन्हें हमने step 1 में कीवर्ड रीसर्च के द्वारा ढूंढा था।



  • शुरुआत के 100 शब्दों में keyword शामिल करें।

  • पोस्ट के आखिरी 100 शब्दों में भी अपना keyword include करें।

  • पोस्ट के बीच में आए keywords को bold, italic और underline करें।

  • टाइटल (H1 tag) में अपने main keyword का प्रयोग करें।

  • Heading (H2 Tag) में keyword शामिल करें।

  • Subheading (H3 Tag) में keywords शामिल करें।

  • Minor Headings (H4 tag) में भी keywords का प्रयोग करे।







6. आंतरिक लिंकिंग करें (Do Internal Linking)-
आप अभी जो पोस्ट लिख रहे हैं उसमें अपनी पिछली पोस्टों का link जरूर दें। और अपनी पिछली पोस्टों को edit करके उनमें अपनी नई पोस्टों का link दें। इस काम को internal linking कहते हैं।




पोस्टों की इन्टर्नल लिंकिंग करने से वेबसाइट के on page seo में काफी सुधार आता है और हमारी पोस्टें गूगल में जल्दी से और अच्छे स्थान पर रैंक करने लग जाती है।




7. तस्वीरों का एसईओ करें (Image SEO)-
अपने ब्लॉग की तस्वीरों का SEO करने आप Google Image Search में अच्छी position पर rank करके अच्छा-खासा free traffic पा सकते हैं।

Image SEO करने के लिए आपको images को rename करके उनमें keyword डाल देना है। साथ ही साथ आपको उनमें alt tag भी लिखना होता है।


8. लंबी और विस्तृत पोस्ट लिखें (Write Detailed Post)-
अगर संभव हो तो detailed post लिखें यानि उस विषय के ज्यादा से ज्यादा aspects को cover करें। क्योंकि गूगल अपने सर्च में detailed पोस्टों को ज्यादा अहमियत देता है। ऐसा इसलिए क्योंकि विस्तृत पोस्टें readers को उस topic के बारे में पूरी जानकारी देती हैं, जो कि गूगल चाहता है।


उदाहरण के लिए अगर आप पढ़ाई करने पर पोस्ट लिख रहे हैं तो पढ़ाई कैसे करें, किस समय करें, पढ़ाई किस तकनीक से करें आदि चीजों के बारे में अपनी पोस्ट में लिखें।


छोटी पोस्ट को बेवजह लंबी न खींचे इसके बजाय उसमें और topics को add करें। इससे पोस्ट सही मायनों में विस्तृत होगी।



9. फालतू के विज्ञापन न लगाएँ (Avoid Annoying Ads)-
अपनी पोस्ट में ads लगाना अच्छा है लेकिन बहुत ज्यादा मात्रा में और परेशान करने वाले ads user को पसंद नहीं आते है और हमारी साइट के on page seo को negatively प्रभावित करते हैं। इसलिए हमें अपनी साइट पर उतने ही ads लगाने चाहिए जितने कि जरूरी हों और जिनसे कि हमारे users को परेशानी न हों।


10. शानदार कंटेन्ट लिखें (Write Great Content)-
ऑन पेज SEO में सबसे ज्यादा जो चीज मायने रखती है वो है- आपका कंटेन्ट। अगर आपका content शानदार है तो आपकी साइट का आधे से ज्यादा SEO तो अपनी आप ही हो जाता है। इसलिए अपनी वेबसाइट का content बेहतर बनाने पर ध्यान दें।









5. ऑन पेज एसईओ कैसे सीखें? (How to learn On Page SEO):

अपने ब्लॉग पर जितनी ज्यादा पोस्टें आप लिखते हैं उतनी ही ज्यादा आपके on page seo करने की skill सुधरती जाती है क्योंकि हर बार आपको कुछ नया सीखने को मिलता है।


अगर आपके द्वारा लिखी गई किसी पोस्ट पर गूगल से बहुत अधिक traffic आ रहा है (जिसका पता आप Google Search Console से लगा सकते हैं) तो उस पोस्ट को खोलिए और उसमे देखिए कि आपने उसका on page seo किस तरह किया था कि जिस कारण उसपर गूगल से इतना अच्छा traffic आ रहा है। इस तरह अपनी popular पोस्टों को analyse करने से आप अपने आप ही जान जायेगे कि आपको अपने ब्लॉग का अच्छा on page seo करने के लिए क्या करना है।


साथ ही साथ अपने ब्लॉग की सबसे कम popular पोस्ट को भी analyse कीजिए। देखिए कि आपने उसमें कौन-सी चीज गलत की थी जिसके कारण उसपे कम traffic आ रहा है। हो सकता है कि आपने उसमें कोई image या फिर video add न की हो। या फिर हो सकता है कि आपने उसे detail में न लिखा हो। जरूर आपको कोई ना कोई कारण मिल जाएगा। इस तरह आप जान जाएंगे कि आपको अपने ब्लॉग पर कौन-कौन-सी चीजें नहीं करनी हैं।


चीजों (Data) को analyse करते रहिए और धीरे-धीरे आप खुद महसूस करेंगे कि आप काफी अच्छा SEO करने लगे हैं।






ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 

SEO चाहे on page हो या फिर हो off page, एक-दो महीनों में नहीं सीखा जा सकता है। एक अच्छा SEO expert बनने के लिए आपको अपनी खुद की seo techniques को बनाना होगा और उन्हें apply करना होगा। इसके बाद मिलने वाले results को analyse करके आपको पता लगाना होगा कि क्या यह तकनीक काम करती है या नहीं। और इस तरह experiment करते-करते आपको पता भी नहीं चलेगा कि कब आप बहुत अच्छा SEO करना सीख गए।



तो दोस्तों यही था "ऑन पेज एसईओ कैसे सीखें/ on-page seo kya hai kaise karte hai best 10 techniquesपर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। 




📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?



   

Post a Comment

5 Comments

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!