Top Ad

नया ब्लॉग बनाने के बाद आगे क्या करना चाहिए?


नया ब्लॉग बनाने के बाद उसका अच्छी तरह से set up करने का काम Blogger के लिए किसी चुनौती से कम नहीं होता; खासकर तब जब वह ब्लॉगर BLOGGING के field में नया- नया आया हो और उसे ब्लॉगिंग करने का बिल्कुल भी Experience ना हो!





हालांकि धीरे-धीरे 5-6 महीनों में ज़्यादातर नए ब्लॉगर्स भी Blogging से related बहुत सारी बातें जान लेते हैं लेकिन उस समय फिर उन्हें ब्लॉगिंग की शुरुआत में की हुई अपनी गलतियों के कारण पछताना पड़ता है. Personally मेरा खुद का भी यही experience रहा है।


इसलिए अगर आप एक नए ब्लॉगर हैं और आपने अभी recently अपना कोई नया ब्लॉग बनाया है या फिर किसी कारणवश अपने पुराने ब्लॉग का ही URL (web address) change किया है तो आपको कुछ बातों को जरूर ध्यान में रखना चाहिए ताकि गूगल आपके नए ब्लॉग को सही से Rank करे और आपके ब्लॉग को अच्छा खासा TRAFFIC मिल सके.


पेश है ऐसी ही 10 बातें, जिन्हें अगर आप अपने नए ब्लॉग पर शुरुआत से ही लागू कर दे तो आप अपनी Blogging Journey के successful होने के chances काफी हद तक बढ़ा सकते हैं–




8 चीज़ें जो नया ब्लॉग बनाने के बाद हमें उसमें करनी चाहिए / 8 Things we should do just after creating a Blog in Hindi




1)• सही प्लेटफार्म की मदद से ब्लॉग बनाना (Choosing Right Blogging Platform)–


हालांकि ये point ब्लॉग बनाने के बाद का तो नहीं है लेकिन फिर भी, क्योंकि यह बहुत ज़्यादा crucial है, इसलिए इसका थोड़ा-सा ज़िक्र तो जरूर किया जाना चाहिए।


          (Pic Credit- johnbmcdonald.com)


ब्लॉगिंग की शुरुआत में तो यह बात बहुत ज्यादा मायने नहीं रखती है कि हम कौन से प्लेटफार्म का use करके अपना ब्लॉग बनाते हैं लेकिन जैसे-जैसे हम ब्लॉगिंग के इस सफ़र में आगे बढ़ते हैं और नई-नई चीजें सीखते जाते हैं और उन्हें अपने ब्लॉग पर apply करने का सोचते हैं लेकिन उस प्लेटफार्म की कमियों (Limitations) के कारण हम उन चीजों को सही से अपने ब्लॉग पर लागू नहीं कर पाते।


तब जाकर हमें पता चलता है कि शुरुआत में सही ब्लॉगिंग प्लेटफार्म को ना चुनकर हमने कितनी बड़ी भूल की है और उस वक्त हमारे दिमाग में सिर्फ एक ही ख्याल आता है– 



काश! इसके बारे में मुझे पहले पता होता.


उदाहरण के लिए– अगर हम अपने ब्लॉग को अपने हिसाब से design करना चाहते हैं लेकिन हम wordpress.org के बजाय blogger.com पर अपना ब्लॉग बना लेते हैं तो हमारे लिए काफी मुश्किल हो जाती है क्योंकि Blogger में अपने ब्लॉग को खुद के हिसाब से design करने के बहुत कम options ही होते हैं..


इसलिए यह बहुत जरूरी है कि ब्लॉग बनाने से पहले हम या अच्छी तरह से जान लें कि हमारे लिए कौन-सा Blogging Platform अच्छा रहेगा.


हमेशा ध्यान रखिए कोई भी Platform बेकार नहीं होता। हर प्लेटफार्म अलग-अलग जरूरतों को पूरा करने के लिए बना होता है। जैसे- Tumblr फोटो-ब्लॉग के लिए, Blogspot कम Technical लोगों के लिए, wordpress.org Technical लोगों के लिए.


अपने लिए सही ब्लॉगिंग प्लेटफार्म का चुनाव करने के लिए हमें internet पर Research करनी चाहिए। 


2)• ब्लॉग को सही से set करना (Customizing Blog)–




ब्लॉग बनाने के बाद उसे ठीक तरह से set करने का यह step बहुत महत्वपूर्ण होता है इसमें हमें अपने ब्लॉग पर नए नए फीचर्स को add करके उसे और ज्यादा आकर्षक बनाना होता है इसमें हम नीचे लिखी हुई चीजों को Add करते हैं-


(A)• THEME- थीम यानी ब्लॉग का design. हमें लोगो को एक अच्छा User Experience देने के लिए अपने ब्लॉग में एक अच्छी सी Theme लगानी चाहिए।


(B)• Gadgets/Widgets- ये वो tools होते हैं, जिनकी मदद से हमारे Blog Readers हमसे जुड़ पाते हैं। जैसे- Social Media Buttons, Email Subscription. हमें इन चीजों को अपने ब्लॉग पर जरूर लगाना चाहिए।


(C)• Blog Pages- ब्लॉग के पेज, हालांकि बहुत ज्यादा जरूरी तो नहीं होते हैं लेकिन ये हमारे Readers को हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में Additional Information देते हैं जिससे वे हमें सही से समझ पाते हैं और हमसे engage हो पाते हैं।

इसके अलावा ये pages गूगल ऐडसेंस से monetization approve कराने के लिए भी काफी जरूरी होती है इसलिए हमें इन्हें शुरुआत में ही बना लेना चाहिए।


(D)• Blog Settings- ब्लॉग बनाने के तुरंत बाद उसकी सेटिंग को सही से set करना बहुत जरूरी होता है क्योंकि इस काम एक भी गलती होने पर हमारे ब्लॉग का बहुत नुकसान हो सकता है।


खासकर ब्लॉगर की Search Preferences सेटिंग को customize करते वक्त हमें काफी सावधानी रखनी चाहिए, क्योंकि इसमें दिए गए options के द्वारा Google हमारे ब्लॉग को लोगों को show कर आते हैं।


अगर आपने Blogger पर अपना ब्लॉग बनाया है तो उसकी settings को सही से सेट करने के लिए आप नीचे दिया गया यहां Article पढ़ सकते हैं–



3)• अच्छा Content लिखिये (Create Great Content)–




 शायद आप कभी ना कभी जरूर किसी ऐसी वेबसाइट पर गए होंगे जो दिखने में तो काफी  Attractive थी मगर उसकी Services या कहें Content उतना खास नहीं था।


तो क्या आप फिर से कभी उस Website पर जाना पसंद करेंगे?


 शायद नहीं!


Same यही बात हमारे ब्लॉग पर भी लागू होती है हम ब्लॉग के Design को बेहतर बना कर Readers को अपने ब्लॉग पर ला तो सकते हैं मगर ब्लॉग का Elegant डिजाइन उन्हें ज्यादा देर तक उस पर टिकाए नहीं रख सकता यानी बिना अच्छे Content के लोग हमारे Loyal रीडर्स नहीं बन सकते.


इसलिए हमें अपने ब्लॉग पर Quality Content पब्लिश करना चाहिए। क्वालिटी कंटेंट का आसान भाषा में मतलब है– वह जानकारी जिससे लोगों को सच में कुछ फायदा मिले; Knowledge मिले और उनका फालतू में Time waste ना हो.






4)• सोशल मीडिया पर प्रचार करें (Do Social Media Promotion)–




एक ब्लॉगर के लिए free of cost अपने ब्लॉग पर Traffic लाने का जो सबसे अच्छा माध्यम है वह है– "सोशल मीडिया"




ब्लॉगिंग की शुरुआत में ही हमें अलग-अलग Social Media Platforms पर अपने ब्लॉग के लिए Accounts बनाने चाहिए, ताकि हमारे Readers हमसे SocialWeb पे भी जुड़ सके. 


जैसे–फेसबुक पर PAGE और टि्वटर पर ID.. आप चाहे तो कुछ प्लेटफॉर्म पर (जो ज्यादा main ना हो) अपने Personal Accounts से भी काम चला सकते हैं।


लेकिन आज सोशल मीडिया के इस फील्ड में Competition बहुत ज्यादा बढ़ चुका है क्योंकि हर कोई FREE होने के कारण इसमें अपनी Services का प्रचार करने आ चुका है।


इसके अलावा SocialWeb Companies ने भी अपने नियमों (Algorithm) को काफी strict कर दिया है ताकि लोगों को अपनी Services को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए उन्हें पैसा देना पड़े जिससे इन कम्पनियों का Revenue बढ़ सकें!


इसलिए इस Competition में Stand Out करने के लिए यह जरूरी है कि एक Blogger ब्लॉगिंग के साथ ही साथ Social Media Marketing की भी समझ रखे ताकि उसे अपने ब्लॉग की Reach बढ़ाने के लिए बहुत ज्यादा संघर्ष न करना पड़े।


सोशल मीडिया कंपनियाँ समय-समय पर लोगों की पसन्द के हिसाब से अपने नियमों (Algorithm) में बदलाव करती रहती है। 


जैसे- 2019 में ज्यादातर Social Media Platforms का फोकस VIDEO & LIVE CONTENT को ज्यादा Promote करने में है. As a Blogger हमें इन बदलावों से स्वयं को update रखना चाहिए और जितना हो सके इनके हिसाब से खुद को modify करना चाहिए।


• Marketing सीखने के लिए आप नील पटेल और एरिक सू का यह बहुत अच्छा Daily Podcast सुन सकते हैं.







5)• सर्च इंजन्स और Web Directories में ब्लॉग को submit करिए-


आज इंटरनेट पर जो सबसे बड़ा Website Traffic Source है यानी जिस चीज का सबसे ज्यादा use करके लोग किसी वेबसाइट पर visit करते हैं वह है– Search Engines (GOOGLE)


मतलब अगर हम अपने Blog/Website को सर्च इंजन जैसे- Google, Bing etc में submit कर दें या फिर आसान भाषा में कहें कि सर्च इंजंस को यह बता दें कि हमने एक नया ब्लॉग बनाया है इसे भी लोगों को show कीजिए तो इससे हमारा Traffic काफी ज़्यादा बढ़ सकता है।


• यहां तक कि जितने भी बड़े- बड़े Bloggers हैं उन सबका लगभग 90% तक का ट्रैफिक सर्च इंजनों से ही आता है।


इसलिए अपने ब्लॉग को बहुत ज्यादा Popular बनाने के लिए यह जरूरी है कि हम उसकी सारी पोस्ट की जानकारी (Sitemap) को सर्च इंजंस में submit करे। अगर आप अपने ब्लॉग को Search Engines में कैसे शामिल करते हैं यह जानना चाहते हैं तो इसके बारे में आप यहां पर जाकर विस्तार से पढ़ सकते हैं।


इसके साथ ही साथ हमें बहुत सारे छोटे-बड़े सर्च इंजनों में अपने blog को submit कराने के लिए freewebsubmission.com का प्रयोग करना चाहिए.


सर्च इंजन्स को अपने ब्लॉग के बारे में बता देने के बाद उसे अच्छी Position पर Rank कराने के लिए हमें "सर्च इंजन कैसे काम करते हैं?" इस बारे में काफी knowledge होना चाहिए. इस बारे में ज्यादा जानने के लिए आप नीचे दिया गया यह वीडियो देख सकते हैं–





इसके अलावा 10-15 Posts लिख देने के बाद हमें अपने ब्लॉग को हुई Blog Directories जैसे- Indiblogger और Raddit में भी promote करना चाहिए ताकि हमारे ब्लॉग को और भी ज्यादा reach मिल सके।



6)• गूगल एनालिटिक्स (Google Analytics) का उपयोग करें–


अब तक हम सारी वो Basic चीजें कर चुके हैं जो हमें अपने ब्लॉग पर Readers को लाने के लिए करना जरूरी होता है। जैसे- हम ब्लॉग को design कर चुके हैं; उसमें तरह-तरह के features लगा चुके हैं; कॉन्टेंट लिख चुके हैं और तो और उसे प्रमोट भी कर चुके हैं।


थोड़ा मजाकिया लहजे में कहा जाए तो अब तक हम बीज को बोकर कर, उसे पेड़ में तब्दील चुके हैं और अब हमारी बारी है उसमें लगे फल खाने की..


तो अपने ब्लॉग को Track करने के लिए यानी Blog Traffic के बारे में पता लगाने के लिए हमें अपने ब्लॉग के लिए Google Analytics Account बनाना होता है।


GA Account को हमें जरूर setup करना चाहिए, क्योंकि इससे हमें यह पता चलता है कि कितने लोग हमारा ब्लॉग पढ़ रहे हैं? लोग Google में क्या सर्च करके हमारे ब्लॉग पर आते हैं? कौन से देश या शहर से लोग हमारे ब्लॉग पर आते हैं? कितनी देर तक वह हमारा ब्लॉग पढ़ते हैं?


और फिर इन चीजों का विश्लेषण (Analysis) करके पर भविष्य में हम अपने Blog को अपने Readers के लिए और भी बेहतर बना सकते हैं।


"Google Analytics एकाउंट कैसे बनाते हैं?" यह जानने के लिए आप नीचे दी हुई यह पोस्ट पढ़ सकते हैं–



• Read Rec: Google Analytics Me Account Kaise Banaye Blog ke liye



7)• पोस्ट लिखने का एक Default Blueprint बनाना–


क्या आपने अपना ब्लॉग सिर्फ एक-दो पोस्ट लिखने के लिए बनाया है?


शायद इस सवाल पर ज्यादातर लोगों का जवाब "ना" में होगा.


इसका मतलब यह है कि हमें अपनी Blogging Journey एक-दो नहीं बल्कि बहुत सारी पोस्ट लिखनी होगी। और बहुत सारी पोस्ट को अच्छे Content, अच्छे SEO और अच्छी रफ्तार से लिखने के लिए हमारे पास पोस्ट लिखने का अपना तरीका (Default Pattern) होना चाहिए. इस point को अच्छे से समझाने के लिए मैं आपके साथ, अपना पोस्ट लिखने का तरीका share करता हूँ–


(A)• Keyword Research:


सबसे पहले तो जिस Topic पर मुझे पोस्ट लिखनी है उससे related चीजों पर मैं थोड़ी सी भी Research करता हूँ। जैसे- लोग गूगल पर इस टॉपिक के बारे में क्या Search कर रहे हैं? दूसरे ब्लॉगर्स इस पर क्या- क्या लिख रहे हैं? गूगल में मिले Keywords का future use के लिए मैं Screenshot खींच लेता हूं।


(B)• Content Research: 


कीवर्ड रिसर्च के बाद जो कीवर्ड्स मिलते हैं उसके बारे में मैं इंटरनेट और यूट्यूब पर जाकर कुछ रिसर्च करता हूं ताकि मुझे जो भी Confusion हो वह दूर हो सके और Readers को कोई गलत जानकारी ना मिले।


(C)• Content Writing: 


कीवर्ड रिसर्च करने के बाद बारी आती है Content लिखने की इसमें मैं सबसे पहले एक ब्लू प्रिंट तैयार करता हूं कि मुझे कौन-कौन से Points को Cover करना है। उनका Heading क्या रखना है। उनमें कौन-कौन से Keywords, Quotes & Media को शामिल करना है (हालांकि इनमें से कई चीजों में बाद में Article लिखने के दौरान कुछ बदलाव भी करने पड़ते हैं).


इसके बाद मैं Post लिखना शुरू करता हूँ और कोशिश करता हूं कि उसे इस तरह लिखूं कि पढ़ने वाले व्यक्ति को उस में बात करने वाली feeling आए।


NB: ब्लॉगिंग में कई बार होता है कि हमें अपना ही लिखा हुआ article पसन्द नहीं आता, लेकिन मैं आपको बता दूं कि इसका मतलब यह नहीं होता कि वो हमारे Readers को भी पसन्द नहीं आये। हम लिखते time कई बार अपने article में लिखी चीजों को पढ़ते हैं इसलिए वो हमें boring लगती हैं, जबकि हमारे Readers उन्हें एक ही बार पढ़ते हैं इसलिए उन्हें वो interesting लगती हैं।



8)• कुछ छोटी-छोटी बातें (EXTRAs):


(A)• Email Subscription लगाना:


अपने ब्लॉग पर ईमेल से Subscribe करने का option जरूर लगाएं ताकि आपके ब्लॉग से प्यार करने वाले लोग आप की नई पोस्ट का Link अपने ईमेल में ही प्राप्त कर पाए। इसके लिए आप गूगल की Free Service FEEDBURNER का प्रयोग कर सकते हैं (ब्लॉगस्पॉट blogs में Feedburner पहले से ही लगा होता है).


इसके अलावा आप अपने Readers को Bell Notification से सब्सक्राइब करने की सुविधा भी दे सकते हैं।


(B)• चीजों को Analyse करना सीखें:


As a blogger हमें हमेशा चीजों को Analyse करते रहना चाहिए। हमें पता होना चाहिए कि कौन-सी चीजों से हमारी Readers को परेशानी हो रही है। और हमें हम उन्हें कैसे ठीक कर सकते हैं, इस बात पर हमें जरूर विचार करना चाहिए..


(C)• UPs और DOWNs को Note कीजिये: 


हो सके तो हर हफ्ते हमें एक अलग Notebook बनाकर उसमें ब्लॉग से related चीजों को लिखना चाहिए। जैसे कि इस हफ्ते हमारे ब्लॉग को कितने लोगों ने पढ़ा? वो पढ़ाकू लोग किस platform से हमारे ब्लॉग पर आए? इस हफ्ते हमारे ब्लॉक की Alexa और Moz Rank कितनी घटी या फिर बढी? Domain Authority (DA) और Page Authority में इस हफ्ते क्या बदलाव हुआ?


इस तरह चीजों को 1-2 महीने तक लिखने के बाद हम यह आसानी से analyse कर सकते हैं कि हमारा ब्लाग किस स्पीड से Grow कर रहा है या फिर किस स्पीड से नीचे जा रहा है? कौन-कौन-से points पर हम मजबूत है और कौन-से points पर अभी हमें मजबूत होने की जरूरत है? etc.


(D)• Experiment करते रहें:


समय के साथ-साथ अपने ब्लॉग पर प्रयोग करते रहे। आप अपने लिखने के sfyle के साथ experiment कर सकते हैं। ब्लॉग के design और SEO के साथ भी experiment कर सकते हैं।


नई नई चीजों के साथ प्रयोग करने से ही हमें सही और गलत चीज का पता चलता है, जो हमें आगे बढ़ने में बहुत मदद करता है। और ऐसा ही कुछ Famous Telecom Company "AIRTEL" की Ad line भी कहती है–


सब कुछ TRY करो फिर सही चुनो!☺️



ℹ️  AUTHORS' ANGLE: 


ब्लॉगिंग अगर अपने Passion वाले field में पूरे Passion के साथ की जाए तो अच्छे Results मिलने के साथ-साथ ही अच्छी Earning होने के भी अच्छे मौके रहते हैं।


हमेशा ध्यान रखिये, एक अच्छे ब्लॉगर की पहचान होती है कि वह Blogging & SEO से सम्बंधित कोई चीज़ खाली सीखता ही नही है बल्कि उसे अपने ब्लॉग पर भी apply करता है।


एक नए को Blogging की ज़्यादातर important बातें जानने में करीब 6 महीने से लेकर 1 साल का वक़्त लग जाता है। इसलिए सफल होने के लिए एक ब्लॉगर को चाहिए कि वह अपने interest के field में ब्लॉगिंग करें; कठिनाइयों की आगे हार न माने और लगा रहे. 👍


आज के इस Article में बस इतना ही. उम्मीद करता हूँ कि आपको नया ब्लॉग या वेबसाइट बनाने के बाद सबसे पहले क्या करना चाहिए/ What should we do after creating New Blog or Website in Hindi टॉपिक पर यह आर्टिकल पसन्द आया होगा।



📚 READ MORE POSTS:


• गूगल पर फ्री में अपना BLOG या WEBSITE कैसे बनाएँ? (BlogSpot से)


• अपने ब्लॉग के लिए एक शानदार आर्टिकल कैसे लिखें? 10 Tips


• ब्लॉग के लिए Copyright Free Images कैसे डाउनलोड करें? 6 Websites

   
• SEO क्या होता है और ये कैसे काम करता हैं?


• गूगल के टॉप 150 Ranking Factors की पूरी लिस्ट (2019)


 इंटरनेट को अपना प्रोफेशन बनाने के 5 बड़े रास्ते


• कैसे बनाएं अपनी ऑनलाइन प्रोफाइल को और भी ज़्यादा आकर्षक


• जानिए ब्लॉगिंग और इससे जुड़ी बेसिक जानकारी के साथ बहुत कुछ..


• पासवर्ड भूलने की tension अब भूल जाइए, इस Coding Pattern से बनाइये अपने सारे Internet Accounts के paswords सुरक्षित।



Post a Comment

8 Comments

  1. Great article pure details mein, thank you.

    ReplyDelete
  2. bahut hi badhiya jankari diya hai aapne

    ReplyDelete
  3. ब्लॉगिंग के बारे में बहुत मददगार जानकारी दिए सर जी

    ReplyDelete
  4. बहुत बढ़िया जानकारी दी है भाई मेरा ब्लॉग भी blogger पर है. आपकी पोस्ट से बहुत कुछ सीखने को मिला. थैंक्स

    ReplyDelete
    Replies
    1. पढ़ने के लिए शुक्रिया मुकेश जी।

      Delete

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!