Top Ad

किसी Fact को लम्बे समय तक याद रखने का आसान और बेहतरीन तरीका.

 • कोई  चीज़  जल्दी और लम्बे समय के लिए  कैसे  याद करें ?

 How To Cram Any Fact Quickly & For Long Time in Hindi? 

    

नमस्कार दोस्तों,
स्वागत है आपका Sochokuchnaya.Com में..

 

दोस्तों, कई बार आपके मन में भी excitement होती होगी कि काश! मेरे पास कोई ऐसी trick होती; जिससे कि मैं कोई भी fact चुटकियों में रट लेता. इससे बड़े बड़े exams मेरे लिए easy हो जाते और मैं एक Succesful इंसान बन जाता। ☺


💡 मैं बचपन से ही कोई ऐसी trick ईज़ाद करना चाहता था, जिससे कि मैं आसानी से कोई fact या formula लम्बे समय के लिए memorise कर सकूँ; क्यूँकि मैं class में हमेशा इनके कारण पिछड़ जाया करता था।


कुछ दिन पहले ही मैं अखबार पे Bitcoin से related एक article पढ़ रहा था कि तभी मुझे लगा  कि यार ये काफी important topic है और मुझे future में जरूर काम आएगा. फिर मेरे मन में इसे लेकर curiousity create हुई और मैं उस article के facts को learn करने का easy but effective तरीका ढूँढने लगा...।



Just then, मेरे दिमाग में एक idea आया. मैंने उस article में से 3 काम के facts उठाये, और वो facts हैं : 

_________________________________________

1•  बिटकॉइन के आविष्कारक - सातोशी नकामोतो.
2• बिटकॉइन जारी हुआ-  3 जनवरी 2009.
3• बिटकॉइन से पहले की आभासी मुद्राएं (Virtual Currencies)- B- Money & BitGold.
__________________________________________

_________________________________________

० अब देखिए मैंने इन facts को कैसे easily लम्बे समय के लिए learn कर लिया..!


1• Bitcoin के आविष्कारक का नाम तो मैंने Cram किया बार- बार.. सातोशी नकामोतो... सातोशी नकामोतो (×30); जब तक कि वो मेरी जुबान पे चढ़- सा नहीं गया और फिर मैं उसे pronounce करने में comfortable feel करने लगा।


इस fact को memorise करते वक्त मेरा ध्यान इस चीज़ की ओर गया कि ये नाम कुछ- कुछ  जापानी या किसी कोरियाई व्यक्ति के नाम के जैसा है! इसके अलावा इस नाम से related मैं कोई दूसरा solid fact नही खोज पाया, i.e. meaning etc. तो फिर मैंने इसी से काम चलाया। 👼


• अब, थोड़ा दिमाग की वर्किंग को समझते हैं-

 जब हमारा दिमाग कोई चीज सोचता है तो सबसे पहले उससे related facts collect करता है..


Suppose कीजिए, आप किसी exam hall में बैठे हैं और आपको एक question बिल्कुल भी याद नहीं आ रहा है. आप पास बैठे अपने दोस्त से hint मांगते हैं और वो आपको hint दे देता है. फिर उस question से related कई सारी चीज़े आपके दिमाग में automatically खुल जाती हैं।


० अब समझते हैं कि इस पूरे case में हुआ क्या?

आपके दोस्त ने आपको hint दी यानी fact बताया; आपके दिमाग ने उसे recieve किया. फिर दिमाग ने उस fact को analyse किया. इससे उसे कुछ और facts मिले; उसने उन्हें भी analyse किया; जिससे बहुत सारे अन्य तथ्य निकले. इस तरह आपके mind में विचारों का flow सा बन गया और आपको बहुत सारी चीज़ें याद आ गयी।


अब कुछ ऐसा ही bitcoin वाले case में मेरे साथ होगा.. जब भी मुझे कभी bitcoin के founder के नाम की जरूरत हो तो मेरा दिमाग quickly उसके बारे में facts collect करेगा. अब क्योंकि मुझे पता है कि बिटकॉइन का आविष्कार किसी japanese ने किया है तो अब मेरा mind जल्दी से उस जापानी नाम को खोजने की कोशिश करेगा.. और यहाँ काम आएगा मेरा रट्टा.. जैसे ही मेरा mind 'सातोशी' को find करेगा तो automatically ही मेरा मुँह 'नकामोतो' ढूंढ लेगा... और मैं कहूँगा: " मैंने ये कर दिखाया!"  #Eureka  😃 


Simply कहूँ  तो खुद से उस fact के बारे में query कीजिए: कब •क्यो •कैसे •कहाँ •क्या.. 


शुरुआत में, आपको ये सब खुद से पूछना पड़ेगा पर जब आप बहुत जिज्ञासु (Curious) हो जाएंगे तो आपका mind खुद-ब-खुद इन्हें analyse करने लगेगा।


एक बहुत जरूरी बात- आप उस fact को 1 या 2 बार जरूर भूल जाएंगे क्योंकि वो fact अभी हमारे subconscious mind में था और उसे permanent memory में store करने के लिए भूलना जरूरी होता है. क्योंकि इस समय fact का सिर्फ sense हमारे दिमाग में छपता है और बाकी का material हमारे दिमाग से बाहर निकल जाता है !


यही मेरे साथ भी हुआ. fact cram करने के 7-8 घण्टे बाद मैं बिटकॉइन के founder का नाम पूरी तरह भूल गया. जब सिर पटक-पटक कर मैं थक गया तो मैंने अखबार निकाल के check किया. " सातोशी नकामोतो। अरे यार कितना easy था!" फिर मैंने 5-7 बार फिर से repeat किया और फिर उसके हर अक्षर(letter) पे focus किया.  सा-तो-शी.. न-का-मो-तो..यकीन मानिए दोस्तों आज 15 दिन हो गए हैं और यह मुझे by heart जैसे का तैसा याद है।। 😐


2• इसी तरह मैंने bitcoin के जारी होने की date को memorise किया..Date थी- 3 January, 2009. इसके लिए facts मैंने कुछ इस तरह बनाये:

_________________________________________

• internet के माध्यम से transaction इक्कीसवीं सदी में सम्भव हुआ इसलिए ये सन 2000 के बाद ही issue हुआ।

• ये 2009 में नए साल के तीसरे दिन issue हुआ था।
________________________________________


इस fact में मैंने date को focus के साथ learn किया और बस हो गया।


3• तीसरा fact bitcoin के जैसी दूसरी virtual currencies से related था जो थी: B-Money & BitGold. इसके लिए मैंने कुछ ऐसे points बनाए-

_________________________________________

• Money और gold, coin के जैसे शब्द हैं।

• ये दोनो बिटकॉइन के Unpopularised पूर्वज थे।
_________________________________________


इस तरह मुझे ये तीनो चीज़े लम्बे समय के लिए by heart याद हो गयी. अब मुझे इसके लिए अलग से GK books नहीं खरीदनी पड़ेगी और हर  exam से पहले इन्हें याद करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ☺ अब अखबार ही enough है. अखबार की इसी खूबी के कारण तो शायर ' अकबर इलाहाबादी' ने कहा है-


"  खींचो ना कमानों को; ना तलवार उठाओ।
   जब तोप मुकाबिल हो; तो अखबार उठाओ। "



० Fact जितना ताज़ा हो उतना जल्दी memorize हो जाता है. जैसे कि कुछ दिन पहले ही BJP का स्थापना दिवस था तो इसके बारे में माननीय कैबिनेट मंत्री 'स्मृति ईरानी' जी का article अखबार में छपा था. वैसे तो political articles में ज्यादातर चीजें बकवास होती है पर इसमें से मुझे कुछ काम की चीजें मिलीं:

_________________________________________
• स्थापना -  06 April, 1980 (Congress की स्थापना के लगभग 100 साल बाद)
• सदस्यों की सं० - 11 करोड़.
• वर्तमान में राज्यों मे सरकारों की सं० - 21.
_________________________________________


इन facts को भी मैंने वैसे ही cram किया जैसे बिटकॉइन वालों को किया था।


हमारा दिमाग एक search engine के जैसे काम करता है। जितने अच्छे तरीके से आप इसपे type करोगे; उतने ही अच्छे results ये show करेगा।


जैसे कि मान लीजिए, आपको हिन्दी में जानना है कि "किसी तथ्य को लंबे समय के लिए कैसे याद करें (How to memorise any fact for long time in hindi)? ..तो अगर इसके लिए आप सिर्फ "memorise facts" search करोगे, तो आपको कई सारे results मिलेंगे; जिनमे से ज्यादातर आपके काम के नही होंगे और English में होंगे। .. इसके बजाय अगर आप "How to memorise facts for long time in hindi" search करोगे तो आपको ज्यादातर results काम के मिलेंगे; साथ ही वो हिन्दी में भी होंगे।


इसी तरह हमारा brain भी है। जितने अच्छे तरीके से आप किसी चीज़ को उसमें save करते हो, उसके जिंदा रहने के chances उतना ही बढ़ जाते हैं।



अपने दिमाग में ज्यादा से ज्यादा links बनाएं. ऐसा करने से आपका दिमाग उस fact को जल्दी से search करेगा और आपके उस चीज़ को भूलने के chances उतने ही कम हो जाएंगे।



• किसी fact को याद करते समय इन बातों का रखें ध्यान (Things to mind while memorising facts in hindi)


1) उस चीज़ पे deep फोकस करें और उससे related जितने ज्यादा हो सके link या fact इकट्ठा करें.. इससे आपका दिमाग किसी particular चीज़ को तेजी से scan करेगा।



2) जब भी खाली बैठें हो या रास्ता चल रहे हो तो उस चीज़ के बारे में सोचे इससे आपके mind में वो चीज़ permanent होती जायेगी और आपके दिमाग में नकारात्मक विचार भी नहीं आएंगे।


3) एकदम से बहुत सारी चीज़ें याद करने की कोशिश ना करें. उन्हें parts में divide कर learn करने की कोशिश करें।


4)  कोशिश करें कि वो fact अखबार से लिया जाये; साथ ही काम का और interesting हो..रोज अखबार पढ़ें।


5)  सिर्फ main facts याद करें; इससे उस चीज़ के बारे मे कई छोटी- मोटी चीजें खुद-ब-खुद याद आ जाती हैं।


चलते- चलते  (Last Words) :

दोस्तों, facts बस जानकारी होती है न कि असली ज्ञान. इसलिए उन्हें ज्यादा seriously ना लें।


उम्मीद करते हैं कि आपको तथ्यों को लंबे समय तक याद रखने/Learning facts for longtime in hindi से सम्बंधित यह Article पसन्द आया होगा.




👉 अगर आपका इस article से related कोई भी सवाल (query) या सुझाव (suggestion) है तो हमें नीचे दिए गए comment box पे  email डालकर बताएं. आपको जल्दी ही response दे दिया जायेगा।



                                              



Post a Comment

4 Comments

  1. Bhai bahut achha h it's good or you can do more best good

    ReplyDelete
  2. Bhai bahut achha h it's good or you can do more best good

    ReplyDelete

आपके कमेंट के लिए शुक्रिया. हम आपको जल्दी-से-जल्दी जवाब देने की कोशिश करेंगे!