Top Ad

अलेक्सा रैंक क्या होती है? | Alexa Rank in Hindi

आज इंटरनेट पर करीब एक अरब से ज्यादा साइटें मौजूद है और इन 1 अरब वेबसाइटों में हमारी वेबसाइट पूरी दुनिया या फिर किसी विशेष देश में कौन-से नंबर पर आती है यह लगभग हर webmaster और blogger जानना चाहता है; जिनमें से हो सकता है कि आप भी एक हों।



alexa rank is a site popularity metric that shows the overall popularity of a site on the basis of traffic it gets in the last 3 months.
Photo- SCOPedia


एक तरफ जहां Moz Rank, Domain Authority, Page Rank और Page Authority जैसी metrics हमारी website की गूगल में रैंक करने की क्षमता को बताती है वहीं दूसरी ओर Alexa Rank इंटरनेट की दुनिया की एक ऐसी metric है जो हमारी साइट की popularity के बारे में जानकारी देती है। इस rank को आपकी साइट के backlinks, SERPs Rankings आदि से सीधा-सीधा कोई फरक नहीं पड़ता है। इसे फरक पड़ता है तो सिर्फ और सिर्फ आपकी साइट के Traffic और User Experience (Bounce Rate, Time On Site आदि) से। 


अलेक्सा रैंक हमारी साइट के लिए बहुत ज्यादा अहमियत रखती है क्योंकि लोग आपकी साइट की popularity चेक करने के लिए आपकी alexa rank ही check करते हैं। इसके अलावा advertisers आपकी साइट पे advertise करने से पहले आपकी alexa rank जाँचते हैं और उसके आधार पर आपको विज्ञापन लगाने के पैसे देते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि हम अपनी वेबसाइट की एलेक्सा रैंक में सुधार करने की पूरी कोशिश करें। 


आज की इस पोस्ट में हमने इसी एलेक्सा रैंक के कई अलग-अलग पहुलुओं के बारे में बात की है जैसे कि- अलेक्सा रैंक क्या होती है; यह आपकी website के लिए क्या मायने रखती है और आप अपनी साइट की अलेक्सा रैंक में इजाफा करने के लिए क्या कदम उठाया सकते हैं-








1. वेबसाइट की अलेक्सा रैंक क्या होती है? (What is Alexa Rank):

एलेक्सा रैंक Amazon की एक subsidiary कंपनी 'Alexa Internet' के द्वारा विकसित किया गया एक ranking system है जो कुछ आंकड़ों जैसे- Traffic, Bounce Rate, Dwell Time और Ranking keywords के आधार पर किसी वेबसाइट को rank देने का काम करता है। इस रैंक को पिछले तीन महीने में किसी साइट पर हुई activities के data के आधार पर तय किया जाता है। 


आसान शब्दों में कहा जाए तो,


अलेक्सा रैंक किसी वेबसाइट की लोकप्रियता का एक ऐसा मापदंड है जो उस साइट पर आने वाले लोगों की संख्या और उनके द्वारा दर्शाए गए व्यवहार के आधार पर उस साइट को रैंकिंग देता है। 



गौरतलब है कि किसी साइट की अलेक्सा रैंक एक relative metric है absolute नहीं। दूसरे शब्दों में कहें तो आपकी साइट की alexa rank कितनी होगी यह सिर्फ आपकी साइट पर ही depend नहीं करता है बल्कि यह दूसरी साइटों पर भी indirectly depend करता है। 



यह कुछ ऐसा ही है जैसा कि अपनी कक्षा में अव्वल आना। आपको सिर्फ अच्छे नंबर ही नहीं लाने हैं बल्कि 'सबसे' अच्छे नंबर लाने हैं। जैसे कि मान लीजिए कि आप किसी परीक्षा में 1000 में से 999 अंक लाते है तो इसे हम बहुत अच्छे अंक मान सकते हैं। मगर वहीं दूसरी तरफ आपका कोई दोस्त उसी परीक्षा में 1000 नंबर ला लेता है तो वह आपसे आगे निकल जाता है। भले ही आपने कितने ही अच्छे नंबर क्यों न लाये हो, मगर अगर कोई आपसे अधिक अंक ला लेता है तो आपकी रैंक खराब हो जाती है। ठीक ऐसा ही alexa rank के साथ भी होता है। 







अगर आपकी साइट पर बहुत सारे लोग आ रहे हैं मगर दूसरी किसी साइट पर आपसे भी ज्यादा लोग आ जाते हैं तो आपकी alexa rank अपने आप ही बिगड़ जाती है। जबकि moz rank, da, pa और page rank जैसी metrics 'Absolute' होती हैं। दूसरी साइटों की मोज़ रैंक या डीए, पीए घटने-बढ़ने का हमारी साइट की rankings पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। 




किसी साइट की alexa rank जितनी कम होती है उस वेबसाइट को उतना ही ज्यादा popular समझा जाता है। ठीक वैसे ही जैसे class में जिस बच्चे की position जितनी कम होती है उतने ही ज्यादा परीक्षा में उसके अंक होते हैं। 




 2. अलेक्सा रैंक का इतिहास (History of Alexa Rank):

अलेक्सा रैंक को 1996 में Brewster Kahle और  Bruce Gilliat ने एक साल मिलकर बनाया था। अपनी कंपनी का नाम उन्होंने Alexa Internet रखा था जिसे बाद में साल 1999 में Amazon ने 25 करोड़ डॉलर में खरीद लिया था। 



शुरुआत में alexa का main काम था- लोगों से उनके browser में alexa toolbar install करवाकर उन्हें यह suggestion देना कि जिस वेबसाइट को वे अभी चला रहे हैं इसके बाद उन्हें किस वेबसाइट पर जाना चाहिए। आज यह काम बहुत ही ज्यादा simple लगता है लेकिन ध्यान रहे यह बात उस वक्त की है जबकि गूगल को भी अस्तित्व में आने के लिए दो साल शेष थे!








अलेक्सा की ज़िंदगी में एक ऐसा वक्त भी आया जबकि कई antivirus softwares द्वारा इसे एक malware यानि virus घोषित कर दिया। साल 2005 से 2007 के बीच Windows Defender और McAfee जैसे कई security सॉफ्टवेयरों ने ब्राउजरों में use होने वाले इसके tool को personal securtiy के लिए खतरनाक करार दिया था। 



3. किसी साइट की अलेक्सा रैंक कैसे निर्धारित की जाती है? (How is Alexa Rank Calculated):


जिस तरह किसी साइट की domain और page authority को determine करने के लिए उसे कई सारे फ़ैक्टरों (जैसे- backlinks, keywords और content) की कसौटी पर परखा जाता है ठीक उसी प्रकार किसी वेबसाईट की Alexa Rank को calculate करने के लिए भी factors होते हैं जिनके आधार पर किसी साइट की alexa rank की गणना की जाती है। इस तरह के कुछ मुख्य कारक नीचे दिए गए हैं-



  • किसी वेबसाईट की alexa rank में जो चीज सबसे ज्यादा मायने रखती है वह है- Website Traffic. सामान्यतया जिस साइट पर आने वाले लोगों की संख्या (ट्रैफिक) अच्छी होती है उसकी alexa rank भी काफी अच्छी होती है। 

  • दूसरी चीज जो alexa rank को काफी हद तक effect करती है वो है- Bounce Rate (यानि कितने लोग % आपकी साइट को जल्दी से छोड़कर चले जाते हैं). अगर आपकी साइट का बाउंस रेट काफी ज्यादा है तो इस बात के काफी ज्यादा chances हैं कि आपकी अलेक्सा रैंक भी काफी ज्यादा होगी (यानि खराब होगी)। 

  • तीसरी चीज जो alexa rank को निर्धारित करते वक्त ध्यान में रखी जाती है वो है- Time On Site (Dwell Time) (यानि लोग आपकी वेबसाइट पर कितने समय तक रुकते हैं). आपकी साइट का Dwell Time जितना ज्यादा होगा उतने ही ज्यादा chances होते हैं कि आपकी alexa rank कम हो (यानि अच्छी हो)। 


अब alexa अपने tools (जैसे- alexa toolbar, certified accounts) की मदद से sites का पिछले तीन महीनों का data निकालती है और फिर उसके आधार पर निर्धारित करती है कि किसी साइट को कितनी rank देनी चाहिए। यह अलेक्सा कंपनी हर रोज करती है क्योंकि अलेक्सा के database में मौजूद करीब 3 करोड़ वेबसाइटों को रोज update किया जाता है। 






3. अलेक्सा रैंक आपकी साइट के लिए क्यों जरूरी है? (Why is Alexa Rank important for your site):

कोई भी non-technical आदमी अगर यह जानना चाहता है कि आपकी साइट जो है वो कितनी बड़ी है तो वह आपकी alexa rank ही चेक करता है। इसके अलावा ज्यादातर advertiser आपकी साइट पर अपना विज्ञापन देने के लिए आपकी साइट की alexa stats को ही चेक करते हैं और उसके आधार पर वे तय करते हैं कि आपको advertising के कितने पैसे दिए जाएंगे। 


अलेक्सा रैंक आपकी वेबसाईट की popularity का मापदंड है यानि यह बताती है कि आपकी वेबसाइट लोगों के द्वारा कितनी पसंद की जाती है। वही दूसरी तरफ moz rank, domain authority और page rank जैसी metrics आपकी साइट की popularity को नहीं बल्कि SEO और आपकी साइट की सर्च इंजनों में rank करने की क्षमता को बताती है और ये मेट्रिक्स सिर्फ technical लोगों के लिए ही मायने रखती है। ज्यादातर लोगों को इस बात से कोई फरक नहीं पड़ता कि आपकी साइट की domain authority या फिर page rank क्या है लेकिन उन्हें इस बात से फरक पड़ता है आपकी वेबसाइट दुनिया में कौन-से नंबर की वेबसाइट है यानि उसकी अलेक्सा रैंक क्या है। 



तो शायद अब तक आप अच्छी तरह से जान गए होंगे कि अलेक्सा रैंक क्या है और यह आपकी वेबसाइट के लिए क्या अहमियत रखती है। तो चलिए अब जानते हैं कि आप अपनी वेबसाइट की alexa rank में कैसे सुधार कर सकते हैं यानि उसे कैसे कम कर सकते हैं-








4. वेबसाइट की अलेक्सा रैंक को कैसे कम करें? (How to improve alexa rank):

अलेक्सा कंपनी अपनी site popularity metric अलेक्सा रैंक को रोज update करती है यानि हर दिन लगभग 3 करोड़ साइटों की अलेक्सा रैंक को update किया जाता है जबकि Moz rank, DA और page rank जैसी चीजें update होने में काफी time लेती हैं। इसलिए आप अपनी वेबसाइट की लोकप्रियता में होने वाली वृद्धि को जल्दी से देख सकते हैं।ये कुछ tips हैं जिनकी मदद से आप अपनी साइट की alexa rank को improve कर सकते हैं। 



1. सबसे पहले तो अपनी साइट का content शानदार बनाएँ क्योंकि जब तक आपकी साइट का कंटेन्ट अच्छा नहीं होगा तब तक लोग आपकी साइट पर आना पसंद नहीं करेंगे। 


2. दूसरी चीज जिसपे आपको ध्यान देना है वह है- आपकी साइट का SEO. हालांकि आपकी वेबसाइट का SEO directly आपकी alexa ranking को प्रभावित नहीं करता है मगर indirectly यह आपकी साइट की alexa ranking में सुधार करने के लिए जरूरी है। क्योंकि अगर आपकी वेबसाइट का SEO अच्छा होगा तो आपकी साइट सर्च इंजनों में पहले दिखेगी जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग आपकी website पर जा सकेंगे और आपकी साइट की लोकप्रियता में इजाफा होने लगेगा। इसलिए अपनी वेबसाइट की अलेक्सा रैंक को सुधारने के लिए अपनी वेबसाईट के Search Engine Optimization पे ध्यान दें। 







3. अपनी साइट के content को interesting बनाने की कोशिश कीजिए ताकि लोग आपकी साइट पे लंबे समय तक टिके रहें और आपके bounce rate में कमी आए और साथ ही साथ साइट के Dwell Time में इजाफा हो।


4. अपनी वेबसाइट में उन keywords पर पोस्ट लिखिए जिन पर आपके ही niche की दूसरी साइटे लिख रही हैं और बहुत ज्यादा traffic पा रही हैं। 


5. Last but not the least, अपनी साइट के लिए backlinks बनाइये। क्वालिटी बैकलिंकों से आपकी वेबसाइट की हर तरह की rank सुधर जाती है। इसलिए backlinks जरूर बनाइये। 



5. वेबसाइट की अलेक्सा रैंक कैसे पता करें? (Check Alexa Rank):



                                      
                                     Watch More Videos



अपनी वेबसाइट की अलेक्सा रैंक check करने के लिए आप Alexa की official वेबसाइट पर जा सकते हैं। इसके अलावा आप गूगल में "Alexa Rank Checker" टाइप करके भी अपनी साइट की अलेक्सा रैंक जान सकते हैं। 







6. अलेक्सा के विभिन्न ट्रैकिंग टूल्स (Alexa Tracking Tools):

अलेक्सा किसी साइट की popularity को track करने के लिए दो तरीकों का इस्तेमाल करता है-

  • Alexa Browser Toolbar (Estimated Data)- कई सारे लोग alexa के browser extension का उपयोग विभिन्न वेबसाइटों का traffic data जानने में करते हैं। अलेक्सा इन लोगों के द्वारा visit की हुई साइटों का data collect करता है इसके आधार पर विभिन्न साइटों की popularity का अंदाजा लगाता है इसे estimated alexa traffic कहते हैं। 

  • Alexa Certified Stats- जो लोग अपनी साइट को alexa में पैसे देकर register करवाते हैं alexa उनकी साइट में एक code लगवाकर उसे अच्छे से track करता है। इस तरह से जो आँकड़े प्राप्त होते हैं वे अंदाज़े पर आधारित नहीं होते हैं बल्कि पूरी तरह वास्तविक होते हैं। लेकिन इसका मतलब यह कतई नही है alexa पैसे देकर लोगों की साइटों की rank बढ़ा देती है, पैसे तो वह सिर्फ उन साइटों की tracking और उन्हें data देने के एवज में लेती है। 


7. अलेक्सा के ही जैसे दूसरे रैंकिंग सिस्टम्स (Site Popularity Ranking Systems):

अलेक्सा amazon का ranking system है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है इसके जैसी कोई दूसरी रैंक है ही नहीं। ये साइट की popularity नापने वाले कुछ ranking systems हैं जो alexa के जैसे ही काम करते हैं लेकिन उसके जीतने popular नहीं हैं-













ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 

अलेक्सा रैंक बताती है कि लोगों के बीच आपकी साइट कितनी ज्यादा popular है। इसपे आपको खास देना चाहिए। लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप दिनभर बस अपनी वेबसाइट की rank ही चेक करते रहें। हफ्ते में एक बार अपनी वेबसाइट की alexa rank को जाँचना सही रहेगा। 


तो दोस्तों यही थी "अलेक्सा रैंक के बारे में जानकारी/ Information about alexa rank (Hindi)" पर हमारी आज की पोस्ट। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और आपका कोई सवाल हो तो उसे भी जरूर पूछें। हमसे facebook पर जुड़ें ताकि आपको नई post की update मिलती रहे। 





📚 READ MORE POSTS: 


• ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?



   

Post a Comment

0 Comments